दूर दृष्टि दोष की समस्या को दूर भगाएं, इन 5 उपायो से!

आधुनिक जिन्दगी में सभी टीवी, मोबाइल, कंप्यूटर पर इतना आश्रित हो गये है कि इनके बिना जिन्दगी के बारे में सोच भी नहीं सकते। इससे चलते दूर दृ‍ष्टि दोष आज लगभग सभी को परेशान कर रही है। लेकिन आप परेशान न हो क्‍योंकि यहां दिये घरेलू उपायों की मदद से आप इस समस्‍या से बच सकते हैं।

Pooja Sinha
Written by: Pooja SinhaPublished at: Nov 18, 2016

दूर दृष्टि दोष का उपचार

दूर दृष्टि दोष का उपचार
1/6

हमेशा की तरह आज भी हम आपके लिए रोजमर्रा की समस्‍याओं को दूर करने के लिए कुछ घरेलू नुस्खे लेकर आये है। जी हां हम अपने स्‍लाइड शो के माध्‍यम से आज आपको दूरदृष्टि दोष से बचने के घरेलू उपाय लेकर आये हैं। आंखों से कम नजर आना, खासतौर पर दूर का आजकल एक आम समस्‍या हो गई है। इस समस्‍या को हाइपरोपिया कहते हैं। इस बीमारी के चलते हमें ना चाहते हुए चश्मा पहनना पड़ता है। हालांकि इस समस्‍या के लिए पोषण तत्वों की कमी, अनुवांशिक कारण, उम्र को दोषी माना जाता था। लेकिन आधुनिक जिन्दगी में सभी टीवी, मोबाइल, कंप्यूटर पर इतना आश्रित हो गये है कि इनके बिना जिन्दगी के बारे में सोच भी नहीं सकते। इससे चलते दूर दृ‍ष्टि दोष आज लगभग सभी को परेशान कर रही है। लेकिन आप परेशान न हो क्‍योंकि यहां दिये घरेलू उपायों की मदद से आप इस समस्‍या से बच सकते हैं।

बादाम, मिश्री एवं सौंफ का उपयोग

बादाम, मिश्री एवं सौंफ का उपयोग
2/6

आंखों के लिए बादाम, सौंफ और मिश्री बहुत फायदेमंद होता है। इसका उपयोग आपकी दूर दृष्टि दोष को दूर करने में मदद करता है। इसे बनाना बहुत ही आसान है और यह बहुत आसानी से आपके घर में मिल जायेगा। एक बार जरुर इसका इस्तेमाल करें। इसे बनाने के लिए बादाम, सौंफ और मिश्री तीनों की सामान मात्रा लें। अब इसे मिक्सी में पीसकर पाउडर बना लें। इस पाउडर को आप एक डिब्‍बे में बंद करके कई दिनों तक रख सकती है। अब रोज रात को सोने से पहले 10 gm इस पाउडर को 250 ml पानी के साथ लें। लगातार 40 दिनों तक ऐसा करने से आपकी आंखों की समस्‍या दूर होगी और दिमाग भी तेज होगा। Image Source : jagran.com

चमत्कारिक त्रिफला

चमत्कारिक त्रिफला
3/6

त्रिफला में मौजूद चमत्कारिक तत्वों के कारण आयुर्वेद में इसका एक अहम स्थान है। त्रिफला से आंखों की मांसपेशियां मजबूत होती हैं। इनमें ऐसे कुछ तत्व भी मौजूद होते है जो चश्मा हटाने में भी सहायक होते है। समस्‍या के लिए त्रिफला पाउडर को 1 गिलास पानी में डाल कर रात भर रख दें। अगले दिन सुबह इस पानी को छान कर अपनी आंखों से इसे धोये। आंख धोते समय साफ पानी अपने पास रखें। 1 महीने तक नियमित इस उपाय को करने से आपको असर दिखाई देने लगेगा। या एक चम्मच त्रिफला चूर्ण को एक ग्लास पानी में मिलाएं, रात भर रखें। फिर सुबह छानकर खाली पेट पी लें।

आयुर्वेदिक औषधि मुलेठी

आयुर्वेदिक औषधि मुलेठी
4/6

मुलेठी आसानी से मिलने वाली आयुर्वेदिक औषधि है। इसका इस्तेमाल आयुर्वेद में सांस और पेट की समस्‍याओं के लिए सबसे ज्यादा किया जाता है। लेकिन क्‍या आप जानते हैं मुलेठी आंखों के लिए भी बहुत लाभकारी होती है। समस्‍या होने पर आधा चम्मच मुलेठी पाऊडर में उतना ही शहद और एक चौथाई चम्मच घी मिला लें। फिर इस मिक्सचर को दो दिन में एक बार सुबह-सुबह खाएं। ये आपकी आंखों की मांसपेशियों को मज़बूती देता है , जिससे हाइपरोपिया की समस्या दूर होती है।

ठंडे पानी की छींटे और सूरज को देखना

ठंडे पानी की छींटे और सूरज को देखना
5/6

आंखों पर ठंडे पानी की छींटें मारें। कुछ देर तक ऐसा करें और फिर तौलिये से हल्के-हल्के आंखों को मलें। इससे न सिर्फ आंखों को ठंडक मिलती है, बल्कि आंखों में ब्लड फ्लो भी बेहतर हो जाता है। इसके अलावा आंखें बंद करके सूरज की तरफ अपना चेहरा करके बैठें। 10 मिनट के बाद धीरे-धीरे आंखें खोलें और फिर 10 बार पलकें झपकाएं। फिर हरियाली देखें, इससे आंखों दबाव हटता है और आंखों की समस्‍या बेहतर होती है।

आंवला और गाजर

आंवला और गाजर
6/6

आंवले में विटामिन सी और गाजर में विटामिन ए, आयरन, फास्‍फोरस और कैल्श्यिम होता है जो आंखों के लिए बहुत अच्‍छा होता है। आंवले को आप जूस, दवाई या मुरब्‍बे के रूप में ले सकते हैं। इसके अलावा आप गाजर को सलाद के तौर पर या उसका जूस निकाल कर पी सकते हैं। Image Source : Getty

Disclaimer