स्केवेर्स और कुकिंग

स्वस्थ आहारBy Onlymyhealth editorial teamOct 05, 2016

बाजार में बैंबू, स्टील और टॉंग तीन तरह के स्कीवर्स मौजूद है। बैंबू स्कीवर्स लकड़ी से बने होते है। लकड़ी से बने ये स्कीवर्स एक बार के लिेए ही प्रयोग में आते है। उसके बाद इनको फेंक दिया जाता है।लकड़ी के स्कीवर्स के साथ आप सर्विंग भी कर सकते है। इसको पकाते समय़ थोड़ी सी सावधानी रखनी बहुत जरूरी होती है। बैंबू के अलावा स्टील के स्कीवर्स को भी प्रयोग में लाया जाता है। स्टील के स्कीवर्स को बार बार प्रयोग में लाया जा सकता है। इसमें कबाब पकाने के बाद इसे दोकर दोबारा प्रयोग में ला सकते है। इसमे पकाने एक फायदा ये होता है कि टिक्के निकालने में आपको मेहनत नहीं करनी पड़ेगी। हालाकिं ये तेज गर्म हो जाते है ऐसे में इसे पकड़ते समय सावधानी रखें। इसमे टिक्के या कबाब लगाने से पहले तेल से ग्रीस कर लें। टॉंग स्कीवर्स बहुत ही उपयोगी होते है। हांलाकि इसके प्रयोग से पहले इसको करीब एक घंटे के लिए भिगोने पड़ता है। साथ ही इससे टिक्का निकालना बी आसान नहीं होता है।  स्कीवर्स में टिक्के लगाने पर उनके बीच थोड़ी थोड़ी जगह जरूर रखें। अलग अलग फ्रकार के टिक्के अलग अलग समय लेते है, ऐसे में सभी को पकाने का समय एक जैसा ना मान कर चले। टिक्कों को पकाते समय उनपर थोड़ी थोड़ी देर में तेल लगाते रहे। टिक्का पकने पर तुंरत सर्व करना चाहिए। अगर इस तरह आप स्कीवर्स कुकिंग करते है तो आपके लिए टिक्के बनाना आसान हो जाएगा।

Disclaimer