इन 5 आसान तरीकों से मिनटों में बढ़ाएं याद्दाश्‍त

मिलावटी और दूषित खानपान, तनाव और बिना बात के प्रेशर के चलते आजकल लोगों में कमजोर याद्दाश्‍त देखी जा रही है। आज हम आपको याद्दाश्‍त तेज करने के 5 आसान और जबरदस्त तरीके बता रहे हैं।

 ओन्लीमाईहैल्थ लेखक
Written by: ओन्लीमाईहैल्थ लेखकPublished at: Feb 28, 2017

अच्छा खानपान

अच्छा खानपान
1/5

भागदौड़ भरी जिंदगी के चलते बहुत कम लोग हैं जो समय पर भोजन कर पाते हैं। और जो समय पर करते भी हैं उनमें जरूरी पोषक तत्वों का अभाव रहता है। हमारे खानपान का जितना असर हमारे शरीर पर पड़ता है उतना ही हमारे मस्तिष्क पर भी पड़ता है। इसलिए तेज याद्दाश्‍त के लिए अच्छा और संतुलित आहार बहुत जरूरी ​है।

भरपूर नींद

 भरपूर नींद
2/5

जब तक हम लोग भरपूर नींद नहीं लेंगे तब तक हमारा दिमाग ठीक तरह से काम नहीं करेगा। जब आप पूरी नींद लेंगे तो आपको खुद ही महसूस होगा कि आपका दिमाग कितना फ्रेश है और सारी बातें आपके दिमाग में कतार लगा कर खड़ी हैं। इसलिए दिमाग को ठीक तरह से चलाने व याद्दाश्‍त बढ़ाने के लिए सबसे जरूरी है कि आप भरपूर नींद लें।

नियमित योग-एक्सरसाइज

नियमित योग-एक्सरसाइज
3/5

नियमित योग और एक्सरसाइज सिर्फ फिट रहने के लिए ही जरूरी नहीं है। बल्कि अपने दिमाग को संतुलित रखने व याद्दाश्‍त बढ़ाने के लिए भी योग और एक्सरसाइज बहुत जरूरी है। अगर आप सुबह सुबह कुछ देर मेडिटेशन यानि कि ध्यान करते हैं तो आपको खुद ही अपने दिमाग की तंदुरुस्ती का अहसास होगा।

झपकी

झपकी
4/5

एक शोध में पाया गया है कि दिन के वक्त कुछ देर की झपकी याददाश्त को बेहतर बनाने में कारगर है। इसलिए अगर आप वर्किंग हैं और 8 से 9 घंटे आॅफिस में बिताते हैं तो लंच के वक्त या बीच में कभी भी 2 से 3 मिनट के लिए झपकी जरूर लें। याद्दाश्‍त बढ़ाने का यह बहुत आसान और कारगार तरीका है।

सकारात्मकता

सकारात्मकता
5/5

बढ़ती प्रतिस्पर्धा और उसमें खुद को पिछड़ा हुआ देखकर कभी-कभी हम इतने नकारात्मक हो जाते हैं कि दिमाग ठीक से काम करना ही बंद कर देता है। अगर दिमाग ही ठीक से काम नहीं करेगा तो याद्दाश्‍त का कमजोर होना लाजमी है। इसलिए अपनी सोच को हमेशा सकारात्मक रखें। नकारात्मक बातों और माहौल से खुद को एकदम अलग रखें।

Disclaimer