सात कारण आखिर क्‍यों देते हैं धोखा पुरुष

आखिर पुरुष अपनी पत्‍नी के साथ धोखा क्‍यों करते हैं। इसके कारणों पर लंबी बहस हो सकती है। कई बार वह खुद को उपेक्षित महसूस करते हैं तो कई बार अन्‍य मानसिक कारण।

Rahul Sharma
Written by: Rahul SharmaPublished at: Dec 20, 2014

पुरुष क्‍यों देते हैं धोखा

पुरुष क्‍यों देते हैं धोखा
1/8

पुरुष अपनी पत्‍नी के साथ धोखा क्‍यों करते हैं, इसके कारणों पर लंबी बहस हो सकती है। कई बार वह खुद को उपेक्षित महसूस करते हैं तो कई बार अन्‍य मानसिक कारण। हालांकि, इन सब कारणों के मूल में सबसे बड़ी वजह यह होती है कि वे समझते हैं कि वे कभी पकड़े नहीं जाएंगे और यही 'बेपरवाही' उन्‍हें ये सब काम करने को उकसाती हैं। Images courtesy: © Getty Images

शादी में अशांति

शादी में अशांति
2/8

घर पर पत्‍नी के साथ रोजाना झगड़ा होता रहता है, और अकसर उन झगड़ों का कोई नतीजा भी नहीं निकलता। इसके बाद पुरुष लगातार नाखुश और परेशान रहने लगता है। इस तरह की परिस्‍थ‍िति में या तो वह लड़ सकता है या फिर इस संबंध से अलग होने के बारे में विचार कर सकता है। अफेयर के बारे में सोचने का अर्थ यह है कि वह रिलेशनशिप में आ रही परेशानियों से बचकर जाना चाहता है। साथ ही, वह उस दूसरे व्‍यक्ति के साथ खुश है। उस दूसरी महिला को वह समानांतर सहयोग के तौर पर देखता है। एक ऐसे रिश्‍ते के तौर पर जो उसके जीवन में चल रही परेशानियों को दूर करने में मददगार हो सकता है। Images courtesy: © Getty Images

शादीशुदा जीवन में बोरियत

शादीशुदा जीवन में बोरियत
3/8

कुछ पुरुषों को लगता है कि उनका सामान्‍य शादीशुदा जीवन थकाऊ और सुस्‍त हो चुका है। ऐसे पुरुष अपने लिए प्राथमिकतायें बदलने के बारे में विचार करते हैं। वे सोचते हैं कि बाहर उन्‍हें वह स्‍पार्क मिल जाएगा जो फिलहाल उनकी शादीशुदा जिंदगी से नदारद है। यानी वे शादी की चुनौतियों से बचकर दूसरे रास्‍ते तलाशना बेहतर विकल्‍प मानते हैं। ऐसे पुरुष लंबे और चुनौतीपूर्ण रास्‍ते को छोड़कर फौरी फायदे को अधिक तवज्‍जो देते हैं। विवाहेत्‍तर संबंध उन्‍हें आसान और नया अनुभव देते हैं। ये सब चीजें उन्‍हें अपने मौजूदा रिश्‍ते को जोखिम में डालने के लिए प्रेरित करती हैं।Images courtesy: © Getty Images

भावनात्‍मक असंतोष

भावनात्‍मक असंतोष
4/8

कभी स्त्रियां अपने ही जीवन में काफी व्‍यस्‍त हो जाती हैं। उनका अपना काम, बच्‍चों की परवरिश, सास-ससुर की देखभाल और माता-पिता के साथ संबंधों में सामंजस्‍य बैठाकर रखना। ये सब जिम्‍मेदारियां एक स्‍त्री को उठानी पड़ती हैं। इस दौरान पुरुष को लगता है कि उनके साथी के पास उनके लिए वक्‍त ही नहीं है। यह बात भी सही है कि पुरुष भी भावुक होते हैं। अधिकतर पुरुषों को लगता है कि उन्‍हें भावनात्‍मक रूप से स्‍वयं को मजबूत दिखाना चाहिए। अपनी पीठ पर किसी का हाथ उन्‍हें अच्‍छा नहीं लगता। यही वजह है कि उनकी भावनात्‍मक आवश्‍यकतायें अकसर अनदेखी रह जाती हैं। Images courtesy: © Getty Images

भावनात्‍मकता का इतिहास

भावनात्‍मकता का इतिहास
5/8

संभव है कि कुछ पुरुषों ने बचपन में अपने माता-पिता के संबंधों में धोखा देखा हो। ऐसे में उनके दिमाग में कहीं न कहीं यह संदेश जाता है कि धोखा देना 'ठीक' है। हालांकि, अंतर्मन में कहीं न कहीं उन्‍हें यह मालूम होता है कि यह सही नहीं है। हम सब अपने माता-पिता से काफी कुछ सीखते हैं और बच्‍चों पर अपने परिवार का काफी असर पड़ता है। इसके साथ ही यह बात भी सामने आयी है कि सहोदरों अथवा करीबियों द्वारा धोखा दिया जाने से लोग काफी कुछ सीखते हैं। कई बार किशोरावस्‍था और युवावस्‍था में पुरुषों के कई रिलेशनशिप होते हैं। ऐसे पुरुष जानबूझकर या दुर्घटनावश अपनी एक्‍स-गर्लफ्रेंड के पास चले जाते हैं। और वहीं कहीं एक बार फिर मल्‍टीपल रिलेशन की ओर चले जाते हैं। यह बात सही ही कही गयी है कि आप जैसा सोचते हैं, वैसे ही हो जाते हैं। इसके साथ ही, कई महिलायें भी ऐसे भावुक पुरुषों की चाह रखती हैं। Images courtesy: © Getty Images

पत्‍नी का धोखा

पत्‍नी का धोखा
6/8

कई बार पुरुष अपनी पत्‍नी के धोखे का बदला लेने के लिए भी यह राह अपनाते हैं। वे खुद कई रिलेशनशिप रखकर अपनी पत्‍नी से बदला लेना चाहते हैं। बावजूद इसके कि उनकी बीवी ने उनके पास आकर विवाहेत्‍तर संबंधों के बारे में स्‍वीकारोक्ति कर ली हो, कुछ मर्द बदला लेने का विचार मन में पाले रखते हैं। ये वे पुरुष होते हैं जो अपने साथी को माफ नहीं करना चाहते। Images courtesy: © Getty Images

तलाक के इच्छुक

तलाक के इच्छुक
7/8

कुछ पुरुष जानबूझकर धोखा देने की राह चुनते हैं। वे अपने साथी से अलग होना चाहते हैं, लेकिन इसके लिए उन्‍हें सही तरीका नहीं मिलता। इसलिए वे धोखे की राह चुनते हैं। कानूनी तौर पर भी धोखे को पत्‍नी के लिए तलाक का मजबूत आधार माना जाता है। खुलेआम धोखा देने वाला पुरुष अपनी बीवी के गुस्‍से और उसकी भावनाओं की कद्र नहीं करता। हालांकि ऐसे पुरुष कम ही होते हैं, लेकिन होते जरूर हैं। Images courtesy: © Getty Images

जरूरतें पूरी न होना

जरूरतें पूरी न होना
8/8

जब पुरुषों को यह अहसास होता है कि उनकी पत्‍नी को अब उनकी जरूरत नहीं है, तो वे किसी दूसरी महिला की ओर आकर्षित होने लगते हैं। उन्‍हें किसी ऐसी महिला की तलाश होती है जो उन्हें समझ सके और उसे खास होने का अहसास करा सके। ये दोनों बातें किसी भी रिलेशनशिप से बुनियादी मांग होती है। जब उन्‍हें घर पर वह ध्‍यान और आकर्षण नहीं मिलता, तो शादीशुदा जीवन से बाहर इसकी तलाश करने लगते हैं। Images courtesy: © Getty Images

Disclaimer