70 साल तक रहना है स्वस्थ? तो अपनाएं ये 3 'बुरी' आदतें

अक्सर कहा जाता है अच्छी डाइट, फिटनेस, अच्छे विचार और अच्छा हमें एक स्वस्थ जिंदगी जीने में मदद करता है।

Rashmi Upadhyay
तन मनWritten by: Rashmi UpadhyayPublished at: Oct 06, 2017
70 साल तक रहना है स्वस्थ? तो अपनाएं ये 3 'बुरी' आदतें

अक्सर कहा जाता है अच्छी डाइट, फिटनेस, अच्छे विचार और अच्छा हमें एक स्वस्थ जिंदगी जीने में मदद करता है। हालांकि ये बात 100 प्रतिशत सच है। लेकिन आज हम आपको कुछ ऐसी बुरी आदतें बता रहे हैं जिन्हें अपनाकर भी आप स्वस्थ लाइफ जी सकते हैं। जी हां, ये हम नहीं कह रहे बल्कि कई शोधों से यह बात सामने आई हैं।

हर किसी के अंदर कोई अच्छी बात होती है और कुछ गलत बात होती है। लेकिन क्या आप जानते हैं कई आदतें ऐसी होती हैं जो असल में बहुत बुरी मानी जाती हैं। लेकिन वो असल में हमारी सेहत के लिए फायदेमंद होती हैं। जैसे कि कॉफी की कम मात्रा बेशक आपकी सेहत के लिए अच्‍छी हो सकती है, लेकिन अधिक कॉफी पीना सेहत के लिए अच्‍छा नहीं माना जाता। दिनभर में तकरीबन तीन कॉफी पीने से पित्त की पथरी का खतरा कम होता है। किडनी स्टोन के होने का खतरा भी नहीं रहता। इसके अलावा अगर आपका भी मूड खराब है तो आप कॉफी का एक कप जरूर लें। कॉफी में कुछ ऐसे तत्व पाए जाते हैं, जो आपके मूड को ठीक करने में मदद करते हैं।

चॉकलेट के फायदे

चॉकलेट का नाम सुनते ही सभी के मुंह में पानी आ जाता है। अधिकतर लोग चॉकलेट को जंक फूड मानते हैं इसीलिए रोजाना चाकलेट खाने से बचते हैं। लेकिन ऐसा नहीं है, चॉकलेट खाना बुरा नहीं है। रिसर्च के मुताबिक, चॉकलेट सिर्फ आपको मीठा खाने की संतुष्टि ही नहीं देता बल्कि ये दिल की बीमारियों से भी बचाता है। खासतौर पर डार्क चॉकलेट। साथ ही यह निम्न रक्तचाप को भी संतुलित करता है। एक अन्य रिसर्च के मुताबिक, जो लोग अधिक चॉकलेट खाते हैं उन्हें स्ट्रोक खतरा भी कम होता है।

गप्पे मारना भी है अच्छा

वैसे भी सोचने वाली बात यह है कि यदि गॉसिपिंग अच्छी ना होती, तो लोग भला इसका इतना मजा लेते?' जीं हां गॉसिप करना सेहत के लिए बहुत अच्‍छा होता है। गॉसिपिंग के दौरान बॉडी से फील गुड हार्मोन रिलीज होता है जो कि तनाव और एंजाइटी से मुक्त करने में मदद करता है। इसके अलावा, ऑफिस में गॉसिपिंग सेफ्टी वॉल्व की तरह होती है, जिससे आप अपने दिल की बात बाहर निकाल सकते हैं।

दिन में सपने देखना

दिन में सपना देखने को अक्सर लोग बुरा मानत हैं। जबकि एक शोध में ये बुरी नहीं बल्कि एक अच्छी आदत मानी गई है। एक्सपर्ट्स का दावा है कि दिन में सपने देखने वाले लोगों की याददाश्त तेज होती है। वो ना सिर्फ फुर्तीले होते हैं बल्कि काफी बुद्धिमान भी होते हैं। जर्नल ऑफ साइकोलॉजिकल साइंस में प्रकाशित शोध की मानें तो दिन में सपने देखने वाले लोगों की याददाश्त बेहतर होती है, एकाग्रता अधिक रहती है और मल्टीटास्किंग में आसानी होती है।

ऐसे अन्य स्टोरीज के लिए डाउनलोड करें: ओनलीमायहेल्थ ऐप

Read More Articles On Healthy Living In Hindi

Disclaimer