मधुमेह रोगियों के लिए हेल्दी ड्रिंक

मधुमेह रोगियों को इस बात का बहुत खयाल रखना पड़ता है कि आखिर उनके लिए कौन से ड्रिंक्‍स फायदेमंद हैं और किनका उन्‍हें परहेज करना चाहिए। हम बता रहे हैं कुछ ऐसे ड्रिंक्‍स जिनका सेवन मधुमेह रोगियों के लिए काफी फायदेमेंद होता है।

Bharat Malhotra
डायबिटीज़Written by: Bharat MalhotraPublished at: May 24, 2012
मधुमेह रोगियों के लिए हेल्दी ड्रिंक

मधुमेह बीमारी में रक्त में शर्करा की मात्रा सामान्य से अधिक हो जाती है। अगर आपको मधुमेह हो गया है तो आपको अपने खाने-पीने  का पूरा ख्याल रखना चाहिए, ताकि आपका डायबिटीज़ कंट्रोल में रहे, इसके लिए आपको अच्छा पौष्टिक आहार लेना चाहिए। मधुमेह के रोगी हेल्दी ड्रिंक लेकर भी इस बीमारी को कंट्रोल कर सकते है। आइए जानते है मधुमेह में आप कौन से हेल्दी ड्रिंक ले सकते हैं और स्वस्‍थ रह सकते है।

drinking water

पानी

टाइप टू डायबिटीज के मरीजों को पानी जरूर पीना चाहिए। भोजन से पहले आधा लिटर पानी पीने से आप अतिरिक्‍त कैलोरी के सेवन से बचे रहेंगे। आपको दिन में कम से कम आठ से दस गिलास पानी जरूर पीना चाहिए। इसके अलावा व्‍यायाम के दौरान शरीर के पसीने के रूप में निकलने वाले पानी की भरपाई भी जरूर करें। यदि आप पानी को अधिक उपयोगी बनाना चाहते हैं, तो उसमें नींबू का रस भी मिला सकते हैं।

 

दूध

दूध में कैलोरी और कॉर्बोहाइड्रेट काफी मात्रा में होते हैं। लेकिन इसके साथ ही इसमें पोषक तत्‍वों की भी कोई कमी नहीं होती। हालांकि इसमें कैलोरी काफी होती है, लेकिन फिर भी डायबिटीज के मरीजों के लिए यह काफी फायदेमंद होता है। इसमें कैल्शियम और विटामिन डी की भरपूर मात्रा होती है। टाइप टू डायबिटीज के मरीजों को चाहिए कि वे धीरे-धीरे वसायुक्‍त दूध से लो-फैट मिल्‍क का सेवन करना शुरू कर दें। दूध से डरें नहीं, बल्कि उसका नियंत्रित मात्रा में सेवन करें। 250 मिली स्‍किम मिल्‍क में 80
कैलोरी और 12 ग्राम तक कॉर्बोहाइड्रेट होता है।

जूस

क्‍या आपको जूस पसंद है। तो आपको एक बार इस पर विचार करने की जरूरत है। आप कम मात्रा में जूस का सेवन कर सकते हैं। लेकिन, इस बात का ध्‍यान रखें कि जूस का सेवन करने के बजाय यदि आप सब्जियां और फल खाएं, तो आपको अधिक फाइबर और पोषक तत्‍व मिलेंगे। इस बात का खयाल रखें कि आपके जूस में कृत्रिम मीठा न हो।

चाय

बिना शक्‍कर की चाय आपके लिए ठीक है। कॉफी की ही तरह चाय में एंटी-ऑक्‍सीडेट्स होते हैं। ये एंटी-ऑक्‍सीडेंट्स फ्री-रेडिकल्‍स को खत्‍म कर दिल की सेहत को बनाये रखने का काम करते हैं। कॉफी और ग्रीन टी दोनों ही टाइप टू डायबिटीज से बचाने में काफी मदद करते हैं। जापान में 40 से 65 वर्ष की आयु के स्‍त्री पुरुषों पर किया गये शोध में यह बात सामने आयी कि जो लोग रोजाना छह कप या उससे ज्‍यादा ग्रीन टी या तीन कप से ज्‍यादा कॉफी का सेवन करते हैं, उन्‍हें टाइप टू डायबिटीज होने का खतरा एक तिहाई तक कम होता है। महिलाओं को इनका फायदा पुरुषों की अपेक्षा अधिक पहुंचता है।

 

green tea

कॉफी

डायबिटीज के मरीज ब्‍लैक कॉफी का सेवन कर सकते हैं। इसकी हर सर्विंग में पांच ग्राम से कम कार्बोहाइड्रेट और 20 कैलोरी से कम होती है। इससे आपके शरीर में रक्‍त शर्करा नहीं बढ़ती। अमेरिकन डायबिटीज एसोसिएशन के मुताबिक ब्‍लैक कॉफी के सेवन कितनी भी मात्रा में किया जा सकता है। बेशक, यदि आप इस कॉफी में क्रीम और चीनी मिला लेते हैं, तो यह 'फ्री-फूड' नहीं रहेगी।

Disclaimer