जानें स्पीति वैली माउंटेन लवर्स के लिये क्यों है मक्का

समुद्रतल से 12500 फीट की ऊंचाई पर 13,800 वर्ग किलोमीटर फैली हिमाचल में मौजूद स्पीति वैली, जिसे माउंटेन लवर्स का मक्का कहा जाता है। चलिये जानें इसे मक्‍का क्‍यों कहा जाता है।

Rahul Sharma
Written by: Rahul SharmaPublished at: Jan 19, 2016

माउंटेन लवर्स का मक्का

माउंटेन लवर्स का मक्का
1/9

जिंदगी में थोड़ा जंगलीपन बेहद जरूरी है। वादियों और तेज़ बहते हुए पहाड़ी नदियों की कलकल के बीच वाला जंगलीपन! इस बात को मैने तब ठीक से महसूस किया, जब में पहली बार ट्रेकिंग के लिये गया। पहाड़ों की गोद में, गाडि़यों के हॉर्न और धुएं से दूर, बॉस और ऑफिस की मारा-मारी से इतर, कल क्या होगा और ज़माने की अंधी, कभी खत्म ना होने वाली दौड़ से हट कर, एक ऐसा जन्नत जिसका अहसास शायद हर वो इंसान कर सकता है, जिसे ट्रेवलिंग का थोड़ा भी शौक है, या फिर नहीं भी। एक ऐसी ही जगह है हिमाचल में मौजूद स्पीति वैली, जिसे माउंटेन लवर्स का मक्का कहा जाता है। और हो भी क्यों ना, यहां पहुंचकर जिंदगी अचानक इतनी खूबसूरत जो लगने लगती है। ठंडी हवा मानों फेफड़ों को सहलाते हुए निकल जाती है... पानी का एक घूंट ऐसा जैसे फ्रांस की कोई बेहतरीन वाइन... बादल इतने शरारती कि मानो आपकी टोपी खींचकर भागने की कोशिश कर रहे हों। अगर आप ट्रेवलिंग के ज़रा भी शौकीन हैं, पहाड़ों से प्यार करते हैं, तो माउंटेन लवर्स के इस मक्का, स्पीति वैली के बारे में जानें। Image Source - Getty

12500 फीट (3800 मीटर) की ऊंचाई पर मौजूद

12500 फीट (3800 मीटर) की ऊंचाई पर मौजूद
2/9

समुद्रतल से 12500 फीट (3800 मीटर) की ऊंचाई पर 13,800 वर्ग किलोमीटर फैली चीन की सीमा से सटी स्पीति वैली की नज़रा अदभुद है। स्पीति वैली की पहली झलक वाला वो पल कभी नहीं भुलया जा सकता है। Image Source: paintedstork.com

चंद्रताल लेक पर कैंपिंग

चंद्रताल लेक पर कैंपिंग
3/9

इस घाटी में दर्जनों खूबसूरत झीलें हैं, जिन तक ट्रेकिंग कर उनके किनारे कैंपिंग का लुफ्त उठाया जा सकता है। इसमें से एक सबसे खूबसूरत, चंद्रताल लेक के किनारे, बेहद नज़दीक जगमगाते सितारों की चादर के नीचे कैंपिंग करने का मज़ा आपके लिये वाकई जीवन के सबसे खूबसूरत पलों में से एक हो सकता है।    Image Source: manalideals.com

पिन वैली से मिल्की वे व्यू

पिन वैली से मिल्की वे व्यू
4/9

पिन वैली (Pin Valley) से मिल्की वे (Milky Way) का दृष्य रात के वक्त ऐसा होता है, मानो जन्नत के दरवाज़े के सामने खड़े हों। यकीन मानियेगा, इस तरह का दृष्य कम ही जगह देखने को मिलता है। पिन वैली को बुचन लामा (Buchen Llamas), जोकि एक ऊंट और याक के मिले जुले रूप वाला जानवर है, की धरती भी कहा जाता है, जिसे स्थानीय लोगों द्वारा पूजा जाता है ताकि बुरी बलाओं को दूर किया जा सके। Image Source: Pinterest | 500px

काई गोम्पा मोनेस्ट्री

काई गोम्पा मोनेस्ट्री
5/9

यहां 996 ईसवी पुराने पर्वतों के बीच यहां एक बेहद सुंदर मोनेस्ट्री (मठ) है। काई गोम्पा (Kye Gompa) एक तिब्बती बौद्ध मठ है, जोकि स्पीति नदीं के बेहद नज़दीक और समुद्र तल से 4,166 मीटर (13,668 फीट) की ऊंचाई पर एक पहाड़ी की चोटी पर स्थिति है। ये स्पीति में मौजूद अनेक मठों में से एक है। यह बौद्ध धर्म का केंद्र माना जाता है, जोकि इस आत्मा की खोज के लिए एक आदर्श जगह बनाता है। यहां आकर बेहद रूहानी अहसास होता है। Image Source: getty

एशिया का सबसे ऊंचा वाहन चलाया जा सकने वाला गांव

एशिया का सबसे ऊंचा वाहन चलाया जा सकने वाला गांव
6/9

स्पीति वैली में एशिया का सबसे ऊंचा बाहन चलाए जा सकने वाला गांव है। कोमिक (Komik) एक सुंदर गांव है, लेकिन सर्दियों में यहां का तापमान -30 डिग्री सेल्शियस तक गिर जाता है। 50 से 60 लोगों की आबादी वाले इस गांव में शहरों में मौजूद हमारे घरों की तुलना में हर घर में आलीशान लॉन हैं, जो यहां के हर बाशिंदे को सर्दियों में धूप सेंकने की पूरी जगह देते हैं। यहां आपको स्थानीय लोगों और उनकी संस्कृति को जान ने का अद्भुत अवसर मिलता है। यहां ज्यादातर रुकने की जगह लोकल लोगों के घरों में ही हैं, जहां रुक कर आप इस कमाल की जगह का असली मज़ा ले सकते हैं।  Image Source: zigwheels.com

याक की सवारी

याक की सवारी
7/9

आपने याक की सवारी के बारे में तो सुना होगा! स्पीति वैली में आप याक की सवारी का लुफ्त भी उठा सकते हैं। Image Source: wordpress.com

स्पीति नदी में वॉटर स्पोर्ट

स्पीति नदी में वॉटर स्पोर्ट
8/9

अगर आप एडवेंचर का शौक रखते हैं और आपका दिल मजबूत है तो, स्पीति नदी आपके लिये एक बेस्ट स्पॉट हो सकती है। आप यहां की तेज बेहती, तूफानी नदीं में वाटर स्पोर्ट का मज़ा ले सकते हैं। लेकिन ध्यान रहे ये बेहद तेज नदी है। Image Source: traveltriangle.com

चाचा-चाची चाय

चाचा-चाची चाय
9/9

अगर आप स्पीति जाने के लिये बैग पैक कर चुके हैं तो आपको बता दें कि स्पीति के बातल जिले की मशहूर चाय की चुस्कियां मारना ना भूलियेगा। इस दुकान के मालिको को स्थानीय निवासी चाचा और चाची कह कर बुलाता हैं और ये दोनों प्यार और स्नेह की प्रतिमूर्ति हैं। ये 41 से भी ज्यादा सालों से पर्यटकों की सेवा कर रहे हैं। Image Source - thewanderingrider

Disclaimer