बच्चे का डॉक्टर चुनते वक्‍त इन बातों का रखें ख्‍याल

बच्चे के लिए डॉक्ट‍र चुनने से पहले अच्छी तरह सोच-विचार कर लें। यह डॉक्टर आपका फैमली डॉक्टर या बच्चों का डॉक्टर हो सकता है। अपने बच्चे के लिए डॉक्टर चुनने से पहले अपने परिचित डॉक्टरों, परिवार के सदस्यों या दोस्तों से बात करें और उनसे सलाह जरूर

रीता चौधरी
नवजात की देखभालWritten by: रीता चौधरी Published at: Jun 29, 2012
बच्चे का डॉक्टर चुनते वक्‍त इन बातों का रखें ख्‍याल

जिस बच्चे की किलकारी सुनकर आपका दिल खुश हो जाता है उसी की तबीयत अगर खराब हो जाए तो आपकी रातों की नींद उड़ जाती है। बच्चे बेहद नाजुक होते हैं। और उनकी नाजुक तबीयत को दुरुस्त रखने के लिए चाहिए एक बेहद काबिल और भरोसेमंद डॉक्टर।


बच्चे का डॉक्टर कैसे चुनें

बच्चे के लिए डॉक्ट‍र चुनने से पहले अच्छी तरह सोच-विचार कर लें। यह डॉक्टर आपका फैमली डॉक्टर या बच्चों का डॉक्टर हो सकता है। अपने बच्चे के लिए डॉक्टर चुनने से पहले अपने परिचित डॉक्टरों, परिवार के सदस्यों या दोस्तों से बात करें और उनसे सलाह जरूर लें। किसी भी आपातकालीन स्थिति से निपटने के लिए बच्चे के लिए डॉक्टर घर के नजदीक ही खोजें। अपने आसपास के डॉक्टर की एक लिस्ट भी अपने पास रखें। अपने बच्चे के लिए चिकित्सक चुनने से पहले कुछ चिकित्सकों से निजी तौर पर जरूर मिले। 


डॉक्टर चुनने से पहले ये सवाल जरूर पूछें

 

•    जिस डॉक्टर से आप अपने बच्चे का इलाज करवाने वाले है उसका क्लीनिक कहां है, और कब से कब तक खुलता है।
•    क्या उसका क्लीनिक आपके घर से ज्यादा दूर तो नहीं।
•    क्या, क्लीनिक के समय के बाद भी उससे बात की जा सकती है।
•    अगर आपका बच्चा बीमार हो जाए, तो क्या आपका डॉक्टर उसी दिन देखने आ सकता है। इन सभी सवालों का जबाब जानने के लिए आप कुछ भरोसेमंद चिकित्सकों से जरूर मिलें और उनसे इस विषय पर बात करके ही कोई फैसला लें।
•    साथ ही यह भी सुनिश्चित करें कि बच्चे के अस्पताल से घर पहुंचने के एक सप्ताह के भीतर ही आपके बच्चे का डॉक्टर उसकी जांच करें। स्वस्थ शिशु की जांच में, डॉक्टर बच्चे के रोग के लक्षणों एवं समस्याओं की जांच करता है।

 

स्वस्थ शिशु जांच में निम्नलिखित बातें शामिल होती है



•    बच्चे का परीक्षण करना।

•    बच्चे के वजन, ऊंचाई तथा सिर के आकार की जांच करना।

•    बच्चे के व्यवहार के संबंध में प्रश्न पूछना।

•    बच्चे की पूरी देखभाल, जैसे- उसे खिलाने-पिलाने इत्यादि।

•    स्वस्थ शिशु जांच के तहत आपको अगली बार बच्चे को दिखाने कब आना होगा इस संबंध में शिक्षित किया जाता है।

 

अपने बच्चे के लिए चिकित्सक चुनने से पहले कुछ चिकित्सकों से निजी तौर पर जरूर मिले। इसके अलावा अपने परिजनों व पड़ोसियों से भी इस बारे में सलाह ले लें। इससे आपके अपने बच्चे के लिये अच्छा डॉक्टर चुनने में आसानी होगी।

 

Image Source- Getty Images.

 

Disclaimer