ये हैं इश्‍क से संबंधित खतरनाक फोबिया

प्‍यार में इंसान अंधा हो जाता है ये बात भले ही सामान्‍य हो लेकिन इसी प्‍यार के कारण फोबिया हो जाता है, आपको यकीन नहीं हो रहा है तो इस स्‍लाइडशो को पढ़ें।

Gayatree Verma
Written by: Gayatree Verma Published at: Apr 27, 2017

इश्क और इश्क से डर

इश्क और इश्क से डर
1/6

डरा हुआ इंसान प्यार मिलने पर ही सामान्य हो पाता है। लेकिन जब प्यार ही इंसान को डराने लगे तो क्या किया जाए? हां ये पढ़कर कई लोगों को हैरानी हो सकती है कि प्यार से भी किसी को डर लग सकता है। लेकिन ये डर कई बार इंसान में फोबिया का भी कारण बन जाता है जिस कारण इन डर को लवफोबिया कहा जाता है। लवफोबिया कई तरह के होते हैं जिनके बारे में जानकारी होनी चाहिए। क्योंकि कई बार इनकी जानकारी नहीं होने पर कई लोगों की लव लाइफ खराब हो जाती है। इसलिए इन प्रमुख लवफोबिया के बारे में जानें और उन्हें समझेँ।

कमिटमेंटफोबिया - कमिट होने से लगता है डर

कमिटमेंटफोबिया - कमिट होने से लगता है डर
2/6

इस फोबिया में व्यक्ति को हमेशा ऐसा लगता है कि वह दूसरों से कोई वादा नहीं कर सकता। ऐसे लोग रिलेशनशिप में कमिटमेंट करने से डरते हैं। जो किसी को भी रिलेशनशिप में कमिटमेंट नहीं कर सकता, ऐसे ज्यादातर इंसान कमिटमेंटफोबिया से ग्रस्त होते हैं। ये फोबिया पुरुषों में अधिक होता है। ये फोबिया 20 या 30 प्रतिशत लोगों को होता है। ये फोबिया अन्य फोबिया की तरह है। विशेषज्ञ का इस फोबिया से ग्रस्त लोगों के लिए मानना है कि, ऐसे लोग किसी भी तरह के फैसले लेने और उनके नतीजों का सामना करने से डरते हैं।

मेट्रोफोबिया- कविताओं से लगता है डर

मेट्रोफोबिया- कविताओं से लगता है डर
3/6

अगर आपको प्यार में रोमांटिक बातें करना अच्छा लगता है और वहीं आपका पार्टनर इन सब चीजों से दूर भागता है तो उस पर प्रेशर ना डालें और ना ही उनसे रुठें। आपके पार्टनर को मोट्रोफोबिया है। इस फोबिया से ग्रस्त इंसान कविता या रुमानी बातें नहीं कर पाता। ये एक तरह का कविताओं से लगने वाला  डर है जिनका कारण विशेषज्ञ स्कूल के दिनों में शिक्षकों द्वारा जबरदस्ती कविता पाठ करवाने को मानते हैं। मेट्रोफोबिया ग्रस्त व्यक्ति को कविताओं से डर लगता है और ये अपने लवलेटर किसी ओर से लिखवाते हैं।

ज़ोकोलेटोफोबिया - चॉकलेट नहीं खाते

ज़ोकोलेटोफोबिया - चॉकलेट नहीं खाते
4/6

हर्ट-शेप चॉकलेट बॉक्स प्यार में दिया जाने वाला सबसे प्यारा गिफ्ट है। वैलेंटाइन्स डे में सबसे ज्यादा गिफ्ट के तौर पर ये हर्ट-शेप चॉकलेट बॉक्स ही दिए जाते हैं। लेकिन ये रोमेंटिक गिफ्ट ज़ोकोलेटोफोबिया से ग्रस्त व्यक्ति को डरा सकता है। ज़ोकोलेटोफोबिया ग्रस्त इंसान को चॉकलेट से डर लगता है। यह एक तरह का फुड फोबिया है और ये कई लोगों को होता है। इस फोबिया के कारण कई जोड़ों का वैलेंटाइन्स डे खराब हुआ है।

फिलेमेटोफोबिया - किस से डरता है इंसान

फिलेमेटोफोबिया - किस से डरता है इंसान
5/6

अगर आपका पार्टनर आपसे दूर रहता है और आपको किस करने से डरता है तो शायद वो फिलेमेटोफोबिया से ग्रस्त है। इस फोबिया से ग्रस्त इंसान बहुत ही बुरा किसर होता है। ये लोग अच्छे से किस नहीं कर पाते जिस कारण इनका रिलेशनशिप ज्यादा दिन नहीं चलता। ऐसे लोगों को किस करने से डर लगता है। ऐसे लोगों को सबसे अधिक इस बात की चिंता होती है कि किस के दौरान मुंह से जीवाणुओं और कीटाणुओं का आदान-प्रदान होता है जो उन्हें बीमार कर सकते हैं। कई बार सांस की बदबू भी इस फोबिया का कारण बन जाती है।

आप ही कर सकते हैं इसका उपाय

आप ही कर सकते हैं इसका उपाय
6/6

ये सारे फोबिया एक तरह के इंसान के भूतकाल और किसी न किसी अनुभवों से पैदा होते हैं, जिनका उपाय आपको या पार्टनर को खुद ही खोजना होता है। इन फोबिया से ग्रस्त लोगों के पार्टनर के लिए जरूरी है कि आप उन्हें समझाएं और उन्हें समय दें। तभी आपका रिश्ता बच सकता है। लेकिन अगर फिर भी ये फोबिया आपके रिश्ते पर असर डाल रहा है तो समय रहते मनोचिकित्सक से परामर्श लें।

Disclaimer