कैंसर कभी नहीं आएगा पास, अगर रोजाना खाएंगे ये 5 आहार

कैंसर जैसी खतरनाक बीमारी से बचाव करना है तो अपने आहार में बदलाव कीजिए, इस स्लाइडशो में जानें किन आहारों में कैंसररोधी गुण हैं।

Atul Modi
Written by: Atul ModiPublished at: Feb 02, 2018

जानलेवा है कैंसर

जानलेवा है कैंसर
1/5

कैंसर दुनियाभर के लोगों के लिए चुनौती है। इसके मरीजों की संख्या हर साल बढ़ रही है। भारत में भी कैंसर के मामलों में लगातार बढ़ोतरी हो रही है। कैंसर का समय पर उपचार न किया जाये तो वह जानलेवा हो सकता है। लेकिन क्यार आप जानते हैं कुछ आहार ऐसे भी हैं जिनके सेवन से कैंसर आपके पास भी नहीं भटकेगा और अगर कोई कैंसर का मरीज है तो इन आहारों का सेवन करके वह कैंसर जैसी बीमारी को हरा सकता है। इन आहारों में ऐसे पोषक तत्वर हैं जो कैंसर के लिए जिम्मेदार कोशिकाओं का खात्मा करते हैं। इस स्लाइडशो में इसके बारे में विस्तार से जानते हैं।

गुणकारी हैं लहसुन और प्याज

गुणकारी हैं लहसुन और प्याज
2/5

लहसुन और प्याज ऐसे आहार हैं जिनका प्रयोग आप लगभग हर तरह के पकवान में कर सकते हैं। अगर आप इससे दूरी बनाये हुए हैं तो इसका प्रयोग आज से ही करना शुरू कर दें। लहसुन और प्याज में सल्फर कंपाउंड होता है जो बड़ी आंत, ब्रेस्ट, फेफड़े और प्रोस्टेट कैंसर की कोशिकाओं का खात्मा करता है। इसके अलावा लहसुन ब्लड प्रेशर को भी नियंत्रित करता है। यह इंसुलिन उत्पादन को कम करके शरीर में ट्यूमर नहीं होने देता, ट्यूमर कैंसर के लिए जिम्मेरदार कारकों में से एक है।

इन सब्जियों का करें सेवन

इन सब्जियों का करें सेवन
3/5

आप हर रोज कई सब्जियों का सेवन करते होंगे। लेकिन क्यार आप जानते हैं कुछ सब्जियां ऐसी भी हैं जो कैंसर जैसी खतरनाक बीमारी से लड़ने में सहायक हैं। फूलगोभी और ब्रोकोली ऐसी सब्जियां हैं जिसमें कैंसररोधी अणु होते हैं। ये दोनों डिटोक्सीफिकेशन एंजाइम के उत्पादन को बढ़ाते हैं, जो कैंसर की कोशिकाओं का खात्मा कर ट्यूमर को बढ़ने से रोकते हैं। इनके सेवन से फेफड़े, प्रोस्टेट, मूत्राशय और पेट के कैंसर का जोखिम कम होता है।

सीताफल और गाजर

सीताफल और गाजर
4/5

सीताफल बहुत ही गुणकारी हरी सब्जी है। इसके अलावा गाजर भी ऐसा गुणकारी आहार है जो कैंसर के वार को आसानी से बेकार कर सकता है। सीताफल और गाजर में अल्फा और बीटा नामक कैरोटीन्स होते हैं, जो कैंसर को ख़त्म करने वाले शक्तिशाली कारक के रूप में जाने जाते हैं। इनके सेवन से गर्भाशय, मूत्राशय, पेट और स्तन कैंसर सहित कई प्रकार के कैंसर की रोकथाम होती है।

फलियां और दाल

फलियां और दाल
5/5

दाल आसानी से उपलब्ध होने वाला आहार है जिसका सेवन आप साल के 12 महीने कर सकते हैं। इनमें प्रोटीन के अलावा फाइबर और फोलेट होता है। जिससे पैनक्रियाज के कैंसर का खतरा कम होता है। इसके अलावा फलियों में प्रतिरोधी स्टार्च होता है जो बड़ी आंत की कोशिकाओं के स्वास्थ्य में सुधार करते हैं। इनके अलावा टमाटर, तरबूज, पपीता, आदि का सेवन करने से कैंसर पास भी नहीं भटकता और ये आपको स्वस्थ भी रखते हैं।

Disclaimer