गुड़हल होता है बालों के लिए बेहद खास, जानें फायदे

गुड़हल का फूल व पत्तियां कई रोगों में लाभकारी हैं साथ ही इसका प्रयोग बालों को खूबसूरत बनाने के लिए भी किया जाता है जानें कैसे।

Anubha Tripathi
बालों की देखभालWritten by: Anubha TripathiPublished at: May 19, 2016
गुड़हल होता है बालों के लिए बेहद खास, जानें फायदे

गुड़हल का फूल देखने में सुंदर होता है। यह कई रंगों में पाया जाता है जैसे, लाल, सफेद , गुलाबी, पीला और बैगनी आदि। गुड़हल के फूल में स्वास्थ्य के लिए कई उपयोगी तत्त्व होते हैं। इसका इस्तेमाल खाने-पीने या दवाओं के लिए किया जाता है। गुड़हल के फूल में विटामिन-सी, कैल्शियम, वसा, फाइबर, आयरन आदि भरपूर मात्रा में होता है। यह बालों की कई परेशानियों से भी निजात दिलाने में मदद करता है। गुड़हल के फूलों व पत्तियों का प्रयोग हेयर ट्रीटमेंट के लिया जाता है। इससे प्राकृतिक पैक, मास्क व तेल बनाया जाता है, जो बालों की समस्याओं को दूर करता है। यह बालों को केमिकल के दुष्प्रभावों से बचाने में मदद करता है। यह स्कैल्प को स्वस्थ बनाने के साथ लालिमा व खुजली की समस्या को दूर करता है।  इसके फूलों में मौजूद रसायन बालों को तेजी से बढ़ने में मदद करता है।

इसे भी पढ़ें:गर्मियों के कूल हेयर स्टाइल

 

 

बालों के लिए गुड़हल के फायदे

  • गुड़हल के फूलों से सौम्य शैंपू बनाकर बालों को साफ करें। गुडहल के ताजे फूलों को पीसकर लगाने से बालों का रंग सुंदर हो जाता है।
  • एक मुठ्ठी गुड़हल की पत्तियां व फूलों को 100 मिली नारियल तेल में उबालकर ठंडा करें। इससे सिर की मालिश करें। बाल गिरने की समस्या दूर होगी और बाल तेजी से बढ़ने लगेंगे।
  • गुड़हल की पत्तियों को मेहदी व नींबू के रस के साथ मिलाकर लगाएं। यह बालों के लिए प्राकृतिक कंडीशनर है। साथ ही इसके प्रयोग से बालों में डैंड्रफ नहीं होता!
  • दस ग्राम गुड़हल की पत्तियों को पीसकर इसमें एक अंडा मिलाएं। इस मिश्रण को  बालों की जड़ों से सिरे तक लगाएं। इस मिश्रण के नियमित प्रयोग से बाल खिल उठेंगे।
  • बालों को लंबा करने के लिए गुड़हल की पत्तियों को आंवला पाउडर व थोड़ा पानी डालकर पीस लें। इस पेस्ट को बालों की जड़ों पर लगाएं। इससे बाल झड़ने की समस्या का अंत हो जाएगा।
  • चावल के माढ़ में गुड़हल के फूलों का रस मिलाकर लगाने से दो मुंहे बालों से निजात मिलती है।
  • मेहंदी के साथ गुड़हल की पत्तियों को पीसकर लगाएं। मेहंदी का रंग अच्छा आएगा तथा मेंहदी के कारण बालों में ड्राइनेस भी नहीं होगी।
  • गुड़हल के फूलों में आयरन व विटामिन सी भरपूर मात्रा में होते हैं।गुड़हल के फूलों से तैयार तेल को स्कैल्प पर लगाएं। इससे खुजली व लालिमा से राहत मिलेगी।
  • गुड़हल की कुछ पत्तियों को पीस लें इसमें आधा कटोरा दही मिलाएं। इस मिश्रण को बालों की जड़ों पर हल्के हाथों से लगाएं। एक घंटे के बाद सामान्य पानी से धो लें। इससे बाल नर्म व मुलायम बनेंगे। इसके बाद बालों में गुड़हल का तेल लगाएं और नहाते समय माइल्ड शैंपू से धो लें। इससे बाल काले व चमकदार रहते हैं। इस प्रक्रिया को हफ्ते में एक बार जरूर करें।
  • ताजे गुड़हल के फूलों की पंखुडि़यों के रस में बराबर मात्रा में, नारियल या तिल या जैतून के तेल में पका लें। ठंडा होने पर इस मिश्रण को शीशी में भर कर रख लें। इस तेल को अंगुलियों से जड़ों में मालिश करें। कुछ दिनों में बालों में चमक आएगी
  • मेथी के दानों कों रात भर भिगो दें। सुबह गुड़हल की कुछ पत्तियों के साथ इसे पीस लें और इसमें थोड़ा सी छाछ मिला लें। इस मिश्रण को स्कैल्प पर लगाएं और एक घंटे के लिए छोड़ दें। इसके बाद सामान्य पानी से धो लें। इससे रुसी की समस्या से निजात मिलेगा।

Image Source-Getty

Read More Articles On Hair Care In Hindi

Disclaimer