सुबह की सैर दिलाएगी अवसाद से निजात

नियमित रूप से सुबह-सुबह सैर करने से अवसाद समाप्‍त होता है। 

Anubha Tripathi
लेटेस्टWritten by: Anubha TripathiPublished at: May 22, 2012
सुबह की सैर दिलाएगी अवसाद से निजात

subah ki sair dilaayegi avasaad se nijaat सुबह सुबह खुली हवा में सैर करने से हमारा शरीर रोगमुक्त रहता है। सुबह की सैर एक तरफ जहां आपको चुस्त दुरुस्त रखती है, वहीं आपको प्रसन्नचित्त भी बनाती है।  दूसरी तरफ सैर से आप किसी भी तरह के अवसाद से निजात पा सकते हैं। सुबह की सैर बच्चों से लेकर बूढों तक सभी के लिए फायदेमंद है।

 

पत्रिका मेंटल हेल्थ एण्ड फिजीकल एक्टीविटी में प्रकाशित एक रिसर्च के मुताबिक अवसाद कम करने में सुबह की सैर की अहम भूमिका है। सुबह की सैर सेहत बनाने का सबसे सरल व सुविधाजनक उपाय है। सुबह के समय हवा शुद्ध और प्रदूषण रहित होती है जो हमारे शरीर व दिमाग के लिए फायदेमंद है।

 

इस रिसर्च से पहले अवसाद के लक्षणों को कम करने के लिए कड़े शारीरिक व्यायाम का सहारा लिया जाता था, लेकिन इस शोध के बाद सैर को भी इसके लिये कारगर माना गया है। कम कड़े परिश्रम के परिणाम लेकिन अभी तक साफ नहीं हैं।

 

माना जाता है कि दस में से एक व्यक्ति अपने जीवन में कभी ना कभी अवसाद के दौर से गुजरता है। कई बार अवसाद से ग्रस्त लोगों को दवा दी जाती है, लेकिन कम अवसाद वाले रोगियों को चिकित्सक आम तौर पर व्यायाम की सलाह देते हैं। जिसमें अब सुबह की सैर भी शामिल हो गया है।

 

स्टर्लिंग विश्वविद्यालय के शोधकर्ताओं ने इसके लिए 341 रोगियों पर व्यायाम और सैर का असर देखते हुए यह निष्कर्ष निकाला कि सैर का भी कड़े व्यायाम जैसा असर होता है।

 

Disclaimer