जरूरत से ज्‍यादा प्‍यार आपके रिश्‍ते में घोल सकता है जहर

By:Aditi Singh , Onlymyhealth Editorial Team,Date:Nov 23, 2015
प्यार का रिश्ता विश्वास पर टिका होता है। अगर इसी विश्वास में खोट निकल आये तो असुरक्षा की भावना को पैदा कर देती है। जो रिश्तों में अकसर परेशानी खड़ी कर देती है।
  • 1

    प्यार में अति

    अति कैसी भी उसका अंत बुरा ही होता है। इसलिए भले आप किसी के साथ रिश्तें हो पर वहीं प्यार घुटन का अनुभव देने लगता है। जरूरत से ज्यादा प्यार कई बार रिश्तों के बीच तनाव ला देता है। हम सिर्फ यह समझ बैठते हैं कि हमारा प्यार ही सब कुछ है और यही वह एकमात्र चीज है जो सही है। जो कि गलत होता है।  
    Image Source-Getty

    प्यार में अति
    Loading...
  • 2

    क्यों होती है अति

    किसी भी रिलेशनशिप का मूल विश्वास होता है। जब बार बार किसी व्यक्ति को खुद को प्रूव करने को कहा जायेगा तो उसका झुँझला जाना जायज है। ऐसा बार बार होने पर वो व्यक्ति समझेगा कि वो चाहे कुछ भी कर ले परन्तु अपने पार्टनर का विश्वास नहीं जीत सकता। ये मान लेना उस रिलेशनशिप को कमज़ोर करता है।
    Image Source-Getty

    क्यों होती है अति
  • 3

    विश्वास बनाएं

    प्यार में पजेसिवनेस ना आ पायें इसके जरूरी है कि आपस में विश्वास हो। दोनों पार्टनर कभी भूल करके भी ऐसा कोई काम न करें जिनसे उनका आपस में विश्वास भंग हो। अगर आपका पार्टनर आप पे विश्वास करता है तो ये आपकी मोरल ड्यूटी बनती है कि उनका ये विश्वास न टूटे।
    Image Source-Getty

    विश्वास बनाएं
  • 4

    भावनाओं को आहत

    इस तरह का प्यार कई बार पजेसिवनेस की रूप ले लेता है जहां हम अपने साथी की भावनाओं का ख्याल भी नहीं रखते है। अनजाने में ही उसे चोट पहुंचा देते हैं। प्यार अच्छी चीज है लेकिन हर शख्स को यह याद रहना चाहिए कि वह कुछ भी ऐसा न करे जिससे उसके पार्टनर को तकलीफ हो।
    Image Source-Getty

    भावनाओं को आहत
  • 5

    स्पेस दें

    हर समय पार्टनर के साथ रहने से हो सकता है कि आपका पार्टनर फ्रस्टेट महसूस करे। हर रिश्ते को स्पेस चाहिए होता है। बहुत ज्यादा नजदीकी आपके रिश्ते को खत्म भी कर सकती है। साथी का ओवर पजेसिव रवैया आपके रिश्ते के लिए कितना खतरनाक हो सकता है और रिश्तों पर इस चीज का कितना बुरा प्रभाव पडता है।
    Image Source-Getty

    स्पेस दें
Load More
X
संबंधित जानकारी
  • सभी
  • लेख
  • स्लाइडशो
  • वीडियो
  • प्रश्नोत्तर
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy. OK