बच्चों की पाचन शक्ति बढ़ाने के 9 आसान उपाय

अगर आपके बच्चे की भी पाचन शक्ति कमजोर है तो यहां जानें इसे बढ़ाने के तरीके के बारे में।

Kunal Mishra
Written by: Kunal MishraPublished at: Jul 13, 2021

बच्चों की पाचन शक्ति बढ़ाने के उपाय

बच्चों की पाचन शक्ति बढ़ाने के उपाय
1/10

बच्चों की इम्यूनिटी बड़ों के मुकाबले कमजोर होती है। इसलिए उनका पाचन तंत्र भी इतना शक्तिशाली नहीं होता है, जिससे कई बार उन्हें खाना पचाने में समस्या होती है या वे उल्टी भी कर देते हैं। छोटे बच्चों में पेट संबंधी समस्याएं होती रहती हैं इसलिए उनका पाचन इतना मजबूत नहीं होता है। हालांकि बच्चों की पाचन शक्ति को कई तरीकों से बढ़ाया जा सकता है। चलिए जानते हैं बच्चों की पाचन शक्ति बढ़ाने के कुछ आसान तरीकों के बारे में।   

हाइड्रेशन

हाइड्रेशन
2/10

बच्चों में डिहाइड्रेशन होने के कारण भी पाचन क्रिया में गड़बड़ी आ सकती है। बच्चे के शरीर में दूध पानी और फ्लूइड्स की कमी नहीं होने देना चाहिए। अगर बच्चे का डाइजेस्टिव सिस्टम खराब है तो सबसे पहले उसे हाइड्रेट करें। बच्चे को रोजाना जरूरत अनुसार पानी पिलाएं। इससे उनका खाना आसानी से पच सकेगा और हाजमा हमेशा दुरुस्त रहेगा।

सॉलिड फूड न खिलाएं

सॉलिड फूड न खिलाएं
3/10

अगर आपका बच्चा अभी बहुत छोटा है और आपने उसे सॉलिड फूड खिलाना शुरू कर दिया है तो इस कारण भी आपके बच्चे का पाचन खराब हो सकता है। WHO के मुताबिक 6 महीने से कम की उम्र के बच्चों को स्तनपान ही करवाना चाहिए। अगर आप उसे सॉलिड फूड दे रहे हैं तो वह उसे पचाने में असमर्थ हो जाएगा और बच्चे का पाचन तंत्र भी धीमा हो सकता है।   

सही पोजिशन

सही पोजिशन
4/10

बच्चे को खाना खिलाते समय पोजिशन का खास ध्यान रखना चाहिए। अक्सर पेरेंट्स बच्चे को अपनी गोद में लेटाकर खाना खिलाते हैं। यह उनकी पाचन क्रिया को प्रभावित कर सकता है। इससे बच्चे को चोकिंग भी हो सकती है। इससे खाना अंदर तक न जाकर वापस मुंह से बाहर आ सकता है यानी बच्चे को उल्टी हो सकती है। इसलिए हमेशा बच्चों को गोद में बैठा कर ही खाना खिलाना चाहिए साथ ही खाना खिलाने के बाद उन्हें कुछ देर के लिए बैठाए रखना चाहिए। इससे बच्चे का पाचन दुरुस्त रहता है।  

बेबी मसाज करें

बेबी मसाज करें
5/10

कई बार बच्चो को कोमल मसाज देकर भी उनकी पाचन क्रिया में सुधार लाया जा सकता है। बच्चे को लेटकर उसके पेट के आस-पास हल्के हाथ से कोमल और प्यार भरी मसाज करें। इससे उनकी शरीर में ब्लड सर्कुलेशन बेहतर होता है और पेट संबंधी समस्याएं कम होती हैं। ऐसा करना बच्चों की हड्डियों के लिए भी फायदेमंद होता है।   

हाई फाइबर फूड खिलाएं

हाई फाइबर फूड खिलाएं
6/10

हाई फाइबर फूड जैसे कि केला, पपीता और अनानास आदि खिलाने से बच्चे के पाचन में काफी सुधार आता है। हाई फाइबर फूड बच्चे का डाइजेस्टिव हेल्थ सुधारते हैं और मल को भारी भरकम बनाते हैं। इससे बच्चों को मल त्यागते समय दर्द या इरीटेशन भी नही होती है। हाई फाइबर फूड से उन्हें पेट के लिए जरूरी पोषक तत् भी मिलते हैं।   

नींबू पानी

नींबू पानी
7/10

बच्चे की पाचन शक्ति बढ़ाने के लिए नींबू पानी एक बहुत अच्छा उपाय है। नींबू पानी विटामिन सी से भरपूर होता है। यह बच्चों को एसिड रिफ्लक्स से भी बचाता है। आप चाहें तो नींबू पानी में थोड़ा शहद मिलाकर भी बच्चे को पिला सकते हैं। इससे उनका पेट साफ होता है और शरीर हाइड्रेट रहती है।   

जीरा पानी

जीरा पानी
8/10

बच्चों को जीरा पानी पिलाने से भी उनका पाचन तंत्र दुरुस्त रहता है। एक चम्मच जीरे को अच्छे से भून लें और उसका पाउडर बना लें। इस जीरा पाउडर को पानी में मिलाएं और बच्चे को पिला दें। इससे उनकी पाचन शक्ति मजबूत होगी। इससे उनके शरीर में एंजाइम्स रिलीज होते हैं जो कि डाइजेशन में सुधार लाते हैं। बच्चों के पाचन को बढ़ाने के लिए यह पर्फेक्ट ड्रिंक है।   

आंवला

आंवला
9/10

आंवला पाचन शक्ति को बढ़ाने में काफी मददगार होता है। यह फाइबर से भरपूर होता है। आंवला में मौजूद विटामिन सी शरीर को सभी न्यूटीरेंट्स एब्जॉर्ब करने में मदद करते हैं। साथ ही इसे खाने से इरीटेबल बॉउल मूवमेंट्स भी ठीक होता है। इसलिए बच्चों को सीमित मात्रा में आंवला खिलाने की कोशिश करें।  

दही

दही
10/10

दही एक फाइबर रिच और प्रोबायोटिक फूड है। इसमें लैक्टोबिलस मौजूद होते हैं, जो पाचन के लिए काफी अच्छे होते हैं। दही पेट के लिए बहुत फायदेमंद आहार है। अगर बच्चा 7 माह से उपर है तो उसे दही खिलाएं। दही में अच्छे बैक्टीरिया मैजूद होते हैं, जो पाचन शक्ति को बढ़ावा देते हैं। इसलिए बच्चे को दही, छांछ जैसे हाई फाइबर फूड दें।  

Disclaimer