हड्डियों के कैंसर से कैसे बचें

यदि हड्डियों में बोन कैंसर का निदान हो जाता है तो इसे प्राथमिक अवस्था का बोन कैंसर माना जाता है। यदि बोन कैंसर शरीर के अलग-अलग भागों में पाया जाता है तो इसे सेकेंडरी अवस्था का बोन कैंसर माना जाता है।

अनुराधा गोयल
कैंसरWritten by: अनुराधा गोयलPublished at: Mar 28, 2012
हड्डियों के कैंसर से कैसे बचें

बोन कैंसर प्राकृतिक रूप से प्राथमिक और सेकेंडरी अवस्था में होता है। लेकिन यदि हड्डियों में बोन कैंसर का निदान हो जाता है तो इसे प्राथमिक अवस्था का बोन कैंसर माना जाता है। यदि बोन कैंसर शरीर के अलग-अलग भागों में पाया जाता है तो इसे सेकेंडरी अवस्था का बोन कैंसर माना जाता है। यानी प्राथमिक बोन कैंसर शरीर के अन्य हिस्‍सों में हड्डियों के कैंसर का फैलाव करता है। उदाहरण के तौर पर देखें तो प्राथमिक अवस्था के बोन कैंसर के लक्षणों में शरीर के हिस्सों में गांठें पड़ने लगती हैं। बोन कैंसर के निदान के बाद वजन कम होना, बुखार होना, रात के समय पसीने आना इत्यादि समस्याएं होने लगती हैं। यदि आपको इनसे से एक भी लक्षण दिखाई देता है तो आपको तुरंत डॉक्टर से सलाह-मशविरा करना चाहिए। ये बोन कैंसर की शुरूआती अवस्था होती है जिसका समय रहते उपचार किया जा सकता है।

हड्डियों के कैंसर से बचाव के तरीके

 

  • मिल्क प्रोडक्ट का सेवन करें - आपको बोन कैंसर से बचने के लिए नियमित रूप से दूध और दूध से बने उत्पादों जैसे- दही, पनीर, लस्सी इत्यादि का सेवन करना चाहिए।

 

 

 

  • धूम्रपान और तंबाकू के सेवन से बचें- बोन कैंसर का एक बहुत बड़ा कारक होता है धूम्रपान और तंबाकू जैसी नशीले पदार्थों का नियमित रूप से सेवन करना। आपको चाहिए कि आप धूम्रपान और तंबाकू से दूर रहें, जिससे बोन कैंसर को पनपने से रोक पाएं।
  • व्यायाम और योग करें- कहते हैं नियमित रूप से व्यायाम-योगा इत्यादि करने से आप किसी भी बीमारी से आराम से निजात पा सकते हैं। यदि आप हड्डियों के कैंसर से बचना चाहते हैं तो आपको डॉक्टर की सलाह पर नियमित रूप से व्यायाम-योगा करना चाहिए।
  • प्रोटीन का सेवन – प्रोटीन की कमी बोन कैंसर का महत्वपूर्ण कारक है। यदि आप हड्डियों के कैंसर से निजात पाना चाहते हैं तो आपको प्रोटीनयुक्त खाद्य पदार्थों का भरपूर मात्रा में सेवन करना चाहिए। आप चाहे तो खाना बनाने में भी प्रोटीनयुक्त ऑयल का इस्तेमाल कर सकते हो।
  • विटामिन डीआपको चाहिए कि आप विटामिन डी की कमी से होने वाली हड्डियों में कमजोरी से बचने के लिए विटामिन सी का सेवन अच्छी तरह से करें। आपको अपनी आहार-योजना में विटामिन डी भी शामिल करना चाहिए।
  • सुबह की धूप लेना बोन कैंसर से पीडि़त रोगियों के लिए यह बहुत जरूरी हो जाता है कि वे नियमित रूप से सुबह की खिली-खिली धूप में बैठे। इसके साथ ही आमतौर पर विटामिन डी की भरपाई करने के लिए सुबह की धूप में बैठना चाहिए। इससे आप आसानी से बोन कैंसर जैसे रोग से बच सकते हैं।
  • कैल्शियम और आयरन युक्त खाघ पदार्थों का सेवन- जब भी हड्डियों से संबंधित कोई बात आती है तो उसे कैलिशयम और आयरन की कमी से जोड़कर देखा जाता है। यदि आप चाहते हैं कि आप हड्डियों के कैंसर से बच जाएं तो आपको कैल्शियम और आयरन युक्त खाघ पदार्थों का सेवन करना चाहिए।
  • फल और सब्जियां- हड्डियों की बीमारी और बोन कैंसर रोग से बचने के लिए आपको फल और हरी सब्जियों का भरपूर मात्रा में सेवन करना चाहिए। खासकर उन सब्जियों और फलों का जो विटामिन, कैल्शियम और प्रोटीन युक्त है।

 

मेवे का सेवन करें क्योंकि बोन कैंसर से बचने के लिए अधिक से अधिक ड्राई फ्रूट्स का सेवन करना चाहिए। आपको रोजना पांच से छह बादाम पानी में रात को भिगोकर सुबह उठकर खाने चाहिए। आप चाहे तो किशमिश, काजू पिस्ता इत्यादि का भी सेवन कर सकते हैं।

 

Image Source - Getty Images

Read More Articles On Cancer in Hindi.

Disclaimer