दिल ही नहीं पूरे शरीर के लिए वरदान है जैतून का तेल

जैतून का तेल झुर्रियों को समाप्त करने के लिए यह बहुत उपयोगी है। शरीर के हर अंग में इस तेल का प्रयोग किया जा सकता है। खाने में इसे शामिल कर ब्लड प्रेशर और कैंसर जैसे रोगों को भी नियंत्रित किया जा सकता है। आइए इसके स्‍वास्‍थ्‍य लाभों के बारे में जानें......

Pooja Sinha
Written by: Pooja SinhaPublished at: Mar 07, 2014

जैतून के तेल के लाभ

जैतून के तेल के लाभ
1/12

जैतून के तेल का प्रयोग शरीर के लिए बहुत ही फायदेमंद होता है। जैतून के तेल में फ्लेवसेनॉयड्‌स स्कवेलीन और पोरीफेनोल्स एंटीऑक्सीडेंट्‌स होता है जो फ्री रैडिकल्स से कोशिकाओं को समाप्त होने से बचाता है। सर्दियों और गर्मियों के मौसम में यह रूखी त्वचा के लिए बहुत ही फायदेमंद होता है। इसका प्रयोग करने से बालों से डैंड्रफ समाप्त होता है। झुर्रियों को समाप्त करने के लिए यह बहुत उपयोगी है। शरीर के हर अंग में इस तेल का प्रयोग किया जा सकता है। खाने में इसे शामिल कर ब्लड प्रेशर और कैंसर जैसे रोगों को भी नियंत्रित किया जा सकता है।

हृदय रोग के जोखिम को कम करता है

हृदय रोग के जोखिम को कम करता है
2/12

जैतून का तेल खाने में मिला कर खाने से हृदय मजबूत होता है और दौरा पड़ने की संभावना कम होती है। जैतून का तेल  खाने से रक्त संचार अच्छे से होता है जिससे ब्लड प्रेशर को नियंत्रण किया जा सकता है। भूमध्य क्षेत्र की आबादी पर किए गए अध्ययन के अनुसार, उत्तरी अमेरिका और उत्तरी यूरोपीय लोगों की तुलना में, इनमें हृदय रोग, उच्च रक्तचाप और स्ट्रोक की संभावना बहुत कम होती है। इन सकारात्मक स्वास्थ्य लाभ के लिए जैतून के तेल का योगदान माना जाता है।

ब्रेस्‍ट कैंसर से बचाता है

ब्रेस्‍ट कैंसर से बचाता है
3/12

टेक्सास में ह्यूस्टन मेथोडिस्ट हॉस्पिटल में हुए अध्‍ययन में यह पाया कि जैतून के तेल में पाया जाने वाला प्रमुख घटक हीड्रोकैटीरोसोल स्तन कैंसर को रोकने में मददगार होता है। हीड्रोकैटीरोसोल पर किए गए अध्‍ययन से यह सामने आया कि यह एक शक्तिशाली एंटीऑक्‍सीडेंट है।

त्वचा को निखारें

त्वचा को निखारें
4/12

जैतून के तेल में आमेगा-3 फैटी एसिड और एंटीऑक्‍सीडेंट अच्‍छी मात्रा मे होता है। शरीर पर जैतून का तेल लगाने से शरीर से काले धब्बे समाप्त होते है और त्वचा में निखार आता है। लेकिन इस बात का ध्‍यान रखें कि इस तेल को शरीर पर लगाने से पहले बिल्‍कुल भी गर्म नहीं करना चाहिये वरना इसके न्‍यूट्रियंट्स समाप्‍त हो जाते हैं।

मोटापा कम करें

मोटापा कम करें
5/12

वैसे तो नियमित रूप से खाना बनाने के लिए जैतून के तेल का प्रयोग शायद थोड़ा महंगा पड़ सकता है। लेकिन अगर आप इसका इस्‍तेमाल अपने आहार में करते हैं तो आप मोटापे की समस्‍या से निजात पा सकते है। जैतून के तेल में अन्‍य तेल और मक्‍खन की तरह ट्रांस फैट नहीं होता है।

झुर्रियों में फायदेमंद

झुर्रियों में फायदेमंद
6/12

जैतून का तेल फ्री रेडिकल्‍स का काम करता है और एजिंग की समस्‍या को दूर करता है। नींबू के रस में जैतून का तेल मिला कर हफ्ते में तीन बार चेहरे की मालिश कीजिए इससे झुर्रियों से निजात मिलेगी चेहरे पर अगर झुर्रियां हैं तो जैतून का तेल, चंदन के पाउडर के साथ मिला कर चेहरे पर लगाए। इसके अलावा जैतून के तेल की 2-3 बूंदों को फेस पैक में मिला कर चेहरे पर नियमित रूप से लगाने से एक ही महीने में झुर्रियों से निजात पायी जा सकती है।

बालों के लिए बढि़या हेयर कंडीशनर

बालों के लिए बढि़या हेयर कंडीशनर
7/12

अगर आप रूखे बालों की समस्‍या से परेशान हैं तो आपके लिए जैतून का तेल फायदेमंद साबित हो सकता है। बालों में जैतून का तेल लगाने से बालों की कंडीशनिंग अच्छी होती है। थोडा सा जैतून का तेल हाथों में लेकर बालों में लगाइए, इससे बाल मुलायम और सिल्की हो जाएंगे। बालों में अगर डैंड्रफ की समस्या है तो जैतून का तेल डैंड्रफ कम हो जाएंगी।

शुगर के स्तर को नियंत्रित करें

शुगर के स्तर को नियंत्रित करें
8/12

जैतून का तेल मधुमेह और पूर्व मधुमेह रोगियों को खाने के लिए सिफारिश की जाती है। शोध अध्ययनों के अनुसार, मधुमेह के रोगियों को जैतून के तेल में पका स्वस्थ खाना खाना चाहिए। मधुमेह रोगियों को ट्राइग्लिसराइड के कारण दिल संबंधी विकार होने का अत्‍यधिक खतरा होता है और जैतून का तेल प्रभावी ढंग से ट्राइग्लिसराइड का स्तर कम कर सकता हैं।

दर्द को कम करने में सहायक

दर्द को कम करने में सहायक
9/12

जैतून के तेल में पाया जाने वाला तत्‍व ऑलियोकेंथल में मजबूत एंटी इफ्मेंलेटरी गुण होते जो दर्दनिवारक ब्रूफेन की तरह काम करता है। जैतून का तेल स्वाभाविक रूप से गठिया जैसे जीर्ण सूजन रोगों के दर्द को कम करता है। इसलिये दर्द को कम करने के लिए अपने दैनिक आहार में इसे शामिल किया जा सकता है।

हीमोग्लोबिन बनाने में शरीर की मदद करता है

हीमोग्लोबिन बनाने में शरीर की मदद करता है
10/12

जैतून में आयरन की पर्याप्‍त मात्रा होती है जो हीमोग्लोबिन बनाने का महत्‍वपूर्ण कारक है। यह वह प्रोटीन है जो खून के माध्यम से शरीर में ऑक्सीजन वहन करता है। आयरन एंजाइम का निर्माण करने में भी मदद करता है। एंजाइम प्रतिरक्षा प्रणाली सही रखने के लिए जिम्‍मेदार होता है।

Disclaimer