लिवर को 27 घंटे तक स्‍टोर करना है संभव, वैज्ञानिकों ने किया दावा

वैज्ञानिकों ने काफी लंबे समय तक शोध के बाद लिवर को लंबे समय तक स्‍टोर करने का तरीका खोज निकाला है। यानि कि अब लिवर ट्रांसप्‍लांट करने के लिए 9 से सीधे 27 घंटे तक लिवर को स्‍टोर किया जा सकता है।   

Sheetal Bisht
Written by: Sheetal BishtPublished at: Sep 11, 2019Updated at: Sep 11, 2019
लिवर को 27 घंटे तक स्‍टोर करना है संभव, वैज्ञानिकों ने किया दावा

यह आविष्‍कार, जो कि लाखों लोगों की जान बचाने वाला है, इस आविष्‍कार को वैज्ञानिकों ने एक रसायन मिश्रण की मदद से संभव किया है। जिससे कि लिवर को लंबे समय तक स्‍टोर रखा जा सके। पहले डोनर के लिवर को केवल 9 घंटे तक स्‍टोर किया जा सकता था लेकिन वैज्ञानिकों की इस खोज के बाद लिवर को 9 नहीं, बल्कि 27 घंटों तक स्‍टोर रखा जा सकता है। यह उन लोगों को आशा की किरण देता है, जो लिवर ट्रांसप्‍लांट की प्रतीक्षा कर रहे हैं।

मानव लिवर का संरक्षण केवल उप-शून्य तापमान (sub-zero temperatures)पर ही संभव है, जिससे कि वह जमें या नष्‍ट न हो जाए। इस शोध के बाद, सुपरकूलिंग रसायन का उपयोग करके लिवर का 27 घंटे तक कार्य करना संभव हो गया है।

यह खोज लिवर की विफलता वाले लोगों के लिए किसी आशीर्वाद से कम नहीं है क्योंकि इससे अब उनका समय पर इलाज और जीवन संभव है। हजारों लोग लिवर फेल होने या ऐसी ही किसी समस्‍या के उनकी मौत हो जाती है क्योंकि ज्यादातर समय देखा जाता है कि लिवर का समय पर न पहुंचने में से वह विफल हो जाता है। लिवर को संरक्षित करने से जरूरतमंद लोगों का समय पर लिवर ट्रांसप्‍लांट संभंव हो सकेगा और कई लोग जिंदगी के कुछ और दिन जी सकेंगे।  

क्‍या कहती है रिसर्च 

हार्वर्ड मेडिकल स्कूल और अध्‍ययन के सह-लेखक शैनन टेसियर के मुताबिक, जब कोई अंग (लिवर) उपलब्ध हो जाता है, तो कई बार वह अच्छे से मैच नहीं हो सकता है, इसलिए ऐसे में आपको एक बेहतर मैच करने वाला लिवर ढ़ूढने का पूरा मौका होता है।  

इसे भी पढें: दुबले-पतले लोग जल्दी होते हैं फैटी लिवर (Fatty Liver) का शिकार, वैज्ञानिकों ने बताई वजह

टेसियर ने कहा, "इसका मतलब है कि आपके पास यदि अंग की कमी है और प्राप्तकर्ताओं से अधिक अंग मिलते हैं, तो आपको प्राप्तकर्ताओं के उन अंगों से बेहतर मिलान का मौका मिलता है। 

जिसके वजह से लिवर ट्रांसप्‍लांट की मांग भी बढ़ेगी क्योंकि लोग इस सुविधा का लाभ उठाना चाहेंगे। जो लोग नहीं जानते हैं, उनके लिए 4 डिग्री सेल्सियस के तापमान पर लिवर को संग्रहित किया जाता है, लेकिन यह तापमान उन्हें लंबे समय तक संरक्षित रखने के लिए अपर्याप्त है। लिवर को लंबे समय तक स्‍टोर करने के लिए यह रासायनिक मिश्रण- ग्लिसरॉल, 3-ओएमजी और पीईजी इन प्रमुख सामग्रियों का उपयोग करके बनाया गया है,  जो जिगर को स्‍टोर करने में मदद करते हैं। यह खोज कई लोगों के लिए एक वरदान है। जिससे कि अंग की कमी या असामयिक ट्रांसप्‍लांट के कारण मृत्यु के मामलों को भी कम करने में मदद मिल सकती है। 

Read More Article On Health News In Hindi

Disclaimer