क्यूं है क्षमा करना आपकी सेहत के लिए अच्छा

By:Rahul Sharma, Onlymyhealth Editorial Team,Date:Nov 05, 2014
शोधों में पाया गया कि गलतियों को माफ कर देने से सेहत पर सकारात्मक प्रभाव पड़ता है। क्षमा करने की भावना से न सिर्फ मानसिक बल्कि शारीरिक स्वास्थ्य भी बेहतर होता है।
  • 1

    क्षमा करने के फायदे

    'क्षमा बड़न को चाहिए, छोटन को उत्पात', इस पुरानी भारतीय मान्यता पर कई शोध अपनी अपनी मुहर लगा चुके हैं। शोधों में पाया गया कि गलतियों को माफ कर देने से सेहत पर सकारात्मक प्रभाव पड़ता है। क्षमा करने की भावना से न सिर्फ मानसिक बल्कि शारीरक स्वास्थ्य भी बेहतर होता है। तो चलिये जानें कि भला कैसे क्षमा करना आपकी सेहत के लिए अच्छा है।
    Image courtesy: © Getty Images

    क्षमा करने के फायदे
    Loading...
  • 2

    क्षमा मांगने के अलवा देना भी सीखें

    क्षमा मांगने के साथ किसी व्यक्ति को क्षमा करने की कला भी आनी चाहिए। क्षमा करने से माफ करने वाले इंसान की सेहत पर अच्छा प्रभाव पड़ता है। क्षमादान की क्रिया गलतियों को स्वीकारने, उनके लिए पश्चाताप करने और किसी को जाने-अंजाने पहुंचाई क्षति की भरपाई या लोककल्याण के लिए काम करने के साथ ही शुरू हो जाती है।
    Image courtesy: © Getty Images

    क्षमा मांगने के अलवा देना भी सीखें
  • 3

    क्षमा करें दिल रहेगा दुरुस्त

    एक शोध के अनुसार क्षमा करने से हृदय रोगों का खतरा कम हो जाता है। सैन डियागो स्थित यूनिवर्सिटी ऑफ कैलीफोर्निया के शोधकर्ताओं ने अध्ययन में पाया कि गुस्से पर काबू कर  किसी की गलती क्षमा कर देने वालों को अपना ब्लड प्रेशर नियंत्रित रखने में मदद मिलती है। इस अध्ययन में 200 स्वयंसेवियों को शामिल किया गया था।
    Image courtesy: © Getty Images

    क्षमा करें दिल रहेगा दुरुस्त
  • 4

    तनाव होता है दूर

    की गई किसी गलती के लिए क्षमा याचना तनाव से निकलने का एक बेहतरीन तरीका है। कई बार हम लोगों को बिना वजह ही आहत कर बैठते हैं। ये बात दिमाग में चलती रहती है और हमें इसकी वजह से तनाव होता है। जो लोग सिर्फ वर्तमान की सोचते हैं, वे कभी तनाव महसूस नहीं करते। तनाव बीती बातों के बारे में सोचने से पैदा होता है। जबकि क्षमा कर देने से इस तनाव से मुक्ति मिल जाती है।
    Image courtesy: © Getty Images

    तनाव होता है दूर
  • 5

    खुद को करें माफ

    रोज रात को सोने से पहले अपनी गलतियों को याद कर खुद को उनके लिए माफ करने की कोशिश करें। सोने से पहले आप कह सकते हैं, 'मैं खुद को अपनी द्वारा की गई गलतियों के लिए माफ करता हूं, और ये प्रण करता हूं की भविश्य में इन्हें नहीं दोहराउंगा।' क्षमा दान देकर आप उन नकाराकत्मक परिस्थितियों या व्यक्तियों से दूर हो जाते हैं, जो बीते कल का हिस्से होते हैं।
    Image courtesy: © Getty Images

    खुद को करें माफ
  • 6

    एंग्री मोड से आपको करता है बाहर

    जॉन्स हॉपकिंस मेडिसिन के अनुसार आप लंबे समय से नाराज होते हैं, तो इसका प्रभाव आपके रक्तचाप और दिल की दर पर हो सकता है। लेकिन जब आप सही मायने में माफ देते हैं, तो तनाव में कमी आती है।  वाकई माफ कर देने से आपका एंग्री मोड खतम हो जाता है और स्वीट मोड ऑन हो जाता है।
    Image courtesy: © Getty Images

    एंग्री मोड से आपको करता है बाहर
  • 7

    क्रोध, उत्तेजना, उदासी करें दूर

    किसी के प्रति दिल में गुस्से की आग जलाए रखने से सिवाए उदासी, उत्तेजना और परेशानी के कुछ नहीं मिलता। साइकोलॉजिकल साइंस जर्नल में 2001 में प्रकाशित एक अध्ययन के अनुसार, न माफ करने से क्रोध, उत्तेजना, उदासी व नियंत्रण में न रह पाने की भावना बनी रहती है। मा फ कर देने से इन सभी परेशआनियों से मुक्ति मिल जाती है।
    Image courtesy: © Getty Images

    क्रोध, उत्तेजना, उदासी करें दूर
  • 8

    माफ करने से प्रेम की अहमियत समझ आती है

    माफ करने से प्रेम पैदा होता है। प्रेम जीवन में आनंद को लाता है, यदि जीवन में प्रेम हो तो शत्रु नहीं होंगे और जब शत्रु नहीं होगे तो भय भी नहीं होगा और जीवन अस्त- व्यस्त नहीं होगा। जब जीवन की अस्त व्यस्तता नही रहेगी तो आनंद का अनुभव तरो स्वयमेव होगा। यहां तक की माफ कर देने से पुराने टूटे रिश्तों में भी जान पड़ती है और नए रिश्तों में मजबूती आती है।
    Image courtesy: © Getty Images

    माफ करने से प्रेम की अहमियत समझ आती है
  • 9

    नींद में सुधार

    गुस्सा और बदले की भावना से रक्त चाप बढ़ जाता है और तना व बना रहता है। जिस वजह से रातों की नींद तक उड़ जाती है। 2005 के जर्नल ऑफ़ बिहेवियरल मेडिसिन के एक अध्ययन के अनुसार माफ कर देने की भावना से नींद में सुधार होता है।
    Image courtesy: © Getty Images

    नींद में सुधार
Load More
X
संबंधित जानकारी
  • सभी
  • लेख
  • स्लाइडशो
  • वीडियो
  • प्रश्नोत्तर
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy. OK