सर्दी भगाने वाली दवा से रक्तचाप का खतरा

By  , ओन्‍ली माई हैल्‍थ सम्पादकीय विभाग
Dec 06, 2012

sardi bhagane wali dawa se raktchap ka khatra

सर्दी भगाने के लिए दी जाने वाली दवाओं से हृदय गति व रक्तचाप बढ़ने की आशंका बढ़ जाती है। इसलिए इन दवाओं के इस्तेमाल में सावधानी बरतना जरूरी है। खास कर, बच्चों के मामले में विशेष तौर पर सावधानी रखनी चाहिए, क्योंकि ऐसी दवाएं बच्चों के लिए घातक भी हो सकती है। हाल ही में किए गए एक चिकित्सकीय अध्ययन में यह निष्कर्ष सामने आया है।

 

[इसे भी पढ़ें: खांसी के घरेलू उपचार]

 

अध्ययन से पता चला है कि दो वर्ष से कम उम्र वाले बच्चों के मामले में सर्दी की दवा घातक साबित हो सकती है। यह भी कहा गया है कि माता-पिता को बच्चों के चिकित्सकीय सलाह पर पूरी तरह अमल करना चाहिए।

वास्तव में सर्दी भगाने की दवाओं में जिन पदार्थो का इस्तेमाल किया जाता है, उससे हृदय गति व रक्तचाप में वृद्धि होने की आशका बनी रहती है। कुछ मामलों में इन पदार्थो का सेवन अत्यंत घातक भी साबित हुआ है। नाक से ली जाने वाली सर्दी की दवाएं इन बच्चों के लिए काफी घातक सिद्ध हुई हैं। शिशु रोग विशेषज्ञ एडम कोहेन का ऐसा कहना है। एडम इस रिपोर्ट के सह लेखक हैं। पिछले दो वर्ष के दौरान 1511 बच्चों पर शोध करने के बाद ये निष्कर्ष प्राप्त हुए हैं।

 

[इसे भी पढ़ें: गर्भावस्था में रक्तचाप]

कोहेन ने कहा कि बच्चों को दवा देने के लिए हमेशा ही अच्छे चिकित्सक की सलाह लेनी चाहिए। खासतौर पर सर्दी की स्थिति में चिकित्सक की देखरेख में ही उसे दवा दी जानी चाहिए।

 

Read More Health News In Hindi

Loading...
Is it Helpful Article?YES1 Vote 12140 Views 0 Comment
संबंधित जानकारी
  • सभी
  • लेख
  • स्लाइडशो
  • वीडियो
  • प्रश्नोत्तर
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy. OK