जानिए,महिलाएं क्यों लंबा जीवन जीती हैं

By  , ओन्‍ली माई हैल्‍थ सम्पादकीय विभाग
Aug 07, 2012

janiye mahilaye kyu lamba jeewan jeete hain

वैज्ञानिकों ने वह कारण खोज निकाला है जिसकी वजह से औरतें पुरुषों की तुलना में एक लंबा जीवन जीती हैं। यह कारण निहित है उनका बायोलॉजिकल स्ट्रक्चर यानी जीन्स में। मोनाश यूनिवर्सिटी के रिसर्चरों ने पाया है कि जीवों की कोशिकाओं में पाए जाने वाले माइटोकॉन्डि्रया के डीएनए में पाए जाने वाले अंतर ही पुरुषों और महिलाओं के जीवन की एक्स्पेक्टैशन होती हैं।

 

माइटोकॉन्डि्रया लगभग सभी जंतुओं की कोशिकाओं में मौजूद होता है। यह जीवन के लिए जरूरी है क्योंकि यह हमारे खाने को एनर्जी में बदलता है जिससे हमारे शरीर को पोषण मिलता है।

 

मोनाश स्कूल ऑफ बायोलॉजिकल साइंसेज के डॉ. डामेन डॉलिंग और पीएचडी स्टूडेंट फ्लोरेंसिया कैमस के ने लैंचेस्टर यूनिवर्सिटी के डॉ. डेविड कलेंसी के साथ मिलकर यह अध्ययन किया। इस अध्ययन में पुरुषों, महिलाओं व फल-मक्खियों को शामिल किया गया।

 

डॉलिंग ने बताया कि मेल मक्खियों के माइटोकॉन्डि्रया के डीएनए में होने वाले बदलावों का प्रभाव उनकी उम्र और बूढ़े होने पर पड़ता है लेकिन इन्हीं बदलावों का प्रभाव मादा मक्खियों पर नहीं पड़ता।

 

वे बताते हैं कि बेशक, बच्चे को अपने जीन्स माता व पिता दोनों से ही मिलते हैं फिर भी वह माइटोकॉन्डि्रया सिर्फ अपनी माता से ही प्राप्त करता है। इसका मतलब है नेचर द्वारा चयन का सिद्धांत यहां काम करता है जो उत्तम बायोलॉजिकल कैरेक्टर का ही चयन करता

 

डॉलिंग ने बताया, हमारे अध्ययन में सामने आया कि माइटोकॉन्डि्रया में होने वाले बदलाव पुरुषों की सेहत पर भी प्रभाव डालते हैं। अब हमें उन बॉयोलॉजिकल कोर्स ऑफ ऐक्शन को खोजना है जिनके जरिए पुरुषों में माइटोकॉन्डि्रया में बदलावों के हानिकारक प्रभावों को नष्ट किया जा सके ताकि वे स्वस्थ रहें।

Loading...
Is it Helpful Article?YES1 Vote 13407 Views 0 Comment
संबंधित जानकारी
  • सभी
  • लेख
  • स्लाइडशो
  • वीडियो
  • प्रश्नोत्तर
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy. OK