मौसमी के जूस के साथ दवा लेना खतरनाक!

जानिए, मौसमी के जूस के साथ दवा लेना क्यों खतरनाक है, इससे शरीर पर क्या असर होता है।

 ओन्लीमाईहैल्थ लेखक
लेटेस्टWritten by: ओन्लीमाईहैल्थ लेखकPublished at: Dec 03, 2012
मौसमी के जूस के साथ दवा लेना खतरनाक!

mausmi ke juice ke sath dawa lena khatarnak

डॉक्टरों के मुताबिक जानकारी के अभाव में मौसमी के जूस के साथ कुछ दवाओं का सेवन स्वास्थ्य के लिए हानिकारक हो सकता है। हाल में हुए शोध के मुताबिक, मौसमी के रस में मौजूद रसायन उस एंजाइम को समाप्त कर देता है, जो दवाओं का विघटन करता है। इसका मतलब यह है कि पाचन तंत्र से शरीर में दवा की जितनी मात्रा आती है, हमारा शरीर उसे संभाल नहीं पाता। यह शोध कनाडा के मेडिकल एसोसिएशन जर्नल में प्रकाशित हुआ है।

 

[इसे भी पढ़ें: संतरे के जूस से निखारे खूबसूरती]

कनाडा के लॉसन स्वास्थ्य अनुसंधान संस्थान के शोधकर्ताओं के मुताबिक, मौसमी के जूस के साथ जिन दवाओं का सेवन स्वास्थ्य के लिए खतरनाक हो सकता है, उनकी संख्या वर्ष 2008 में 17 थी। वर्ष 2012 में इनकी संख्या बढ़कर 43 हो गई है। शोधकर्ताओं ने इन दवाओं की एक सूची बनाई है, जो रक्तचाप, कैंसर, कोलेस्ट्राल को घटाने वाली और अंग प्रत्यारोपण के बाद शरीर की प्रतिरक्षा प्रणाली को नियंत्रित करने के लिए इस्तेमाल की जाती हैं।

[इसे भी पढ़ें: दोपहर की भोजन योजना]

शोध में पाया गया कि एक गिलास पानी की बजाय मौसमी के रस के साथ रक्तचाप की एक दवा फ्लोडिपाइन लेने से शरीर में उनका मात्रा तीन गुना तक बढ़ जाती है। शरीर पर पड़ने वाले कुप्रभावों में पेट में रक्त स्त्राव, दिल की धड़कन में बदलाव, गुर्दे की क्षति और अचानक मौत शामिल है। प्रमुख शोधकर्ता डॉक्टर डेविड वेली के हवाले बीबीसी ने अपनी रिपोर्ट में कहा है, 'मौसमी के रस के साथ एक गोली लेने का असर वैसा ही हो सकता है जैसा कि एक गिलास पानी के साथ पांच या फिर दस गोली ले ली जाएं। मौसमी के एक गिलास जूस के साथ दवा को जहरीले स्तर पर ले जा सकते हैं।' नींबू जैसे खंट्टे कुछ अन्य रसीले फल भी इसी तरह का दुष्प्रभाव पैदा करते हैं। इसी तरह एंटीबायोटिक दूध के साथ लेने पर दवा का असर खत्म हो जाता है।

 

Read More Health News In Hindi

Disclaimer