शादी सिखाती है ज़िदगी के ये 12 पाठ

शादी का लड्डू खाने वाला भी पछताये और न खाने वाला भी पछताये, लेकिन क्‍या आप जानते हैं शादी हमारे जीवन से जुड़े कई महत्‍वपूर्ण पाठ पढ़ाती है, इसलिए शादी में विश्‍वास करना बहुत जरूरी है।

Rahul Sharma
Written by: Rahul SharmaPublished at: May 05, 2015

परिवार को मजबूत बनाए

परिवार को मजबूत बनाए
1/10

शादीशुदा लोगों का जीवन खुशहाल होता है और ऐसे लोग जीवन में आने वाली कठिनाइयों का सामना आसानी से करते हैं, क्‍योंकि उनके साथ उनके पार्टनर का साथ होता है। शोध बताते हैं कि जिन बच्चों का पालन-पोषण माता-पिता दोनों मिलकर करते हैं वे सिंगल पेरेंटिंग वाले बच्चों के मुकाबले ज्यदा अच्छे होते हैं। ये बच्चे आर्थ‍िक और सामाजिक तौर पर भी ठीक रहते हैं। शादी सिखाती है कि परिवार का क्या मदत्व होता है और इसका लालन-पालन कैसे किया जाए। इसके अलावा भी शादी जिंदगी के कई पहलुओं के बारे पाठ पढ़ाती है। Images source : © Getty Images

मिलकर बोझ उठाना

मिलकर बोझ उठाना
2/10

शादी के बाद जब कोई आपका अपना आपके साथ होता है, तो परेशानियों और चुनौतियों का आप बेहतर ढंग से सामना कर पाते हैं। यह भूमिका जीवनसाथी बेहतर ढ़ंग से निभाना सिखाता है। शादी से आप मिलकर जिम्मेदारियां उठाना सीखते हैं। Images source : © Getty Images

शादी बनाये जिंदगी को खुशहाल

शादी बनाये जिंदगी को खुशहाल
3/10

मनोवैज्ञानिक कई शोधों में इस बात को साबित कर चुके हैं कि शादीशुदा लोग अकेले लोगों की तुलना में खुद को ज्यादा खुश महसूस करते हैं। बेशक, अगर चीजों को ठीक से चलाया जाए तो जीवनसाथी का मतलब है कि आपके पास जीवन भर के लिए एक दोस्त मौजूद है।Images source : © Getty Images

अपनी गलतियों को स्वीकारना

अपनी गलतियों को स्वीकारना
4/10

शादी के बाद देर से या जल्दी ही सही, आप यह तथ्य समझने लगते हैं कि कोई भी परिपूर्ण नहीं होता। आप समझ पाते हैं कि आपसे भी गलतियां होती रहती हैं। इस तरह आप गलतियों को स्‍वीकारना भी सीख पाते हैं। Images source : © Getty Images

जरुरी बदलाव लाना

जरुरी बदलाव लाना
5/10

सफल और बेहतर जीवन के लिये खुद में जरुरी बदलाव लाना बेहद जरूरी होता है। शादी के बाद आप समझ पाते हैं कि अपना नजरिया हमेशा एक जैसा नहीं रखा जा सकता है। हमेशा एक जैसा रवैया शादी की परेशानियां सुधारने में कामयाब नहीं रहता। इसलिये आप बदलाव करते रहने की बात पर गौर फरमा पाते हैं। Images source : © Getty Images

सामाजिक बनना

सामाजिक बनना
6/10

शादी इंसान को सामाजिक बनाती है। वे लोग भी जो इंट्रोवर्ट होते हैं और लोगों से कटे-कटे से रहते हैं, शादी के बाद सामाजिक बनते हैं। शादी सिखाती है कि समाज के साथ चलना किस तरह लाभदायक हो सकता है और समाज का क्या महत्व होता है। Images source : © Getty Images

एक दूसरे की स्वतंत्रता

एक दूसरे की स्वतंत्रता
7/10

हर रिश्ते को पनपने के लिए समय और व्यक्तिगत स्थान की जरूरत होती है। शादी के बाद आप सीख पाते हैं कि जीवनसाथी को भी सांस लेने और खुद का जीवन जाने के लिए जगह चाहिये होती है। आप समझ पाते हैं कि जरूरत से ज्यादा स्वत्वाधिकार, जलन या उत्सुकता उसकी निर्णय लेने की क्षमता पर हावी हो सकता है।Images source : © Getty Images

आत्मिक विकास

आत्मिक विकास
8/10

शादी आत्मसम्मान और आत्मविश्वास का बेहतर अहसास करना सिखाती है। आत्मविश्वास का अर्थ यह है कि कोई आपको प्यार करे इसके लिए आपको बदलने की जरूरत नहीं है। आप समझ पाते हैं कि ऐसा व्यक्ति जो आपको पूरी तरह बदलने की कोशिश करे वह आपका सच्चा साथी नहीं है। Images source : © Getty Images

आपका शरीर केवल इच्छापूर्ति के लिए नहीं

आपका शरीर केवल इच्छापूर्ति के लिए नहीं
9/10

शादी के बाद आप अपने शरीर से प्यार करना सीखते हैं। आप सीख पाते हैं कि आपके शरीर को खुशी की आवश्यकता होती है, और यह केवल उपयोग करने की चीज़ नहीं होती है। आप शादी के बाद इस विषय में सकारात्मक होकर बात कर पाते हैं। Images source : © Getty Images

शादी का अर्थ समर्पण नहीं बल्कि क्षमा है

शादी का अर्थ समर्पण नहीं बल्कि क्षमा है
10/10

शादी के बाद के पहले कुछ महीने बहुत चुनौतीपूर्ण जरूर होते हैं। ये वही वक्त होता है जब आप सीख पाते हैं कि शादी का अर्थ समर्पण नहीं बल्कि क्षमा होता है। अगर आपकी अरेंज्‍ड मैरेज हुई तो यह बात और भी महत्‍वपूर्ण हो जाती है। Images source : © Getty Images

Disclaimer