मानसून में पेट के संक्रमण से बचने के उपाय

मानसून के वक्‍त वातावरण में मौजूद नमी की वजह से बैक्टीरिया अधिक सक्रिय हो जाते हैं, इस मौसम में पेट का संक्रमण और फूड प्‍वाइजनिंग की संभावना अधिक रहती है, इससे बचाव जरूरी है।

Nachiketa Sharma
Written by: Nachiketa SharmaPublished at: Jul 16, 2014

मानसून और पेट का संक्रमण

मानसून और पेट का संक्रमण
1/9

मानसून गर्मी से राहत दिलाने के लिए आती है साथ ही कई प्रकार की मुश्किलें भी साथ लाती है। मानसून के वक्‍त वातावरण में मौजूद नमी की वजह से बैक्टीरिया अधिक सक्रिय हो जाते हैं। इसलिए मानसून में संक्रमण से होने वाली बीमारियों के होने की आशंका बढ़ जाती हैं। इस समय कॉलरा, टायफाइड, खांसी, निमोनिया, डायरिया, हेपेटाइटिस, टॉंन्सिलाइटिस के साथ-साथ पेट में संक्रमण होने की संभावना अधिक होती है। इसलिए मानसून में पेट के संक्रमण से बचाव करना चाहिए। image source - getty

कड़वी चीजों का सेवन कीजिए

कड़वी चीजों का सेवन कीजिए
2/9

मानसून में पेट के संक्रमण से बचने के लिए कडवी चीजों का सेवन कीजिए। कड़वा स्वाद पित्त को निष्प्रभावित कर देता है। अत: कड़वी सब्जियां जैसे करेला और कड़वी बूटियां जैसे नीम, मेथी और हल्दी अधिक खाएं क्योंकि ये आपको पेट के संक्रमण से बचाते हैं। image source - getty

हरी सब्जियों को धुलें

हरी सब्जियों को धुलें
3/9

मानसून में पेट का संक्रमण खाने से अधिक होता है, इसलिए इस मौसम में कुछ भी खाने से पहले उसे अच्‍छे से धोयें। फल और सब्‍जियों को अच्‍छे धोने के बाद ही प्रयोग कीजिए। image source - getty

उबली सब्‍जियां खाएं

उबली सब्‍जियां खाएं
4/9

इस मौसम में हलके और आसानी से पचने वाले खाद्य पदार्थ, पकी हुई या स्टीम्ड सब्जियां, स्क्वॉश, कद्दू, स्टीम्ड सलाद, फल, मूंग दाल, खिचड़ी, काबुली चने का आटा और ओटमील आदि खाएं। ये आसानी से पच जाते हैं और संक्रमण नहीं करते। image source - getty

बासी न खायें

बासी न खायें
5/9

बासी खाने से भी मानसून में पेट में संक्रमण होता है। बहुत दिनों तक फ्रिज में रखा हुए खाना खाने से बचें। ताजा बना हुआ खाने को ही खायें। image source - getty

साफ-सफाई का ध्‍यान दें

साफ-सफाई का ध्‍यान दें
6/9

मानसून में साफ सफाई पर विशेष ध्यान देना चाहिए। खाना खाने से पहले और बाद में हाथों की सही तरह से सफाई करें। यही नहीं, इन दिनों पानी भी जल्दी दूषित जाता है, जिसकी वजह से डायरिया और आंत से संबंधित बीमारियां ज्‍यादा होती हैं। इसलिए बरसात के शुरू होते ही पानी की साफ-सफाई को लेकर सजग रहें। image source - getty

पानी उबालकर पियें

पानी उबालकर पियें
7/9

मानसून में पानी को उबालकर पियें। अगर बाहर यात्रा पर हैं, तो कहीं का खुला पानी पीने के बजाय बोतलबंद पानी पिएं। image source - getty

ये पेय पदार्थ पियें

ये पेय पदार्थ पियें
8/9

हर्बल या ग्रीन चाय, कॉफी, वेजिटेबल सूप जैसे गर्म पेय पदार्थों का सेवन शरीर को ऊर्जा प्रदान करता है। ये बीमारी फैलाने वाले बैक्टीरिया और वायरस से भी  बचाव करते हैं और शरीर की प्रतिरोधक क्षमता बढ़ाते हैं। image source - getty

बाहर का न खायें

बाहर का न खायें
9/9

मानसून में बाहर का खाना बिलकुल भी न खायें, क्‍योंकि बाहर मिलने वाले खाने में सफाई का ध्‍यान नहीं दिया जाता है और इससे आपके पेट में संक्रमण हो सकता है। इसके अलावा काफी देर पहले कटे फल या सब्जियों को खाने से परहेज करें। गोला, जूस और कुल्फी से दूर रहें, कच्ची सब्जियां या सलाद हरगिज न खायें। image source - getty

Disclaimer