स्ट्रेच मार्क्स और उनके उपचार

फैशन और सौंदर्यBy Onlymyhealth editorial teamSep 13, 2016

त्वचा पर दिखने वाली सफेद धारियों को स्ट्रेच मार्क्स कहते हैं। इसका प्रेगनेंसी के बाद महिलाओं के कमर में दिखना सामान्य बात है। इसके अलावा ये कई बार वजन कम करने या वजन बढ़ने के दौरान भी कमर व हाथ-पैरों में दिखते हैं। ये मार्क्स सामान्य से ज़्यादा ही सफ़ेद होते हैं जिसके कारण ये दूर से ही नजर आते हैं। ये प्रेग्नेंसी के अलावा कई कारणों से भी होते हैं जैसे बढ़ती उम्र के साथ मांसपेशियों का विकसित होना तथा वज़न का बढ़ना या घटना आदि। कई बार हॉर्मोन में परिवर्तनों की वजह से युवा किशोरों को भी स्ट्रेच मार्क्स की शिकायत होने लगती है। आज स्ट्रेज मार्क्स की समस्या अधिकतर लोगों को होती है। कोई मोटा से पतला होता है तो स्ट्रेच मार्क्स हो जाते हैं। डिलिवरी के बाद स्ट्रेच मार्क्स हो जाते हैं। लेकिन इन मार्क्स को थोड़ी मेहनत और घरेलू उपायों द्वारा भी दूर किया जा सकता है। स्टेच मार्क्स को दूर करने के उपायो के बारे में इस विडियो में लेज़र एक्सपर्ट डॉ. नेहा शर्मा विस्तार से बता रही हैं। डॉ. नेहा कहती हैं कि स्ट्रेच मार्क्स को दूर करने में सीओटू नैनो फ्रेक्शन की तकनीक काफी कारगर है। इस तकनीक को छह सेशन में विभाजित किया जाता है। इस पूरे सेशन में सत्तर से अस्सी प्रतिशत तक स्ट्रेच मार्क्स की समस्या खत्म हो जाती है। स्ट्रेच मार्क्स से जुड़ी इस सीओ टू नैनो फ्रैक्शन तकनीक के बारे में इस विडियो में विस्तार से जानें।

Disclaimer