गाइनीकोलॉजिस्ट चाहती हैं आप इन चीजों से करें परहेज

कुछ बातें और कुछ चीजें ऐसी हैं जिनके बारे में चिकित्सकों की राय है कि इससे महिलायें दूर ही रहें तो बेहतर हैं। आइए उन आदतों के बारे में विस्तार से जानते हैं।

Devendra Tiwari
Written by: Devendra Tiwari Published at: Dec 14, 2015

गाइनीकोलॉजिस्ट यानी महिला रोग विशेषज्ञ

गाइनीकोलॉजिस्ट यानी महिला रोग विशेषज्ञ
1/6

महिलाओं की आदतों का सबसे अधिक असर उनके स्वास्‍थ्‍य पर पड़ता है। लेकिन सवस्थ महिलाओं के लिए भी नियमित रूप से जांच कराने की सलाह दी जाती है। ऐसे में जाहिर सी बात है आपकी आदतों को अच्छे तरीके से चिकित्सक ही समझ सकता है। कुछ बातें और कुछ चीजें ऐसी हैं जिनके बारे में चिकित्सकों की राय है कि इससे महिलायें दूर ही रहें तो बेहतर हैं। आइए उन आदतों के बारे में विस्तार से जानते हैं।

इंटरनेट पर पढ़ी बातों पर यकीन करना

इंटरनेट पर पढ़ी बातों पर यकीन करना
2/6

जानकारी इकट्ठा करना बहुत ही अच्छा है, लेकिन उनका पालन करना गलत है। महिलाओं के साथ यह एक बड़ी समस्या है, कि वे अपनी सामान्य दिनचर्या और हार्मोन में हो रहे बदलाव के बारे में इंटरनेट पर जानकारी इकट्ठा करती हैं और बिना उसके पीछे के सच को जानें उसपर भरोसा करने लगती हैं। क्योंकि इंटरनेट पर दी गई जानकारी पूरी तरह से आपके लिए सही नहीं हो सकती है। कई बार सामान्य थकान ब्रेस्टं कैंसर हो सकता है, जननांगो पर रैशेज हर्पीज हो सकते हैं, आदि। इसलिए अगर आपको कोई समस्या है तो चिकित्सक से मिलें न कि इंटरनेट पर उसके बारे में पढ़कर भरोसा करें।

जिम के कपड़ों में रहना

जिम के कपड़ों में रहना
3/6

नियमित व्यायाम करना बहुत अच्छी आदत है, इससे आप बीमारियों से बचते हैं। लेकिन अगर आप जिम जाने के बाद गीले कपड़ों को बदलती नहीं है तो इससे बीमारियों को आप दावत देती हैं। क्योंकि गीले कपड़ों के कारण यीस्ट इंफेक्शेन हो सकता है। दरअसल नमी और गर्म वातावरण एक साथ मिलने के कारण संक्रमण के लिए जिम्मेदार कीटाणु पनपते हैं और इसके कारण महिलाओं के जननांगों में खुजली, लालिमा, यीस्ट संक्रमण आदि समस्या हो सकती है। इसलिए जैसे ही व्यायाम खत्म हो कपड़ों को तुरंत बदलें।

यौन संबंध के दौरान दर्द

यौन संबंध के दौरान दर्द
4/6

अगर आपको यौन संबंध बनाते वक्त दर्द होता है तो यह एक सामान्य समस्या, नही है। बॉल्टीमोर में महिलाओं पर हुए एक शोध में यह बात सामने आयी कि सेक्स संबंध बनाते वक्त अगर दर्द हो रहा हो तो इसके लिए कई कारण जिम्मेदार हो सकते हैं। जननांगों में सक्रमण, अपच, फाइब्रॉयड, एंडोमेट्रियोसिस, ओवेकरियन सिस्ट आदि के कारण दर्द होता है, इसका उपचार जल्द से जल्द करायें।

यीस्ट इंफेक्शन का खुद से उपचार

यीस्ट इंफेक्शन का खुद से उपचार
5/6

महिलाओं के जननांगों में कई तरह के संक्रमण होते हैं। लेकिन सामान्य तथा जानकारी के अभाव में महिलायें इसे यीस्ट इंफेक्शन समझती हैं और खुद से उपचार करने लगती हैं। इससे स्थिति गंभीर हो सकती है। सामान्यतया जननांगों में संक्रमण के लिए एलर्जी या यौन संचालित संक्रमण भी जिम्मेदार होता है। इसलिए अगर ऐसी किसी समस्या से आप ग्रस्त हैं तो इसका निदान करायें न कि खुद से उपचार करें।

मासिक धर्म के दौरान अधिक रक्तस्राव को सामान्य समझना

मासिक धर्म के दौरान अधिक रक्तस्राव को सामान्य समझना
6/6

महिलाओं को हर महीने मासिक धर्म से गुजरना पड़ता है। लेकिन कई बार इस अवधि में अधिक खून बहता है और इसके कारण उन्‍हें दिन में कई पैड बदलने पड़ते हैं। लेकिन अगर महिला विशेषज्ञों की मानें तो मासिक धर्म के दौरान अगर आपको बार-बार पैड बदलना पड़े तो इसे बिलकुल भी नजरअंदाज न करें, भले ही आपकी उम्र कुछ भी हो। सामान्यतया इस दौरान (3 से 7 दिन) महिलाओं का स्राव 80 मिलीमीटर या 5 चम्मच होना चाहिए।Image Source : Getty

Disclaimer