सर्दियों में ड्राई आई से कैसे बचें

आंखों के बाहरी भाग पर एक तरल द्रव्य की महीन परत होती है, जो आंखों के स्वास्थ्य के लिए बेहद जरूरी होता है। लेकिन सर्दियों में चलने वाली ठंडी हवाएं आंखों की इस परत को वाष्पित कर ड्राई-आई की स्थिति उत्पन्न कर देती है।

Pooja Sinha
Written by: Pooja SinhaPublished at: Dec 09, 2014

सर्दियों में आंखों की देखभाल

सर्दियों में आंखों की देखभाल
1/9

आंखें हमारे शरीर का सबसे महत्वपूर्ण और संवेदनशील अंग हैं और इनकी सही देखभाल अत्यंत आवश्यक है। खासकर सर्दियों में यदि आंखों मे जलन, धुंधलापन या देखने में किसी अन्‍य तरह की दिक्‍कत आने पर इसे नजरअंदाज नहीं करना चाहिए। सर्दियों में हम अपने पूरे शरीर को तो अच्‍छे से ढक लेते हैं लेकिन हमारी आंखे इन दिनों चलने वाली बर्फीली हवाओं से सर्वाधिक प्रभावित होती है। चिकित्सकों के अनुसार, आंखों के बाहरी भाग पर एक तरल द्रव्य की महीन परत होती है, जो आंखों के स्वास्थ्य के लिए बेहद जरूरी होता है। लेकिन सर्दियों में चलने वाली ठंडी हवाएं आंखों की इस परत को वाष्पित कर ड्राई-आई की स्थिति उत्पन्न कर देती है। इसके कारण आंखों की रोशनी आंशिक तौर पर प्रभावित होती है, तथा आंखों लगातार दर्द बना रहता है। इसलिए इस मौसम में आंखों की विशेष देखभाल की जानी चाहिए।  Image Courtesy : Getty Images

धूप का चश्मा पहने

धूप का चश्मा पहने
2/9

धूप का चश्‍मा गर्मियों में ही नहीं, सर्दियों में भी आपकी आंखों की देखभाल में मदद करता है। सर्दियों में घर से बाहर जाते समय सन ग्‍लासेज का इस्‍तेमाल करें। इससे शुष्‍क हवायें सीधे हमारी आंखों पर नहीं पड़ती है। साथ ही यह आंखों को सूर्य की पराबैंगनी किरणों से भी बचाती है। ठंड का मौसम विशेष रूप से सर्द मौसम में सूर्य का प्रकाश बहुत कम होता है, जिसके कारण आंखों के कॉर्निया को नुकसान हो सकता है। बर्फ वाली स्‍थानों पर जाने से यूवी प्रकाश 80 प्रतिशत तक अधिक रिफ्लेक्‍ट करता है।  Image Courtesy : Getty Images

आंखों को आराम दें

आंखों को आराम दें
3/9

चाहे छात्र हो, पेशेवर या कोई गृहिणी सभी को पूरा दिन आंखों के माध्‍यम से कड़ी मेहनत करनी पड़ती है। और लंबे समय तक कंप्‍यूटर स्‍क्रीन पर काम करना तो आंखों के लिए किसी टोल से कम नहीं होता है। इसलिए अपनी आंखों के प्रति संवेदनशील बनें। अपनी आंखों को नियमित रूप से पर्याप्‍त रूप से आराम दें। आंखों के निरंतर तनाव को कम करने के लिए हर गतिविधि के बीच जल्‍द और छोटे-छोटे ब्रेक लें। इसके अलावा अपनी आंखों को आराम देने का सबसे अच्‍छा तरीका पर्याप्‍त नींद है। Image Courtesy : Getty Images

आंखों की नियमित रूप से जांच

आंखों की नियमित रूप से जांच
4/9

आंखों को स्‍वस्‍थ रखने के लिए उन्‍हें सुरक्षित रखना जरूरी है। इसके लिए आपको अपने नेत्र विशेषज्ञ से परामर्श करना चाहिए। यदि कॉन्टेक्ट लेंस का इस्तेमाल कर रहे हैं, या ऐसे भी अपनी आंखों की कम से कम हर वर्ष में एक बार या दो साल में एक बार नियमित रूप से जांच करवानी चाहिए। सर्दियों में तो आपको जांच जरूर करवानी चाहिए क्‍योंकि इस मौसम में आंखों में ज्‍यादा ड्राईनेस आ जाती है।Image Courtesy : Getty Images

आंखों की नमी को बरकरार रखें

आंखों की नमी को बरकरार रखें
5/9

सर्दियों में कमरे या कार में हीटर और एसी ब्‍लोअर से आंखों को बचाये। क्‍योंकि इससे आंखों में रूखापन आने लगता है। और शुष्‍क हवा लगने से कार्निया में बीमारी हो सकती है। इस समस्‍या से बचने के लिए अपने घर, ऑफिस या गाड़ी में एसी के पैनल को हमेशा नीचे की ओर रखें ताकि आपकी आंखों पर सीधी हवा न लगे। इसके अलावा, हीटर के पास एक मग पानी रख दें, ताकि उस जगह में नमी बनी रहे। Image Courtesy : Getty Images

व्यायाम का जादू

व्यायाम का जादू
6/9

कई अध्‍ययनों के अनुसार नियमित एक्‍सरसाइज जैसे वाकिंग और स्‍वीमिंग आपको स्‍वस्‍थ रखने के साथ-साथ आपकी आंखों को स्‍वस्‍थ रखने में भी मदद करती है। नियमित एक्‍सरसाइज से उम्र या मौसम संबंधित आंखों की समस्‍याओं को दूर किया जा सकता है। आप अपनी आंखों सहित समग्र स्‍वास्‍थ्‍य को ठीक रखने के लिए एक्‍सरसाइज करने से पहले अपने आंख देखभाल प्रदाता से परामर्श जरूर करें। Image Courtesy : Getty Images

पलक झपकाते रहें

पलक झपकाते रहें
7/9

कम्‍प्‍यूटर का इस्‍तेमाल करने वाले लोग अपनी आंखों की पलकों को कम झपकाते है, ऐसे लोगों को अपनी पलकें झपकते रहना चाहिये। पलकों को लगातार झपकना एक सामान्‍य प्रक्रिया है जो सर्दियों में आंखों की नमी को बरकरार रखता है। आंखे तरो-ताजा और तनाव मुक्‍त बनी रहती है। Image Courtesy : Getty Images

आहार पर ध्यान दें

आहार पर ध्यान दें
8/9

अगर आप मांस का सेवन करते हैं तो सर्दियों में मछली खाना आंखों के लिए बेहद फायेदमंद होता है। इसमें मौजूद ओमेगा-3 फैटी एसिड आंखों की बीमारियों को कम करने में मदद करता है। सप्‍ताह में कम से कम तीन बार मछली का सेवन करें। इसके सेवन से आंखों में ड्राई-आई सिंड्रोम की समस्‍या दूर हो जाएगी। इसके अलावा पालक का सेवन करें यह पोषक तत्‍वों से भरपूर होती है जिससे आंखों की रोशनी बढ़ती है। Image Courtesy : Getty Images

ठंडे पानी से आंखों को धोये

ठंडे पानी से आंखों को धोये
9/9

आंखों को बार-बार छूने से बचें। ठंडी और शुष्‍क हवाओं के कारण आंखे वैसी ही ड्राई रहती है और अगर उन्‍हें बार-बार मला जाये तो आंखों में जलन पैदा हो सकती है। इसलिए आंखों में जलन या खुजली महसूस होने पर इसे रगड़ने के बजाय आंखों पर ठंडे पानी से छींटें मारें। पानी आपकी सभी समस्‍याओं का निदान करता है। समय-समय पर अपनी आंखों को धोते रहें। Image Courtesy : Getty Images

Disclaimer