किडनी स्टोन का खतरा बढ़ाने वाले 7 अजीब कारण

गुर्दे की पथरी एक आम समस्या है, इसके कई कारण होते हैं, लेकिन पर्याप्त मात्रा में पानी न पीना और खान-पान की गलत आदतों के अलावा दूसरे कारण क्‍या हैं, उनके बारे में जानने के लिए ये स्‍लाइडशो पढ़ें।

Rahul Sharma
Written by: Rahul SharmaPublished at: Jul 17, 2015

किडनी स्टोन के कारण

किडनी स्टोन के कारण
1/8

गुर्दे की पथरी एक आम समस्या है, इसके ज्यादातर मरीज 25 से 45 आयु वर्ग के होते हैं। ये काफी पीड़ादायक समस्या होती है। महिलाओं की तुलना में पुरुषों को यह रोग अधिक होता है। यूं तो इसके कई कारण होते हैं, लेकिन पर्याप्त मात्रा में पानी न पीना और खान-पान की गलत आदतें व अनियमित जीवनशैली इसके प्रमुख कारण हैं। लेकिन इसके पीछे कई अजीब कारण भी हो सकते हैं। चलिये जानें क्या हैं वे कारण -Images source : © Getty Images

क्या होती है पथरी

क्या होती है पथरी
2/8

अधिकतर मामलों में पथरी का कारण किडनी में कुछ खास तरह के साल्ट्स का जमा हो जाना होता है। पहले स्टोन का छोटा खंड (निडस) बनता है, इसके जिसके चारों तरफ सॉल्ट जमा हो जाता रहता है। जेनेटिक कारण, हाइपरटेंशन, मोटापा, मधुमेह और आंतों से जुड़ी कोई अन्य समस्या होना भी पथरी का का वजह बन सकते हैं। Images source : © Getty Images

पानी की कमी से

पानी की कमी से
3/8

कई बार पानी की कमी से पेशाब गाढ़ा और गहरे पीले रंग का हो जाता है। और शरीर द्वारा कैल्शियम का सही अवशोषण न हो पाने के कारण सॉल्ट जमने और पथरी के कण बनने की आशंका बढ़ जाती है। Images source : © Getty Images

प्रोसेस्ड फूड का अधिक सेवन करने से

प्रोसेस्ड फूड का अधिक सेवन करने से
4/8

प्रोसेस्ड फूड का अधिक सेवन करने से भी पथरी हो सकती है। प्रोसेस्ड फूड में सोडियम अधिक होता है, जिससे कैल्शियम का अधिक उत्सर्जन होने लगता है। मतलब पेशाब में सोडियम की मात्रा तो बढ़ती ही है, साथ ही यह कैल्शियम उत्सर्जन का कारण भी बन जाता है। प्रोसेस्ड फूड में फाइबर भी कम मात्रा  में होता है जिससे  कैल्शियम ऑक्जेलेट और यूरिक एसिड की प्रक्रिया में रुकावट होती है।  Images source : © Getty Images

ज्यादा सॉफ्ट ड्रिंक्स पीने से

ज्यादा सॉफ्ट ड्रिंक्स पीने से
5/8

सॉफ्ट ड्रिंक्स का अधिक सेवन भी यूरिन में ऑक्जलेट्स के स्तर को बढ़ा देता है। ज्यादा सॉफ्ट ड्रिंक्स व कैफीनयुक्त पेय पदार्थों का सेवन शरीर के द्वारा कैल्शियम को ग्रहण करने की क्षमता को घटाता है। ऐसे में कैल्शियम के उत्सजर्न की आशंका बढ़ जाती है, जो कि पथरी का कारण बनती है। Images source : © Getty Images

मोटापे व ओसीटी दवाओं के कारण

मोटापे व ओसीटी दवाओं के कारण
6/8

मोटापे के कारण पानी की मात्रा और शारीरिक सक्रियता दोनों घट जाते हैं और शरीर में एसिडिक यूरिन अधिक बनता है। वहीं आसानी से मिल जानें वाली ओसीटी दवाएं (ओवर द कांउटर) जैसे, लेक्सेटिव, कुछ खास सॉल्ट के साथ एंटासिड और एफेड्रिन आदि अधिक लेने से भी स्टोन होने की आशंका बढ़ जाती है।Images source : © Getty Images

गर्मियों में अधिक होती है

गर्मियों में अधिक होती है
7/8

जो लोग गर्म वातावरण में काम करते हैं, उनमें किडनी का स्टोन होने की संभावना सबसे अधिक रहती है। तापमान में 5 से 7 डिग्री के परिवर्तन से ही किडनी स्टोन के 30 प्रतिशत मामले बढ़ जाते हैं।Images source : © Getty Images

सोडे के अधिक सेवन से बचें

सोडे के अधिक सेवन से बचें
8/8

किडनी में स्टोन के मरीजों के लिए सोडा ड्रिंक से संबंधित कई भ्रांतियां होती हैं। लेकिन वास्तविकता यह है कि सोडा में मौजूद फोस्फोरिक एसिड की अधिकता किडनी में स्टोन को बढ़ाती है।Images source : © Getty Images

Disclaimer