प्रेग्नेंसी के 5 महीने पहले ही शुरू कर दें तैयारी ताकि कंसीव करने में न आए कोई परेशानी, जानें 5 टिप्स

प्रेग्नेंट होने के 4-5 महीने पहले से ही अगर आप इसकी सही तरीके से तैयारी शुरू कर दें, तो प्रेग्नेंसी के दौरान आपको परेशानियां कम होती हैं। जानें प्रेग्नेंसी की तैयारी कैसे करें।

 

Atul Modi
Written by: Atul ModiPublished at: Aug 08, 2012
प्रेग्नेंसी के 5 महीने पहले ही शुरू कर दें तैयारी ताकि कंसीव करने में न आए कोई परेशानी, जानें 5 टिप्स

मां बनना ज्यादातर महिलाओं का सपना होता है। मगर कई बार शारीरिक कमियों के कारण महिलाओं को मां बनने में कई तरह की परेशानी का सामना करना पड़ता है। शादी के बाद जब भी आप मां बनने का फैसला लें, तो इससे पहले कुछ तैयारी जरूर कर लें। जिससे प्रेग्नेंसी के समय आपको किसी तरह की परेशानी का सामना न करना पड़े। अगर आप पूरी प्लानिंग के साथ गर्भावस्था की तैयारी करती हैं, तो इससे आपके और होने वाले शिशु के स्वस्थ रहने की संभावना बढ़ जाती है। आइए आपको बताते हैं प्रेग्नेंसी से पहले की जाने वाली कुछ ऐसी तैयारियां, जो आपको जरूर करनी चाहिए।

मेडीकल जांच करवाएं

जिस समय गर्भधारण की योजना बना रहे हैं उससे छह महीने पहले डॉक्टर से मिलें। डॉक्टर आपको शारीरिक तौर पर तैयार होने से संबंधित सारी जरूरी चीजें समझा देंगे। इस मेडीकल जांच से पता चल जाएगा की कहीं कोई ऐसी समस्या तो नहीं है जो आपके शरीर या होनेवाले बच्चे को गर्भावस्था के दौरान तकलीफ पहुंचा सकती है। अपने डॉक्टर को आुवांशिक या ऐसी किसी गंभीर बीमारी के बारे में बताएं जो आपको पहले कभी हुई हो। इस समय आपके पार्टनर का स्वास्थ्य भी बहुत महत्वपूर्ण है। इसलिए उनकी भी जांच करवाएं ताकि उनके स्वास्थ्य के बारे में भी पता चल सके। डॉक्टर की सलाह मानें। क्योंकि उन्हें मालुम है कि आपके लिए क्या जरूरी है।

इसे भी पढ़ें: ज्यादा उम्र होना भी महिलाओं में बार-बार मिसकैरेज की है वजह, जानें गर्भपात होने के 5 कारण

एक्सरसाइज शुरू कर दें

यदि व्यायाम शब्द आपके शब्दकोश में नहीं है तो उसे अपने शब्दकोष में शामिल करने का समय आ गया है। नियमित व्यायाम करना शुरू करें। इससे शरीर की मांसपेसियों और जोड़ों को अतिरिक्त भार सहने की आदत हो जाएगी, जो आप अगले कुछ महीनों में प्राप्त करने वाले हैं। बहुत ज्यादा वजन और गर्भाधारण की कोशिश? गर्भाधारण से पहले वजन कम करने की कोशिश करें। अध्ययन बताते हैं कि अधिक वजन वाली महिलाओं को गर्भधारण के दौरान कई सारी जटिलताओं का सामना करना पड़ता है। धीरे-धीरे व्यायाम की आदत डालें और शुरूआत हल्के व्यायाम से करें।

धीरे-धीरे समय और श्रम बढ़ाएं। यह आपकी ताकत और ऊर्जा में वृद्धि करेगा, जिसकी आपको गर्भावस्था के दौरान जरूरत होगी। अपने व्यायाम में योगसनों को शामिल करें। यह आपके शरीर को ताकत देगा साथ ही गर्भवस्था के लिए शरीर को लचीला बनाएगा।

हेल्दी चीजें खाएं

पुरानी कहावत याद करें। आप वही खाते हैं जो आप खाते हैं। ऐसे ही आपका शिशु भी वही खाता है जो आप खाते हैं। तो समय आ गया है जंक फुड छोड़ने का और हेल्दी डाइट लेने का। संतुलित आहार लें जिसमें अलग-अलग प्रकार की सामग्रियां शामिल हों। जिससे शरीर को सारे कैल्शियम और विटामिन मिल सके। हानिकारक चीजों जसे सिगरेट, शराब आदि हानिकारक चीजों से दूर रहें।

इसे भी पढ़ें: पौष्टिक खानपान के साथ गर्भावस्‍था में दांतों की सफाई भी है जरूरी, जानें क्‍यों?

दांतों की देखभाल

गर्भधारण करने से पहले दांतों की तरफ ध्यान देना शुरू कर दें। क्योंकि गर्भावस्था के दौरान दांतो पर सबसे ज्यादा असर होता है। गर्भावस्था के दौरान दांतो के एक्स-रे से बचें क्योंकि इससे शिशु का स्वास्थ्य भी प्रभावित होता है।

प्रेग्नेंसी के लिए तैयार हों

अगर आप गर्भनिरोधक गोलियां लेती हैं तो इसे छोड़ने के दो-तीन महीने बाद गर्भधारण की योजना बनाएं, ताकि तब तक पीरियड्स नियमित हो जाएं। इससे आफके निश्चित दिन की गणना ज्यादा सही हो पाएगी। 

Read more articles on Women's Health in Hindi







Disclaimer