क्‍यों आता है रात में सोते हुए पसीना

बड़ी संख्‍या में लोग रात में पसीने की समस्‍या से परेशान है। लेकिन कुछ मामलों में, समस्‍या बढ़ने से पहले रात में पसीने के कारणों को समझाना बहुत जरूरी होता है। यहां पर रात को कपड़ों और बिस्‍तर की चादरों के भीगने के पीछे कारणों में से कुछ कारण दिये गये है।

Pooja Sinha
Written by: Pooja SinhaPublished at: Oct 17, 2014

रात में अधिक पसीने के कारण

रात में अधिक पसीने के कारण
1/10

कई स्‍वास्‍थ्‍य देखभाल प्रदाकता, अक्‍सर रात में पसीने से परेशान लोगों के रूबरू होते हैं। रात में पसीने की समस्‍या में रात के दौरान अत्‍यधिक पसीना आता है। हालांकि, असामान्‍य रूप से गर्म कमरे या बहुत सारे कपड़े पहनने के साथ बिस्‍तर पर जाने पर रात में पसीना सामान्‍य होता है। लेकिन कुछ मामलों में, समस्‍या बढ़ने से पहले रात में पसीना आने के पीछे कारणों को समझना होगा। image courtesy : getty images

हॉट फ्लैशेस

हॉट फ्लैशेस
2/10

रात में हॉट फ्लैशेस की समस्‍या होने पर आपको असामान्‍य रूप से पसीना आने लगता है, जिससे आपके कपड़ों के साथ-साथ आपकी बैडशीट भी भीग जाती है, लेकिन यह पसीना गर्म कमरे से संबधित होता है। हालांकि रात में अधिक पसीना आने के पीछे कई कारण हो सकते हैं। कारणों को सफलतापूर्वक जानने के लिए, डॉक्‍टर चिकित्‍सा के इतिहास के बारे में जानकारी लेकर परीक्षण आयोजित करता है। रात में पसीना आने के कुछ कारणों को यहां सूचीबद्ध किया गया है। image courtesy : getty images

रजोनिवृत्ति

रजोनिवृत्ति
3/10

रजोनिवृत्ति के बाद महिलाओं को अचानक से गर्मी की अनुभूति ज्‍यादा होने लगती है। जिससे उन्‍हें अचानक से अत्‍यधिक पसीना आने लगता है। खासतौर पर रात में नींद के दौरान बहुत अधिक पसीना आने लगता है। कुछ मामलों में, पसीना इतना अधिक होता है कि महिला की कपड़े और चादर तक भीग जाती है। यह महिलाओं में पसीना आने का एक आम कारण होता है। image courtesy : getty images

हाइपरहाइड्रोसिस

हाइपरहाइड्रोसिस
4/10

बिना किसी कारण के शरीर से पसीने का निकलना मेडिकल समस्या है, जिसे हाइपरहाइड्रोसिस कहते हैं। जो लोग इस रोग से पीड़ित होते हैं उनके पसीने के ग्लैंड्स आवश्यकता से अधिक सक्रिय होते हैं। अगर आप इस समस्‍या से पी‍ड़‍ित है तो बहुत ज्‍यादा पसीना आपके लिए आश्चर्य के रूप में नहीं आना चाहिए। image courtesy : getty images

क्षय रोग

क्षय रोग
5/10

यह रोग रात में पसीना आने के सबसे सामान्य कारणों में से एक हो सकता है। इसके अलावा, जीवाणु संक्रमण जैसे एंडोकार्डिटिस, ओस्टीओमीएलईटिस और अब्सेंसेस रात में अधिक पसीना पैदा करता है। एचआईवी संक्रमण रात में पसीने का एक और संभावित कारण हो सकता है। image courtesy : getty images

कैंसर

कैंसर
6/10

कैंसर के कुछ प्रकार के प्रारंभिक लक्षणों में रात में पसीना आना शामिल हैं। रात में पसीना के साथ जुड़ा कैंसर का सबसे आम प्रकार लिंफोमा है। लेकिन, जिन लोगों में कैंसर का निदान नहीं हुआ है उनमें अक्सर अस्पष्टीकृत वजन घटाने और बुखार जैसे अन्य लक्षण में देखे जा सकते हैं। image courtesy : getty images

दवाएं

दवाएं
7/10

कुछ दवाएं भी रात को पसीना पैदा कर सकती है। रात में पसीने के कारणों में सबसे आम प्रकार की अग्रणी दवाओं में अवसादरोधी दवाएं शामिल है। और लगभग 8 प्रतिशत से 22 लोग इसको लेने के बाद रात में पसीने का अनुभव करते हैं। इसके अलावा, कुछ अन्य मनोरोग दवाओं को भी रात में पसीने के साथ जुड़ा हुआ पाया गया है। image courtesy : getty images

लो ब्‍लड प्रेशर

लो ब्‍लड प्रेशर
8/10

लो ब्‍लड प्रेशर से ग्रस्‍त लोगों को रात में पसीना आना बहुत आम बात है। जो लोग मौखिक डायबिटीज की दवाएं या इंसुलिन की खुराक लेते है, वह रात में हाइपोग्‍लाइसीमिया से पीड़‍ित होते है, जिसमें बहुत अधिक पसीना आता है। image courtesy : getty images

हार्मोन संबंधी विकार

हार्मोन संबंधी विकार
9/10

हार्मोंन्स में गड़बड़ी के कारण भी रात में पसीना आने की समस्‍या होती है। पसीना या निस्तब्धता फीयोक्रोमोसाइटोमा, कार्सिनॉइड सिंड्रोम और हाइपरथाइरॉयडिज्‍म सहित हार्मोन संबंधी विकार, का परिणाम हो सकता है। image courtesy : getty images

न्यूरोलॉजिकल अवस्‍था

न्यूरोलॉजिकल अवस्‍था
10/10

दुर्लभ न्यूरोलॉजिकल अवस्‍था जैसे ऑटोनोमिक डिरेफ्लेक्सिया, पोस्ट्रॉमैटिक सीरिंगोमाइलिया स्टोक और ऑटोनोमिक न्यूरोपैथी के कारण भी रात को पसीना आता है। image courtesy : getty images

Disclaimer