जानें, क्‍यों त्‍वचा के प्रकार के अनुसार साबुन चुनना है जरूरी

त्वचा कई प्रकार की होती है जैसे तैलीय, रूखी , संवेदनशील आदि। हर तरह की त्वचा की देखभाल भी अलग अलग तरह से करनी पड़ती है। इसलिए त्वचा के अनुसार साबुन का प्रयोग करना चाहिए। त्वचा के अनूरूप साबुन के बारे में जानने के लिए ये स्लाइडशो पढ़े।

Aditi Singh
Written by: Aditi Singh Published at: May 27, 2016

तैलीय त्वचा के लिए

तैलीय त्वचा के लिए
1/5

तैलीय त्वचा वालों के लिए साबुन में सिट्रिक एसिड जैसे पदार्थ होने चाहिए क्योंकि ये एक प्राकृतिक टोनर और क्लीन्ज़र का काम करता है। साबुन में लैक्टिक एसिड होने से ये अतिरिक्त तेल को सोख लेते हैं। इन साबुनों से त्वचा को नमी भी मिलती है।अल्फा हाइड्रोक्सी एसिड और सेलिसैलिक एसिड युक्त साबुन त्वचा में जान डालते हैं और रक्त संचार बढ़ाते हैं।Image Source-Getty

साधारण त्वचा

साधारण त्वचा
2/5

साधारण त्वचा को हमेशा कोमल साबुन से ही धोना चाहिये। इस तरह के साबुनों में तेल, शिया बटर, पैराफिन वैक्स, ग्लिसरीन आदि चीजों का प्रयोग किया जाता है, जो आपकी त्वचा को मुलायम बनाये रखने में मदद करते हैं। ये त्वचा को केमिकल के प्रभाव से बचाते हैं। इनका इस्तेमाल कोई भी कर सकता है क्योंकि इनके साइड इफेक्ट कम होते हैं।  Image Source-Getty

मुहांसों वाली त्वचा के लिए

मुहांसों वाली त्वचा के लिए
3/5

पिंपल हटाने के लिए pH मान को संतुलित रखना बहुत जरूरी होता है, इससे चेहरा साफ़ होता है।कुछ चिकित्सकीय साबुनों की सहायता से चेहरे पर से कील मुंहासे, धूल, तेल को बिना चेहरे को रूखा किये हुए हटाया जा सकता है| इनमें मौजूद , जिंक पीसीए, ट्रीक्लोसान, सैलिसिलिक एसिड, ईथाइल लेक्टेट और तेल जैसे टी ट्री तेल, जैतून का तेल आपके पिंपल्स की समस्या को कम करने में मदद करते है। Image Source-Getty

संवेदनशील त्वचा

संवेदनशील त्वचा
4/5

अगर आपकी त्वचा काफी संवेदनशील है तो आपको खुशबू वाले साबुनों एवं डाई से दूर रहना चाहिए क्योंकि सुगंध और फैब्रिक डाई संवेदनशील त्वचा को नुक्सान पहुंचा सकते हैं। ऐसी त्वचा के लिए आपको हाइपोएलर्जेनिक साबुन का इस्तेमाल करना चाहिए। ऐसी त्वचा वाले लोग मलाई युक्त साबुन का इस्तेमाल कर सकते हैं।Image Source-Getty

रूखी त्वचा

रूखी त्वचा
5/5

रूखी त्वचा टाइप वालों के लिए ग्लिसरीन युक्त साबुन फायदेमंद होता है। आपको इसकी आवश्यकता ठण्ड के मौसम में अधिक पड़ेगी क्योंकि इन महीनों में आपकी त्वचा सामान्य से अधिक सूखना शुरू हो जाती है। सूखी त्वचा का मतलब है काफी कम मात्रा में तेल का तेल उत्पादन होना जो आपकी त्वचा को कठोर मौसमों का सामना करने से रोकती है।Image Source-Getty

Disclaimer