जानें रुइबोस चाय से कैसे बिगड़े स्‍वास्‍थ्‍य को बनायें बेहतर

रूइबोस चाय से भले ही आप अनजान हों लेकिन ये विदेशों में कई बीमारियों के इलाज के लिए पी जाती है। ये बेहतर एंटीऑक्सीडेंट का स्रोत है जो पाचनतंत्र प्रणाली को ठीक रखता है।

Meera Roy
Written by: Meera RoyPublished at: Jul 04, 2016

रूइबोस चाय के फायदे

रूइबोस चाय के फायदे
1/7

हालांकि रूइबोस चाय से अभी ज्यादा लोग परिचित नहीं है। लेकिन पिछले कुछ सालों से रूइबोस चाय ने लोगों पर अपनी गहरी छाप छोड़ी है। इसकी एक बड़ी वजह यह है यह हर्बल चाय स्वास्थ्य को बेहतर करने में महति भूमिका अदा करता है। रूइबोस चाय हालांकि मूलतः दक्षिण अफ्रीका के केप आफ गुड होप से सम्बंधित है। इसमें इस्तेमाल होने वाली जड़ी बूटी महज केप आफ गुड होप के स्लोप में ही पायी जाती है। यहां के स्थानीय लोग रूइबोस चाय सैकड़ों सालों से पी रहे हैं। लेकिन इसका बाजारीकरण होना सन 1904 से ही शुरु हो गया है। मौजूदा समय में इस चाय की ख्याति देश विदेश में फैल रही है। भारत भी इसकी ख्याति से अछूता नहीं रह सका। इस चाय का हल्का और सुगंधित स्वाद है। विशेषज्ञों के मुताबिक बीमार पड़ने पर यह चाय पीना स्वास्थ्यवर्धक होता है।

बेहतरीन एंटीआक्सीडेंट

बेहतरीन एंटीआक्सीडेंट
2/7

रूइबोस चाय न सिर्फ भारत में ख्याति प्राप्त कर रहा है वरन जापान, जर्मनी, हालैंड और इंग्लैंड भी इसके फायदों से अनछुआ नहीं है। आपको जानकर हैरानी होगी कि यह ग्रीन टी के मुकाबले 50 गुना ज्यादा बेहतर है। इसमें एंटीआक्सीडेंट बहुत ज्यादा हैं। यह एंटीआक्सीडेंट सेल्स के स्वास्थ्य को बेहतर करता है। यही नहीं कैंसर सम्बंधित लक्षणों को दूर भगाने में सहायत करता है। यह विटामिन सी का बेहतरीन स्रोत है। इसके अलावा इसमें टेनिन्स कम होता है परिणामस्वरूप पाचनतंत्र प्रणाली सुचारू रूप से काम करता है।

ऊर्जा

ऊर्जा
3/7

जो लोग अस्थमा, एक्जीमा, त्वचा सम्बंधी बीमारी आदि से परेशान हैं, उनके लिए रूइबोस चाय लाभकर है। इसके अलावा जो लोग हाइपरटेंशन के मरीज है, उनके लिए भी यह चाय किसी रामबाण इलाज की तरह है। इतना ही नहीं जिन लोगों की हड्डियां कमजोर है, उन्हें भी इस चाय का सहार लेना चाहिए। कहने का मतलब यह है कि रूइबोस चाय शरीर में ऊर्जा बढ़ाता है जो तमाम किस्म की बीमारियों से निपटने के जरूरी होती है। ऊर्जा के कारण ही हमारा स्वास्थ्य बेहतर होता है और हम कई बीमारियों को पटखनी देने में कामयाब हो जाते हैं। बहरहाल इसके अलावा हृदय सम्बंधी बीमारी, कैंसर के लक्षण आदि में भी रूइबोस चाय कारगर है।

प्रज्वलनरोधी

प्रज्वलनरोधी
4/7

रूइबोस चाय पोलीफेनल्स का बेहतरीन स्रोत हैं साथ ही इसमें एस्पेलेथीन और नोथोफेगिन भी मौजूद हैं। असल में प्रज्वलरोधी तत्व है। असल में ये तत्व शरीर में अस्थायी सेल्स से लड़ने में मदद करता है जो हमारे शरीर को खराब करने के धाबा बोलते हैं। मतलब यह है कि शरीर को ठीक करने के लिए महति भूमिका अदा करते हैं। जैसा कि पहले ही बताया गया है कि इसमें पोलीफेनल्स मौजूद है। यह तत्व हृदय सम्बंधी बीमारी के लिए कारगर है। यही नहीं सामान्यत बुखार में भी रूइबोस चाय बेहतरीन विकल्प है। जिन लोगों को दवाओं से चिढ़ हैं, वे इस चाय का सहारा लेकर बिगड़े स्वास्थ्य को बेहतर कर सकते हैं।

हाइपरटेंशन

हाइपरटेंशन
5/7

हाइपरटेंशन के मरीजों के लिए रूइबोस चाय बेहतरीन विकल्प है। असल में रूइबोस चाय पीने से रक्तचाप को कम किया जा सकता है। हाइपरटेंशन जो कि अकसर रक्तचाप के बढ़ने के कारण होता है। ऐसे में आप खुद ही अंदाजा लगा सकते हैं रक्तचाप सम्बंधी मरीजों के लिए रूइबोस चाय कितनी कारगर है। कहने की जरूरत नहीं है कि मौजूदा समय में हजारों लोगा रक्तचाप सम्बंधी बीमारी से जूझ रहे हैं जो कि हृदय सम्बंधी बीमारी की एक बड़ी वजह है।

हड्डियां और दांत

हड्डियां और दांत
6/7

रूइबोस चाय हड्डियों और दांत को स्वस्थ रखने के लिए उपयोगी है। इसमें कई किस्म के मिनरल पाए जाते हैं जो हड्डियों और दांतों को मजबूत बनाए रखने में मदद करते हैं। रूइबोस चाय में मैंगनीज़, कैल्शियम और फ्लोरीड बहुतायत में पाया जाता है। परिणामस्वरूप रूइबोस चाय पीने से कमजोर हड्डियां, ज्वाइंट्स में दर्द आदि समस्याओं से आसानी से निपटा जा सकता है। यही नहीं मैंगनीज़ होने के कारण हड्डियों को मजबूत बनाने के साथ साथ हड्डियों को रिपेयर करने में भी मदद करता है। फ्लोरिड दांतों के लिए उपयोगी तत्व है। यह तत्व तमाम माउथवाश और पेस्ट में पाया जाता है। अतः आप समझ सकते हैं कि फ्लोरिड की मौजूदगी दांतों के स्वास्थ्य को बेहर कर सकती है।

त्वचा सम्बंधी बीमारी

त्वचा सम्बंधी बीमारी
7/7

जिन लोगों की त्वचा रूखी है या फिर त्वचा में हमेशा संक्रमण की समस्या बनी रहती है, ऐसे लोगों के रूइबोस चाय आवश्यक है। असल में रूइबोस चाय में एल्फा हाइड्रोक्सी एसिड और जिंक होता है। ये दोनों ही पौष्टिक तत्व हमारी त्वचा के लिए बेहतर होते हैं। इससे पिम्पल, मुंहासे, सनबर्न आदि तमामा समस्याओं का खात्मा किया जा सकता है। एल्फा-हाइड्रोक्सी एसिड तमाम सौंदर्य प्रसाधन में इस्तेमाल किये जाते हैं। अतः रूइबोस चाय के जरिये इसका सेवन करना त्वचा के लिए लाभकर है।

Disclaimer