विविधBy Onlymyhealth editorial teamMay 28, 2021

कोव‍िड के केसों में जैसे ही उछाल आया और कोव‍िड के केस बढ़ने के साथ ही सीटी-स्‍कैन करवाने वालों की संख्‍या भी बढ़ गई पर क्‍या वाकई कोव‍िड होने पर सीटी-स्‍कैन की जरूरत पड़ती है। इस बारे में हम इस वीड‍ियो में बात करेंगे। कोव‍िड से जुड़े सवालों के जवाब देने के ल‍िए ओनलीमायहेल्थ (Onlymyhealth) ने न्यूजवर्दी (Newsworthy) के साथ म‍िलकर एक खास सीरीज शुरू की है ज‍िसका नाम है 'COVID 19 आपके सवालों के स्पष्ट जवाब'। 

सीटी-स्‍कैन करवाने से पहले अपने लक्षण समझ लें। कोव‍िड होने के पहले हफ्ते में आपको माइल्‍ड लक्षण होते हैं पर फेफड़ों तक इंफेक्‍शन फैलने की आशंका बहुत कम रहती है। कोव‍िड होने के 8 से 14 बाद फेफड़ों में इंफेक्‍शन की शुरूआत होती है पर हर केस में ऐसा नहीं है। कोव‍िड के ज्‍यादातर मामले माइल्‍ड लक्षणों के ही हैं। अगर आपको कोव‍िड हुआ है तो पहले हफ्ते में आपको सीटी-स्‍कैन की जरूरत नहीं पड़ेगी। खुद को आइसोलेट रखें, ऑक्‍सीजन लेवल चेक करें। अगर ऑक्‍सीजन लेवल 94 से ऊपर है तो आप सेफ हैं। 

फेफड़ों की स्‍थ‍ित‍ि समझने के ल‍िए दो तरीके हैं। आप कुर्सी पर बैठ जाएं, हाथों को जांघों के ऊपर रखें। मुंह से गहरी सांस लें और रोकें और जब आपको सांस लेने में तकलीफ होने लगे तो कुछ सेकेंड सांस और रोककर नाक के जर‍िए सांस छोड़ दें। इस एक्‍ट‍िव‍िटी को आपको हर घंटे एक से दो बार करना है। अगर आप 20 से 25 सेकेंड तक सांस रोक पा रहे हैं तो आप ब‍िल्‍कुल सेफ हैं और फेफड़े स्‍वस्‍थ हैं। 

दूसरा तरीका है आप अपना ऑक्‍सीजन लेवल चेक कर लें और 6 म‍िनट तक अपनी नॉर्मल स्‍पीड में वॉक करें। उसके बाद ऑक्‍सीजन लेवल चेक करें। अगर स्‍तर पहले ज‍ितना ही आता है तो आपके फेफड़े स्‍वस्‍थ हैं। अगर ऑक्‍सीजन लेवल 3 से 4 प्‍वॉइंट कम आता है तो आप डॉक्‍टर से बात करें और सीटी-स्‍कैन करवाने के बारे में सलाह लें। इन तरीकों से आप पता लगा सकते हैं क‍ि आपको सीटी-स्‍कैन की जरूरत है या नहीं। सीटी-स्‍कैन से रेड‍िएशन का खतरा बढ़ता है इसल‍िए आपको बि‍ना डॉक्‍टर की सलाह लिए सीटी-स्‍कैन नहीं करवाना चाह‍िए।

Watch More Videos on Health Talk 

Disclaimer

Trending Topics

CT ScanCovidCorona