एक्‍स-रे की क्‍वालिटी पर भी गर्मी का असर

तापमान एक्स-रे की गुणवत्ता को प्रभावित कर सकता है जिससे एक्स-रे की रिपोर्ट देख पाना मुश्किल हो जाता है।

एजेंसी
लेटेस्टWritten by: एजेंसीPublished at: May 24, 2013
एक्‍स-रे की क्‍वालिटी पर भी गर्मी का असर

x ray ki quality per bhi garmi ka asar

गर्मी के प्रकोप से लोग बेहाल है, इसका असर ना सिर्फ इंसानों और सभी जीवों पर बल्कि तकनीकी संसाधनों पर भी दिखाई देना शुरू हो गया है। जानकारों के मुताबिक बढ़ते तापमान से एक्स-रे की गुणवत्ता प्रभावित हो सकती है जिससे सही-सही एक्स-रे रिपोर्ट देख पाना टेढ़ी खीर साबित हो रहा है।

 

एक्स-रे के लिए कमरे का पूरी तरह एयर कंडीशंड होना जरूरी होता है। कमरे का तापमान, एसी का तापमान इन सबका एक प्रभाव होता है और यह सब कुछ कमरे में रखे एक्स-रे की मशीनों के लिए जरूरी होता है ताकि परिणाम बेहतर हासिल हो सके। यह भी जरूरी होता है कि अगर कोई मरीज अंदर जाए तो उसका तापमान गर्मी के थपेड़ों की वजह से इतना ज्यादा भी ना हो कि उससे एक्स-रे का परिणाम ही प्रभावित हो जाए।

 

जानकारों के मुताबिक बढ़ते तापमान की वजह से एक्स-रे रिपोर्ट की जो गुणवत्ता होनी चाहिए उसमें कमी नजर आ रही है। एक्स-रे फिल्म देखने के बाद इसका पता चलता है की गुणवत्ता में कितना फर्क आ रहा है। रेडियोग्राफर के मुताबिक अगर कमरे का तापमान 45-46 डिग्री तापमान चल रहा हो तो एक्स-रे की गुणवत्ता पर असर दिखाई पड़ना लाजिमी है।



Read More Articles on Health News in hindi.

Disclaimer