हाइपरथायरायडिज्‍़म के लक्षणों के बारे में पांच बातें

By  , ओन्‍ली माई हैल्‍थ सम्पादकीय विभाग
Oct 31, 2012

hyperthyroidism ke lakshano ke bare me paach baate

जब थायरॉयड ग्रंथि बहुत ज्यादा थायराइड हार्मोन बनाती है तो इसे हाइपरथायरायडिज्‍़म कहते है। इसे ओवरएक्‍टव थायराइड भी कहते है। हाइपरथायरायडिज्‍़म तब होता है जब थायरॉयड एक निश्‍चित समय में बहुत ज्यादा हार्मोन बनाती है। हाइपरथायरायडिज्‍़म कई तरह की बीमारियों या वंशानुगत कारणों से भी हो सकता है।


हाइपरथायरायडिज्‍़म के लक्षण:

1. उच्‍च रक्‍तचाप होना, घबराहट होना और नींद ना आना। साथ ही भावनात्मक परिवर्तन जैसे लक्षण हाइपरथायरायडिज्‍़म के आम लक्षण है।

2. ऐसे में दिल की धड़कन तेज हो जाती है और सांस फूलने लगती है। हमेशा गर्मी महसूस होती है और ज्‍यादा पसीना आता है। शरीर में कंपकपी होने लगती है।

3. इस बीमारी के शिकार होने पर भूख ज्‍यादा लगती है, लेकिन जितना भी खाओं वजन नहीं बढ़ता, वजन कम होता जाता है। हमेशा पेट में गड़बड़ी रहती है और ज्‍यादातर समय मतली और उल्टी जैसा भी महसूस होता है।

4. मांसपेशियों में कमजोरी आने लगती है। बाल झड़ने लगते है और त्वचा अत्यंत शुष्क हो जाती है। ऐसे रोगी की आवाज भी बदल जाती है और उसे बोलने में परेशानी आती है।

5. इस बीमारी के कारण महिलाओं में माहवारी अनियमित हो जाती है या पूरी तरह से बंद हो सकती है। ऐसे में कई बार पुरुषों में भी कुछ अलग लक्षण देखे जाते है, उनके स्तनों की वृद्धि होती है। साथ ही ज्‍यादा उम्र को लोगों को दिल का दौरा भी पड़ सकता है या एनजाइना (सीने में दर्द) की शिकायत भी हो सकती है।

अगर हाइपरथायरायडिज्‍़म ग्रेव्स रोग के कारण होता है, तो ऐसे में आँखों के उतकों में सूजन आ जाती है, जिससे कि आँखें बाहर निकली हुई सी लगती हैं और एकटक देखती हुई सी नजर आती हैं। इस अवस्था को एक्सोफ़थैलमोस कहा जाता है।

 

Read More Article On- Hyperthyroidism in hindi

Loading...
Is it Helpful Article?YES56 Votes 16995 Views 0 Comment
संबंधित जानकारी
  • सभी
  • लेख
  • स्लाइडशो
  • वीडियो
  • प्रश्नोत्तर
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy. OK