मानसून में होने वाले रोगों से निजात दिलाये घरेलू उपचार

बरसात का मौसम अपने साथ कई बीमारियां भी लेकर आता है। आइए जानें कि बरसात के मौसम में आप किस प्रकार घरेलू उपचार के जरिये स्‍वयं को स्‍वस्‍थ रख सकते हैं।

 ओन्लीमाईहैल्थ लेखक
घरेलू नुस्‍खWritten by: ओन्लीमाईहैल्थ लेखकPublished at: Jun 19, 2012
मानसून में होने वाले रोगों से निजात दिलाये घरेलू उपचार

मानसून का मौसम काफी बीमारियां अपने पैर फैलने लगती हैं। इस मौसम में डेंगू और आंखों की बीमारियां सामान्‍य होती हैं। हालांकि, एलोपैथी में इसका इलाज संभव है, लेकिन आप चाहें तो इनसे बचने के लिए कुछ घरेलू नुस्‍खे भी आजमा सकते हैं। जानें मानसून रोगों के लिए घरेलू उपचार।
home remedies for monsoon diseases

 

मानसून तपिश और गर्मी से राहत दिलाता है लेकिन दूसरी तरफ इस मौसम में बीमारियों के होने की संभावना भी बढ़ जाती है। इस समय मलेरिया, डेंगू, चिकनगुनिया जैसी बीमारियां ज्‍यादा होती हैं। इस दौरान वायरल संक्रमण भी ज्‍यादा होता है।


इन बीमारियों से बचाव के लिए चिकित्‍सक के जाने के बजाय आप अपने घर में मोजूद औषधियों से उसका इलाज कर सकते हैं। मानसून की बी‍मारियों से राहत दिलाने के लिए घरेलू उपचार बहुत कारगर साबित होते हैं। आइए हम आपको मानूसन की बीमारियों और उनसे बचाने वाले घरेलू नुस्‍खों की जानकारी देते हैं।


मानसून की बीमारियां और घरेलू उपचार

 

डेंगू

डेंगू बुखार एडीज मच्छर से फैलता है। डेंगू को रोकने के लिए कोई टीका नही है, लेकिन घर पर पानी के जमाव न होने के द्वारा आसानी से संक्रमण से बचा जा सकता है जो कि इससे बचने के लिए आप इन घरेलू नुस्‍खे आजमा सकते हैं।

 

  • संतरे का रस जरूर पीना चाहिए, क्योंकि यह पाचन में मदद करता है और एंटीबॉडी को बढ़ाता है जो थके शरीर को चुस्ती देता है।
  • पपीता का पन्ना पीने से लाभ होता है। यह रक्त प्लेटलेट की संख्या को बढ़ाता है। पपीते के पत्तों को लेकर जूस बनाकर पीने से डेंगू में फायदा होता है।

 

 

कंजक्टिवाइटिस

इस बीमारी के होने पर आंखें लाल हो जाती हैं। कंजक्टिवाइटिस सामान्यतः वायरल के कारण जाना जाता है और कुछ मामलों में जीवाणु संक्रमण के कारण कारण होता है। कंजक्टिवाइटिस के लिए घरेलू उपचार ये हैं। आंखो से पानी पूछने के लिए साफ कपड़े का उपयोग करें। आई मेकअप और कॉनटेक्ट लेंस का उपयोग न करें।

 

  • आंखें न मसलें। अपने हाथों को दिन में कई बार साबुन और पानी से साफ करते रहिए।
  • आंखों में बार-बार छींटे मारते रहने से आराम मिलता है।

 

वायरल संक्रमण

मानसून में वायरल संक्रमण ज्‍यादा फैलता है। वायरल संक्रमण के कारण अत्यधिक थकान, जोडों औऱ मांसपेशियों में दर्द, नाक का बहना, आंखो का लाल होना, टांसिल में सूजन जैसी समस्‍या हो सकती है। वायरल संक्रमण के लिए घरेलू उपचार निम्‍न हैं।

 

  • फलो का सेवन अधिक करें विशेष रूप से उन फलों का जिनमें विटामिन सी अधिक हैं, क्योंकि यह हमारी प्रतिरक्षा प्रणाली को मजबूत करता है और हमारे शरीर से टॉक्सिन को बाहर निकालता है।
  • इसे बचने के लिए एंटी‍बॉयटिक की दवाओं का इस्‍तेमाल भी किया जा सकता है। गुनगुने नमक के पानी के साथ ग़रारे करने से आराम मिलता है।
  • सूप का सेवन करें और हल्का खाना खाएं, गर्म पानी में अपने पैर डाले और उन्हें पोंछे।
  • तुलसी, अदरक, और शहद के रस का सेवन करने से फायदा होता है। चाय में एक चुटकी काली मिर्च मिलाकर पीने से आराम मिलता है।
  • पानी में नीम के पत्ते उबाल लें और इसके साथ नहाएं, सरसो का धुआं, नीम रोगाणुओं को खत्म करने का सबसे अच्छा तरीका है।

 

इन उपायों को आजमाकर आप बारिश में होने वाली बीमारियों से स्‍वयं को सुरक्षित रख सकते हैं। हां, अगर आपको किसी प्रकार का लाभ होता न नजर आए, तो बिना देर किये फौरन चिकित्‍सक से संपर्क करें। याद रखें कि इनमें से कई उपाय आप चिकित्‍सक की दवाओं के साथ भी आजमा सकते हैं।

 

Read More Articles on Home Remedies for Diseases in Hindi

Disclaimer