मां बनने की संभावना 70% तक बढ़ा सकती IVF की ये लेटेस्ट टेक्नोलॉजी, जानिए एक्‍सपर्ट की जुबानी

महिला स्‍वास्थ्‍यBy Onlymyhealth editorial teamJul 25, 2019

इनफर्टिलिटी यानी नि:संतानता कई दम्पतियों के जीवन में एक बहुत बड़ी समस्या है। कई बार बच्‍चे न होने की वजह से महिलाओं को सामाजिक बहिष्‍कार का भी शिकार होना पड़ता है। प्रजनन क्षमता में कमी या इनफर्टिलिटी के कई कारण हो सकते हैं, जैसे- उम्र का बढ़ना, तनाव, नशा-धुम्रपान और खराब जीवनशैली आदि। ऐसे में दंपत्ति IVF (In vitro fertilisation) का सहारा ले रहे हैं। लेकिन ज्यादातर मामलों में IVF की सफलता 30 से 40 फीसदी तक ही रहती है। Seeds Of Innocence एक ऐसा IVF सेंटर है, जो IVF की सफलता को बढ़ाने के लिए काम कर रहा है। इसका अपना जेनेटिक लैब है। जहां IVF के साथ प्री-इम्प्लांटेशन जेनेटिक स्क्रीनिंग और प्री-इम्प्लांटेशन जेनेटिक डाइग्नोसिस किया जाता है, जिससे IVF की सफलता 40  से 70 फीसदी बढ़ सकती है। 

आज के ओनलीमाईहैल्‍थ के इस हेल्‍थ टॉक में IVF और इसमें शामिल नई टेक्‍नोलॉजी के बारे में विस्‍तार से जानकारी दे रही हैं इंफर्टिलिटी और IVF एक्‍सपर्ट डॉक्‍टर गौरी अग्रवाल।

Read More Health Talk Video In Hindi

Disclaimer