Health Videos »

ब्रिज करने का सही तरीका

Onlymyhealth Editorial Team, Date:2016-06-17
अकसर हम एक्सरसाइज में एब्‍स, बाइसेप्‍स, ट्राइसेप्‍स, चेस्‍ट आदि पर तो ज्यादा ध्‍यान देते हैं, लेकिन ग्‍लूट्स यानी नितंबो और कूल्‍हों को नज़रअंदाज़ कर देते हैं और इनकी एक्सरसाइज नहीं करते हैं। जिसके चलते नितंबो और कूल्हों पर चर्बी जमा होने लगती है। इस वजह से बिकनी और स्‍पोर्ट्स एक्टिविटीज करने वालों को अधिक समस्‍या हो सकती है। ग्‍लूटस की मांसपेशियों को मजबूत बनाने और यहां जमा अतिरिक्‍त चर्बी को कम करने के लिए हर रोज ब्रिज एक्‍सरसाइज करना बेहद लाभदायक होता है। ब्रिज एक्सरसाइज करने के लिए सबसे पहले चटाई पर कमर के बल लेट जाएं और बट्स को अंदर की तरफ भींचें और धीरे-धीरे अपने पैरों और हाथों का सहारा लेते हुए उन्हें फर्श से ऊपर उठा दें और सीधा कर लें और 30 सेकंड तक इस स्थिति में रहें। अब धीरे से बट्स को वापस पहले वाली स्थिति में ले आएं। इसके 10 रिपिटेशन करें। आप एडवांस ब्रिज पोज़ भी कर सकते हैं, जिसमें बस आपको ब्रिज पोजीशन में एक पैर को सामने की ओर सीधा करना होता है। इस एक्सरसाइज के नियमित अभ्यास से हिप्स की और कोर मसल्स पर काम होता है। फर्म और कर्वी होते हैं। ब्रिज एक्सरसाइज सभी कोर मांसपेशियों को सक्रिय करती है, खासतौर पर ट्रांसवर्स एब्डोमिनस (तोंद वाला हिस्सा), रेक्टस एब्डोमिनस (सिक्स पैक) और ऑब्लीक्वेस (हौरग्लास फिगर)। तो ब्रिज एक्सरसाइज को बदल-बदल कर अभ्यास करने से इन मांशपेशियों पर काफी असर होता है, और वे मजबूत बनती हैं। जब बात शरीर में ताकत बढ़ाने की हो तो मजबूत ग्‍लूट्स महत्वपूर्ण कारक साबित होते हैं। ऐसे में शरीर की शक्ति ही एथलेटिक प्रदर्शन को बेहतर बनाती है। ग्‍लूट्स को मजबूत बनाने से स्प्रिंट में तेजी आती है और छलांगें आदि लगाने में मदद मिलती है। जिससे एथेलीट मैदान में अच्छा प्रदर्शन कर पाते हैं।
Related Videos
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy. OK