खुद को मजबूत बनाने के लिए आजमायें ये 5 केटलबेल वर्कआउट

केटलबेल वर्कआउट वास्तव में क्षणों की पकड़ है। असल में यह एक्सरसाइज अन्य एक्सरसाइजों से पूरी तरह अलग है। इसका हर क्षण महत्वपूर्ण है। अतः यह कहा जा सकता है कि केटलेबेल वर्कआउट क्षणों पर पकड़ का खेल है। यह कार्डियोवस्कुलर सिस्टम के लिए बेहतरीन एक्सरसाइज है और दूसरा यह मांसपेशियों की मजबूती में अहम भूमिका अदा करता है। बहरहाल यहां केटलबेल द्वारा की जाने वाली कुछ एक्सरसाइजों पर नजर दौड़ाते हैं।

Meera Roy
Written by: Meera RoyPublished at: Aug 01, 2016

केटलबेल स्विंग

केटलबेल स्विंग
1/5

 केटलबेल वर्कआउट में सबसे सामान्य वर्कआउट है केटलबेल स्विंग। केटलबेल स्विंग के तहत नितंब से जुड़ी तमाम गतिविधियों को मद्देनजर रखा जाता है। नितंब के फैलाव से लेकर घुमाव तक केटलबेल स्विंग में होता है। यही नहीं ऊपर से लेकर नीचे की ओर झुकना और ऊपर की ओर वापिस जाने तक तमाम पोस्चर पर विशेष ध्यान देना होता है। केटलबेल उठाकर ऊपर ले जाते हुए अपनी सांस पर पकड़ बनाए रखें और केटलबेल को ऊपर ले जाने पर स्विंग करें यानी घुमाएं।IMage Source-Getty

केटलबेल क्लीन

केटलबेल क्लीन
2/5

केटलबेल वर्कआउट में सबसे मुश्किल एक्सरसाइजों में से एक केटलबेल क्लीन है। इस एक्सरसाइज के तहत केटलबेल को उठाते हुए सीधे ऊपर की ओर पहुंचकर ही रुकना होता है। दरअसल यह एक्सरसाइज इसलिए मुश्किल है क्योंकि केटलबेल को ऊपर ले जाकर हमें स्थिर होना होता है। यह एक्सरसाइज अच्छी खासी प्रैक्टिस की मांग करती है। इसके तहत हाथ ऊपर की ओर जाते हुए पूरे सीधे होने चाहिए। शरीर का पोस्चर भी सीधा ही होता है। इस एक्सरसाइज में सामान्यतः लोग कुछ गलतियां करते हैं। इनमें से एक है बाइसेप्स का इस्तेमाल। वास्तव में केटलबेल को उठाते हुए जितना कम बाइसेप्स का उपयोग होगा, उतना ही केटलबेल को नीचे उतारते वक्त दर्द की आशंका कम होगी। कहने का मतलब यह कि यदि नीचे उतारते हुए दर्द न हो या कम हो तो वर्कआउट ठीक है, नहीं तो इसमें सुधार की आवश्यकता है।IMage Source-Getty

केटलबेल स्विंग, क्लीन और पुश

केटलबेल स्विंग, क्लीन और पुश
3/5

क्या आपको याद है कि पिछली बार आपने भारी सामान कब उठाया था? इंटरनेट युग की सबसे बड़ी खासियत यह है कि हमें हर तरह का आराम आसानी से उपलब्ध है। यही इसकी खामी भी है। दरअसल जैसा कि हम जानते हैं कि इंटरनेट युग में हमें बाजार जाने की जरूरत नहीं है क्योंकि बाजार हमारे घर पर पहुंच गया है। मतलब यह कि हमें किसी भी तरह की भारी चीजों को उठाने की आवश्यकता नहीं है। यही नहीं किसी भी तरह की शारीरिक गतिविधियां भी पहले की तुलना में कम हो गयी हैं। ऐसे में केटलबेल स्विंग, क्लीन और पुश बेहतरीन एक्सरसाइज है। लेकिन यह एक्सरसाइज न सिर्फ मुश्किल है बल्कि गलत तरीके से किये जाने पर हमें चोट भी लग सकती है। दरअसल इस एक्सरसाइज के तहत हमें केटलबेल उठाने होते हैं, सीधे ऊपर की ओर ले जाने होते हैं, जिसमें स्थिरता यानी संतुलन भी जरूरी है। इसके बाद केटलबेलों को आपस में पुश करने होते हैं। इससे हमारे शरीर में स्थिरता बढ़ती है और मांसपेशियां भी बेहतर होती है।IMage Source-Getty

केटलबेल स्नैच

केटलबेल स्नैच
4/5

केटलबेल स्नैच मजेदार एक्सरसाइजों में से एक है। लेकिन इसकी भी वही शर्त है यानी हर क्षण पर इस एक्सरसाइज की पकड़। केटलबेल स्नैच के दौरान केटलबेल को उठाने से लेकर ऊपर की ओर उठाते हुए इसे स्विंग करना, पर गौर करना आवश्यक है। केटलबेल स्नैच में स्विंग पर विशेष ध्यान देना होता है। इस एक्सरसाइज में हाथ, पीठ और नितंब सब सक्रिय होते हैं जो कि बेहतर स्वास्थ्य के लिए आवश्यक है।IMage Source-Getty

तुर्की गेटअप

तुर्की गेटअप
5/5

घुमाव, स्थिरता, संतुलन और शक्ति। ये तमाम चीजों का मिलान ही तुर्की गेटअप कहलाता है। यह एक्सरसाइज जमीन पर चित होकर लेटने से शुरु होती है। इसके बाद एक हाथ से केटलबेल को उठाकर सीधे ऊपर की ओर ले जाना होता है। इस दौरान हाथ की स्थिरता, ताकत और केटलबेल का संतुलन। इन सब पर गौर करना होता है। इसके अलावा एक घुटने को मोड़ना भी होता है। इसके बाद बिना संतुलन खोए उठना इसका सबसे बड़ा टास्क होता है। अंत में हमें पुरानी पोजिशन में यानी लेटने वाली पोजिशन में आना होता है, जैसे कि आप शुरुआती चरण में थे।IMage Source-Getty

Disclaimer