इन कारणों से अपने बेस्‍ट फ्रेंड को न करें डेट

दोस्त को प्यार करना और अपने प्यार को दोस्त बनाना दो अलग-अलग बाते हैं, लेकिन दोस्‍त के साथ डेटिंग करना कहां तक सही है, इसके बारे में इस स्‍लाइडशो में जानते हैं।

Gayatree Verma
Written by:Gayatree Verma Published at: Dec 04, 2015

इसलिए दोस्त को ना करें डेट

इसलिए दोस्त को ना करें डेट
1/6

दोस्ती इस दुनिया का सबसे गहरा और पवित्र रिश्ता होता है जहां न कोई शिकवा है और न कोई शिकायत। जब सारे रिश्ते मुंह मोड़ते हैं तो दोस्ती ही कंधा देती है। इस कारण ही कई बार लोग अपने सबसे अच्छे दोस्त में ही अपना पार्टनर ढूंढने लगते हैं और फिर शुरू होती है समस्याएं। इन समस्याओं के बारे में इस स्लाइड शो में विस्तार से पढ़ें।

अटपटा है ये

अटपटा है ये
2/6

आपको नहीं लगता कि ये कुछ अटपटा है। अब तक जिसके साथ आप अपने ब्वॉयफ्रेंड या गर्लफ्रेंड की शिकायत कर रहे थे आज वो ही इस रिश्ते में आपके सामने खड़ा है। ऐसे में कुछ समय के बाद रिश्ते में असहजता का आना लाज़िमी है। उसके बाद ना दोस्ती बचती है ना रिलेशनशिप।

आपको पूरी तरह से जानना

आपको पूरी तरह से जानना
3/6

एक इंसान को उसके दोस्त से ज्यादा अच्छी तरह से कोई नहीं जानता। मतलब उनको आपके सारे राज पता हैं और आप उन्हें किसी भी तरह से धोखा या इग्नोर कर पाने की स्थिती में नहीं रहते। ऐसे में ये स्थिति खतरनाक हो सकती है।

नहीं रहेंगे दोस्त

नहीं रहेंगे दोस्त
4/6

सबसे अच्छे दोस्त को डेट करना मतलब अब आप दोनों दोस्त से ज्यादा कुछ हैं और आपके ऊपर दूसरे रिश्ते को निभाने की भी जिम्मेदारी है। ऐसे में आपका व्यवहार और स्थितियां सबकुछ बदल जाएंगी।

रिश्ते को नहीं तोड़ सकते

रिश्ते को नहीं तोड़ सकते
5/6

इससे पहले के रिश्तों में समस्या होने पर आपके पास उसे खत्म करने का विकल्प था। लेकिन अब ये विकल्प आपके पास नहीं है। अब रिश्ते को तोड़ने का मतलब है अपने सबसे अच्छे दोस्त को खोना।

दोस्त की कमी

दोस्त की कमी
6/6

पार्टनर तो कोई भी चुन लो लेकिन दोस्त बहुत मुश्किल से मिलते हैं। ऐसे में अच्छा दोस्त खोने का मतलब है जिंदगी में कोई भी ऐसे शख्स का ना होना जिसके सामने आप रो सके या शिकायत कर सको।

Disclaimer