6 कारण कि क्यों वेस्‍टर्न से बेहतर हैं इंडियन टॉयलेट

कई मामलों में हम पश्चिमी देशों के लोगों से बेहतर हैं, जैसे कि शौचालय। सुनने में यह शायद आपको अटपटा भले ही लगे, लेकिन इन कारणों से हमारे टॉयलेट, वेस्‍टर्न टॉयलेट की तुलना में ज्यादा बेहतर हैं।

Rahul Sharma
Written by: Rahul SharmaPublished at: Nov 30, 2015

इंडियन टॉयलेट बनाम वेस्‍टर्न टॉयलेट

इंडियन टॉयलेट बनाम वेस्‍टर्न टॉयलेट
1/6

कइ बात में कोई शक नहीं कि यूरोप को कई मामलों में हमसे ज्यादा विकसित माना जाता है, जैसे सिनेमा, अंतरिक्ष शोध व विज्ञान व ऐसी कुछ और भी चीजें। लेकिन इसका ये मतलब कतई नहीं की उनकी सारी चीज़ें हमसे बेहतर हैं। कई मामलों में हम उनसे इक्कीस हैं, जैसे कि शौचालय। सुनने में यह शायद आपको अटपटा भले ही लगे, लेकिन यह सच है। चलिये बताते हैं कैसे -Images source : © Getty Images

शौच भी, एक्‍सरसाइज भी

शौच भी, एक्‍सरसाइज भी
2/6

एक्‍सरसाइज के अमूल्य फायदों से हम सभी वाकिफ हैं। लेकिन अधिकांश लोग इसके फायदों से वाकिफ होने के बावजूद, एक्‍सरसाइज कर नहीं पाते हैं। तो आपको बता दें कि इंडियन टॉयलेट का इस्‍तेमाल करना खुद में एक एक्सरासाइज है। इंडियन टॉयलेट में उखड़वा उठना-बैठना और हाथों का इस्‍तेमाल करना पड़ता है। इससे ब्‍लड सर्कुलेशन बेहतर होता है। जबकि वेस्‍टर्न टॉयलेट में बहुत ज्यादा आराम तलबी होती है और ज्‍यादा मुवमेंट नहीं हो पाता। Images source : © Getty Images

पानी बर्बाद होने से बचता है

पानी बर्बाद होने से बचता है
3/6

वेस्‍टर्न टॉयलेट में ज्‍यादा पानी बर्बाद होता, बावजूद इसके हाइजीन की कोई गारंटी भी नहीं होती है। इसके लिए आपको टॉयलेट पेपर की ज़रूरत पड़ती है। दूसरी तरफ इंडियन टॉयलेट में सफाई के लिए कम पानी का इस्‍तेमाल होता है और सफाई भी बेहतर हो जाती है।Images source : © Getty Images

पाचन क्रिया ठीक बनी रहती है

पाचन क्रिया ठीक बनी रहती है
4/6

इंडियन टॉयलेट में बैठने पर पेट पर कुछ इस तरह से हल्का दबाव बनता है कि शौच ठीक प्रकार से हो पाता है। खासतौर पर भारतीयों को तो इस तरह से बैठने पर बेहतर शौच होता है। अकसर शुरुआत में भारतीय लोगों को वेस्‍टर्न टॉयलेट इस्तेमाल करने पर डाइजेशन से जुड़ी समस्‍याएं भी होती हैं।Images source : © Getty Image

ज्यादा सफाई रहती है

ज्यादा सफाई रहती है
5/6

इंडियन टॉयलेट की बनावट इस तरह की होती हैं कि आपके शरीर को कमोड से कोई सीधा संपर्क नहीं होता है, जबकि वेस्‍टर्न टॉयलेट में हर इस्तेमाल पर कमोड के साथ शरीर का संपर्क होता है, जिससे कीटाणुओं के फैलने का खतरा रहता है। Images source : © Getty Images

प्रयोग में आसान होते हैं इंडियन टॉयलेट

प्रयोग में आसान होते हैं इंडियन टॉयलेट
6/6

इंडियन टॉयलेट की सबसे बड़ी खासियत यह है कि इसका प्रयोग आसानी से किया जा सकता है, और कहीं बाहर होने पर भी (पब्लिक टॉयलेट) आप इसका इस्तेमाल कर सकते हैं। जबकि पब्लिक वेस्‍टर्न टॉयलेट के ज़रा से गंदे होने पर भी इसका इस्तेमाल नहीं किया जा सकता है। Images source : © Getty Images

Disclaimer