अक्ल दाढ़ निकलने की क्या है सही उम्र? दाढ़ में दर्द होने पर अपनाएं ये घरेलू उपाय

अक्ल दाढ़ आने पर बहुत ही असहनीय दर्द होता है। आइए जानते हैं इस दर्द से छुटकारा पाने के घरेलू उपाय क्या हैं।

सम्‍पादकीय विभाग
घरेलू नुस्‍खWritten by: सम्‍पादकीय विभागPublished at: Nov 04, 2020Updated at: Nov 04, 2020
अक्ल दाढ़ निकलने की क्या है सही उम्र? दाढ़ में दर्द होने पर अपनाएं ये घरेलू उपाय
मसूड़ों के अंतिम छोर पर अक्ल दाढ़ निलकता है। अगर आपकी अक्ल दाढ़ आ चुकी है, तो आपने इसके दर्द का अनुभव जरूर किया होगा। अगर आपकी अभी तक अक्ल दाढ़ नहीं आई है, तो बता दें कि अक्ल दाढ़ आने के दौरान बहुत ही अधिक दर्द होता है। अधिकतर लोगों को अक्ल दाढ़ 17 से 25 साल के बीच आती है। वहीं, कुछ लोगों को अक्ल दाढ़ काफी दिनों बाद आती है। अक्ल दाढ़ जब आती है, तो उन्हें पूरी जगह नहीं मिल पाती है। ऐसे में वे अपने लिए जगह बनाने के लिए अन्य दांतों को पुश करते हैं। इस वजह से मसूड़ों में दवाब बनता है और इससे मसूड़ों में दर्द और सूजन की शिकायत होने लगती है। आइए इस लेख के जरिए अक्ल दाढ़ के बारे में विस्तार से जानते हैं।

अक्ल दाढ़ आने के लक्षण

  • दांतों के आसपास तेज दर्द
  • मुंह से दुर्गंध आना
  • खाने-पीने में परेशानी
  • सिर दर्द
  • कभी-कभी बुखार भी आ सकता है। 
  • चेहरे, मसूड़ों और गर्दन के आसपास सूजन की शिकायत
  • मुंह का स्वाद खराब होना

अक्ल दाढ़ में दर्द होने के कारण

  • अक्ल दाढ़ में दर्द होने के कई कारण हो सकते हैं। कई बार मुंह के अन्य दांत काफी टेढ़े-मेढ़े होते हैं, जिसकी वजह से अक्ल दांत को जगह नहीं मिल पाता है। ऐसे में वे अपनी जगह बनाने के लिए अन्य दांतों को पुश करते हैं। इस वजह से भी दांतों में दर्द होता है। 
  • इसके अलावा अक्ल दाढ़ काफी पीछे होता है, जिसकी वजह से अक्ल दाढ़ के आसपास अच्छी तरह से सफाई नहीं हो पाती है। सफाई ना होने की वजह से दांत के चारों ओर संक्रमण फैल जाता है। इस संक्रमण के  कारण ही दांत के चारों ओर असहनीय दर्द होता है। 
  • सिस्ट विकसित होने की वजह से भी अक्ल दाढ़ में दर्द होने की संभावना काफी ज्यादा बढ़ जाती है। 
  • मसूड़ों में किसी अन्य समस्याओं के कारण भी आपको अक्ल दाढ़ में दर्द हो सकता है।

अक्ल दाढ़ के दर्द को कम करने के घरेलू उपाय

लौंग

 
दांतों में किसी तरह के दर्द को कम करने के लिए लोग सबसे अधिक लौंग का इस्तेमाल करते हैं। अक्ल दाढ़ के दर्द को कम करने के लिए भी आप लौंग का इस्तेमाल कर सकते हैं। इसमें एनेस्थेटिक और एनालगेसिट के गुण पाए जाते हैं, जो दांतों के दर्द को दूर करने में आपकी मदद कर सकते हैं। इसके अलावा लौंग में एंटी बैक्टीरियल और एंटी सेप्टिक गुण भी पाए जाते हैं, जो संक्रमण को फैलने से रोकने में आपकी मदद कर सकते हैं। लौंग के बदले आप लौंग के तेल का भी इस्तेमाल कर सकते हैं।

लहसुन

लहसुन सेहत के लिए बहुत ही फायदेमंद है। अक्ल दाढ़ के दर्द को दूर करने में लहसुन भी आपकी मदद कर सकता है। लहसुन में एंटी बायोटिक, एंटीऑक्सीडेंट और एंटी इफ्लेमट्री जैसे कई औषधीय गुण पाए जाते हैं, जो हमारे लिए फायदेमंद है। ये सभी गुण दांतों के दर्द को दूर करने में आपकी मदद कर सकते हैं। लसहुन के इस्तेमाल से आप मुंह में पनपने वाले बैक्टीरिया को भी साफ कर सकते हैं।

 

नमक

नमक के पानी से कुल्ला करने से दांत के दर्द जल्दी ही दूर हो जाते हैं। यह आपके गले के लिए भी काफी अच्छा होता है। नमक का पानी मसूड़ों के दर्द और सूजन को कम करने में आपकी मदद कर सकता है। इसके साथ ही इसके इस्तेमाल से इंफेक्शन का खतरा भी कम किया जा सकता है। 

अमरूद की पत्त‍ियां

अमरूद की पत्तियों के इस्तेमाल से आंत के दर्द को कम किया जा सकता है। अमरुद का पत्ता आपके लिए औषधि के समान कार्य करता है। अमरूद की पत्त‍ियों में एंटी-माइक्रोबैक्टीरियल और एंटी-इंफ्लेमेट्री गुण पाए जाते हैं, जो मसूड़ों में बैक्टीरिया को पनपने नहीं देते हैं।

Read More Article on Home Remedies in Hindi

Disclaimer