कच्चा भोजन या पका भोजन: कौन सा खाना है सेहत के लिए ज्यादा फायदेमंद और पौष्टिक? जानें डॉक्टर से

खाना पकाकर खाना व कच्चा भोजन के फायदे भी हैं व नुकसान भी। पौष्टक तत्व हासिल करने के लिए जानें डाइट में किसे शामिल करें।

Satish Singh
Written by: Satish SinghUpdated at: Aug 04, 2021 09:42 IST
कच्चा भोजन या पका भोजन: कौन सा खाना है सेहत के लिए ज्यादा फायदेमंद और पौष्टिक? जानें डॉक्टर से

कच्चा या पका हुआ खाद्य पदार्थ में से कौन सबसे ज्यादा पौष्टिक है? इस सवाल का तुरंत जवाब शायद ही किसी के पास हो, यहां तक कि डायटीशियन के पास भी नहीं। दोनों ही प्रकार के खाद्य पदार्थों की अपनी-अपनी खासियत है। दोनों ही भोजन के अपने फायदे-नुकसान हैं। लेकिन हर किसी को यह पता होना चाहिए कि उसे ज्यादा से ज्यादा पौष्टिकता हासिल करने के लिए किन खाद्य पदार्थों को कच्चा खाना चाहिए तो किन किसे पकाकर खाना ही स्वास्थ्य के लिए बेहतर होगा। डायटीशियन डॉ. संचिता बताती हैं कि कच्च भोजन खाने से हमें ज्यादा पौष्टिक तत्व मिलते हैं। लेकिन कुछ पके हुए भोजन भी पौष्टिक तत्वों से भरपूर होते हैं। आइए कच्चे और पके दोनों खाद्य पदार्थों का सेवन करने से होने वाले फायदे और नुकसान के बारे में इस आर्टिकल में एक्सपर्ट के हवाले से जानते हैं।

कौन से भोजन में कितना और किस तरह का पौष्टिक तत्व मौजूद हैं

डायटीशियन डॉ. संचिता बताती हैं- हम पका हुआ खाना खाएं या फिर कच्चा ये तो पूरी तरह से हमारे खाद्य पदार्थ पर निर्भर करता है। दोनों के अलग-अलग फायदे और नुकसान हैं। सबसे पहले हमारे लिए यह जानना जरूरी है कि कौन से खाद्य पदार्थ को पका कर खाना चाहिए और किसे कच्चा। किस तरह के भोजन में कितना और किस तरह का पौष्टिक तत्व मौजूद रहता है और ये हमारे शरीर को किस तरह से फायदे या नुकसान पहुंचा सकता है। आइए जानते हैं कुछ कच्चे और पक्के खाद्य पदार्थों के फायदे-नुकसान के बारे में...

Raw or Cooked Food

सेहतमंद रहने के लिए इन्हें खाए कच्चा

  • प्याज : प्याज का सेवन करना काफी लाभकारी होता है। कच्चे प्याज में एक एंटी-प्लेटलेट्स एजेंट होता है, इसे खाने से दिल से जुड़ी बीमारी होने की संभावना कम होती है। इसे पकाकर खाया जाए तो प्याज में मौजूद लाभकारी गुण कम हो जाते हैं।
  • लहसुन : कच्चे लहसुन में सल्फर होता है। इसे नियमित खाया जाए तो कैंसर की बीमारी से बचाव कर सकते हैं। लेकिन इसे भी यदि पकाकर खाया जाए तो लहसुन में मौजूद सल्फर खत्म हो जाता है।
  • गोभी : कच्ची गोभी में पकी गोभी की तुलना में तीन गुना अधिक मात्रा में सुल्फोराफेन होता है। इसे खाने से कैंसर की बीमारी से पीड़ित लोगों बीमारी से लड़ने में काफी मदद मिलती है।
  • पत्ता गोभी : इसे पकाने से इसमें मौजूद एंजाइम मायरोसिनेज खत्म हो हो जाता है, इसका नियमित तौर पर सेवन करें तो कैंसर रोकने में अहम भूमिका निभाता है। यदि आप इसे पकाकर खाना चाहते हैं तो इसे कम समय तक ही पकाएं।

इन्हें पका कर खाएं

  • मशरूम : खाने में स्वादिष्ट मशरूम को पकाने से इसमें पाए जाने वाला एग्रिटिन कम होता है। जो संभावित कैसरजन है। इसे पकाने से एर्गोथायोनीन (एक शक्तिशाली मशरूम एंटीऑक्सीडेंट) को छोड़ने में मदद मिलती है।
  • पालक : इसे पकाते समय आयरन, मैग्नीशियम, कैल्शियम, जिंक जैसे पोषक तत्व मिलते हैं।
  • टमाटर : पकाने से इसमें एंटीऑक्सीडेंट लाइकोपेन बढ़ता है।
  • गाजर : पके हुए गाजर में कच्चे गाजर की तुलना में अधिक बीटा-कैरोटीन होता है। इसलिए इसे पकाकर ही खाना चाहिए।
  • आलू : इसे हमेशा पकाकर ही खाना चाहिए। क्योंकि जबतक इसे पकाया न जाए इसमें मौजूद स्टार्च पेट में जाकर नहीं पचता।
  • फलियां : कच्ची या अधपकी फलियों में लेक्टिन नाम का खतरनाक विष होता है। भिंगोने-पकाने से लेक्टिन खत्म होता है।
  • मांस, मछली: कच्चे मांस, मछली और मुर्गी में कई प्रकार के बैक्टीरिया होते हैं जो खाने पीने से होने वाली बीमारियों का कारण बनता है। इन खाद्य पदार्थों को पकाने से हानिकारक बैक्टीरिया मरते हैं। इसलिए इन्हें पकाकर ही खाना चाहिए।

एक्सपर्ट की मदद लेकर चुने किसे कच्चा खाना और किसे पकाकर

हमारे भोजन में कुछ ऐसे खाद्य पदार्थ होते हैं, जब वे कच्चे होते हैं तो उनमें पौष्टिक तत्व मौजूद होते हैं, जैसे ही हम उसे पकाने के लिए गर्म करते हैं उनके पौष्टिक तत्व नष्ट हो जाते हैं। कुछ लोगों का मानना है कि कच्चा खाना खासे से हेल्दी रहा जा सकता है। कच्चे भोजन में अनाज-फलियां, सब्जियां और फल शामिल हैं। डायटीशियन डॉ. संचिता के अनुसार स्वस्थ रहने के लिए हमें कच्चे और पके दोनों प्रकार से भोजन करना चाहिए। इनमें अगर आपको थोड़ा भी कन्फ्यूजन हो तो डायटीशियन की सलाह जरूर लें।

क्या है कच्चा और पक्का भोजन

वैसे खाद्य पदार्थ जिनें बिना आग में तैयार किया जाता है और फिर उसे खाया जाता है उसे कच्चा भोजन कहा जाता हैं, वहीं वैसे खाद्य पदार्थ जिन्हें खाने के लिए पहले हम आग पर पकाते हैं और उसे स्वादिष्ट बनाने के लिए उसमें कुछ मसाले सहित अन्य तत्व मिलाते हैं उसे पका भोजन कहते हैं। कुछ कच्चे भोजन में ऐसे बैक्टीरिया मौजूद होते हैं जिन्हें सीधे तौर पर खाने से हम बीमार पड़ सकते हैं, हां, मगर जैसे ही हम इसे गर्म करते हैं (पकाते हैं) ये बैक्टीरिया नष्ट हो जाते हैं। वैसे लोग जो मांस-मछली खाना पसंद करते हैं उन्हें यह सलाह दी जाती है कि वे अच्छी तरह से पके हुए मांस ही खाएं। कच्चे मांस में कई तरह की बीमारी का खतरा बना रहता है। वैसे डॉ. संचिता के अनुसार मनुष्य को कच्चा और पका दोनों प्रकार के भोजन का सेवन करना चाहिए। खाने को पकाना चाहिए। पका खाना उन जीवाणुओं को खत्म करता है जो बीमारी फैलाते हैं। मांसाहारी भोजन पर यह लागू होता है। कच्चे मांस में हानिकारण बैक्टीरिया होते हैं, इसलिए इसे पकाकर खाएं। हालांकि, फल व सब्जियां को कच्चा खाना सुरक्षित है। पालक, सलाद, टमाटर व कच्चे स्प्राउट्स, फल-सब्जियां हैं जिनमें बैक्टीरिया होते हैं। कुछ ऐसी ही स्थिति दूध के साथ भी है। बिना गर्म किए दूध को पिने से बीमारी का खतरा ज्यादा रहता है, डॉक्टर हमेशा गर्म दूध की सलाह देते हैं।

इसे भी पढ़ें : कच्चा या पका कौन सा भोजन आपकी सेहत को रखता है दुरुस्त, जानें क्या कहता है आयुर्वेद

पका हुआ खाना जल्दी पचता है

बचपन से ही हमे चबा कर खाने की सलाह दी जाती है। चबाकर खाना खाने से जल्दी पचता है। अच्छे स्वास्थ्य के लिए भोजन का पचना जरूरी है। कच्चा भोजन को हम पूरी तरह से चबाकर नहीं खा पाते हैं, वहीं पका हुआ भोजन को चबाना आसान होता है। एक्सपर्ट बताते हैं कि जब हमारा शरीर किसी खाद्य पदार्थ को पचा नहीं पाता है तो उससे गैस-सूजन जैसी कई बीमारियों का खतरा बनता है। डायटीशियन बताती हैं कि सब्जियों में पकाकर खाने से अधिक एंटीऑक्सीडेंट मिलता है। एंटीऑक्सीडेंट पुरानी बीमारियों को खत्म करता है। इससे दिल के रोग होने की संभावना कम रहती है।

इनका सेवन करें

  • सभी ताजे फल
  • कच्ची सब्जियां
  • कच्चे नट्स-बीज
  • कच्चे अनाज, फलियां, अंकुरित-भींगे हुए
  • अखरोट का दूध
  • कच्चे नट्स बटर
  • कोल्ड प्रेस्ड ऑलिव व नारियल तेल
  • अंकुरित चने व अनाज
  • कच्चे अंडे या डेयरी
  • कच्चा मांस या मछली

इनको खाने से बचें

  • पके हुए फल
  • >बेक किया सामान
  • भुना हुआ मेवा-बीज
  • रिफायंड तेल
  • टेबल नमक
  • रिफाइंड शक्कर और आटा
  • पाश्चुरीकृत जूस
  • कॉफी-चाय
  • शराब
  • पास्ता
  • पेस्ट्री
  • चिप्स
  • अन्य फास्ट फूड और स्नैक्स

इसे भी पढ़ें : मिट्टी के बर्तन में जमी दही खाने से सेहत को मिलते हैं कई जबरदस्त फायदे, जानें कैसे जमाएं गाढ़ी और क्रीमी दही

गर्म करने पर नष्ट होते हैं कुछ पौष्टिक तत्व

एक्सपर्ट बताती हैं कि हमारे खाने में एंजाइम मौजूद होते हैं जो भोजन को पचाते हैं। खाना बनाने के समय जब हम इसे गर्म करते हैं तो ये एंजाइम नष्ट हो जाते हैं और भोजन ठीक तरह से शरीर में पचता नहीं हैं और बीमारी होने का खतरा रहता है। उसी तरह खाना बनाने के दौरान हम खाद्य पदार्थों को उबालते हैं इस समय भोजन में मौजूद विटामिन पानी में पूरी तरह घुल जाते हैं और भोजन से बाहर निकल जाते हैं। खाना पकाते समय कुछ खनिज व विटामिन नष्ट हो जाते हैं। उबालकर बने भोजन बहुत कम पोषक तत्व होते हैं।

सबसे अधिक स्वास्थ्य लाभ के लिए विभिन्न प्रकार के पौष्टिक कच्चे व पके हुए खाद्य पदार्थ खाएं। क्या खाना है और क्या नहीं आपको समझ में नहीं आ रहा है तो आप डायटीशियन की सलाह ले सकते हैं। उनके कहे अनुसार डाइट फॉलो कर सकते हैं।<

Read more articles on Diseases On Miscellaneous

Disclaimer