ध्‍यान शुरू करने से पहले इन बातों का रखें ध्‍यान

ध्‍यान को तनाव और अन्‍य मानसिक परेशानियों से मुक्ति पाने का आसान जरिया माना जाता है। लेकिन, ध्‍यान लगाने से पहले आपको कुछ जरूरी बातों का ध्‍यान रखना चाहिए। इससे आप ध्‍यान का अधिक से अधिक लाभ हासिल कर पाएंगे।

Pooja Sinha
Written by: Pooja SinhaPublished at: Mar 25, 2014

ध्‍यान करने से पहले की तैयारी

ध्‍यान करने से पहले की तैयारी
1/12

काम, घर और तमाम तरह की जिम्‍मेदारियों के चलते तनाव हमारी जिंदगी का अहम हिस्‍सा बन गया है। तनाव हमारी पारिवारिक, व्‍यावसायिक और सामाजिक जिंदगी पर भी नकारात्‍मक असर डालता है। और ध्‍यान को तनाव और अन्‍य मानसिक परेशानियों से मुक्ति पाने का आसान जरिया माना जाता है। लेकिन, ध्‍यान लगाने से पहले आपको कुछ जरूरी बातों का ध्‍यान रखना चाहिए। इससे आप ध्‍यान का अधिक से अधिक लाभ हासिल कर पाएंगे। Image courtesy : Getty Images

शांत जगह

शांत जगह
2/12

शांत वातावरण ध्‍यान की सबसे पहली जरूरत है। वातावरण शांत और आरामदेह हो, तो ध्‍यान लगाना आसान हो जाता है। वातावरण में शोरगुल होने पर मन को एकाग्र नहीं हो पाता, वहीं शांत वातावरण में भावनाओं को नियंत्रित कर उन्‍हें केंद्रित करना आसान होता है। शांत वातावरण ध्यान के अनुभव को और अधिक आनंदमय और आरामदेह बनाता है। Image courtesy : Getty Images

समय का चुनाव

समय का चुनाव
3/12

यूं तो दिन का कोई भी वक्‍त ध्‍यान के लिए बुरा नहीं। ध्‍यान का मूल लक्ष्‍य मन को शांति प्रदान करना है और यह काम कभी भी किया जा सकता है। लेकिन, सूर्योदय को ध्‍यान के लिए सबसे मुफीद वक्‍त माना जाता है। सुबह-सुबह ध्‍यान करने से आप पूरा दिन ऊर्जावान और शांत महसूस करते हैं। आप काम पर बेहतर ढंग से काम पर अपना ध्‍यान केंद्रित कर सकते हैं। वहीं शाम के समय ध्‍यान करने से आपको दिन भर की थकान और चिंताओं से मुक्ति मिलती है। इसलिए जानकार दिन में दो वक्‍त दस से बीस मिनट तक ध्‍यान लगाने की सलाह देते हैं। Image courtesy : Getty Images

आसन हो सही

आसन हो सही
4/12

ध्‍यान करने के लिए जरूरी है कि आप किसी आरामदेह स्‍थान पर बैठे हों। कुछ लोग जमीन पर आसन बिछाकर बैठते हैं, तो कुछ कुर्सी या सोफे पर ध्‍यान लगाने में सहज महसूस करते हैं। आप अपनी सुविधा के हिसाब से कुछ भी चुन सकते हैं। लेकिन, इस बात का ध्‍यान रखें कि बैठते समय आपकी कमर, कंधे और गर्दन सीधी और आरामदेह स्थिति में हो। ध्‍यान करते समय अपनी आंखों को बंद करके ही बैठना चाहिए। Image courtesy : Getty Images

गहरी सांस लेना

गहरी सांस लेना
5/12

सांसों की गति पर नियंत्रण और लयबद्धता लाना ध्‍यान प्रक्रिया का ही एक हिस्‍सा है। ध्‍यान से पहले गहरी सांस लें और धीरे-धीरे उसे छोड़ें। यह क्रिया आपकी सांसों की गति को स्थिर और लयबद्ध करने में मदद करती है। जैसे-जैसे आप अपनी सांसों की गति को साधने लगते हैं, वैसे-वैसे आपके लिए मानसिक शांति सुलभ होती जाती है। Image courtesy : Getty Images

सुनें और ध्‍यान करें

सुनें और ध्‍यान करें
6/12

जो लोग अभी ध्‍यान की शुरुआत ही कर रहे हैं, ऐसे लोगों के लिए निर्देशित ध्‍यान बहुत अच्‍छा रहता है। इसके लिए आप किसी प्रशिक्षित प्रशिक्षक का सहारा ले सकते हैं या फिर सीडी लगाकर उस पर भी ध्‍यान केंद्रित कर सकते हैं। यानी इस प्रक्रिया में आप आंखें बंद कर केवल निर्देशों को सुनते हुए उनका पालन करते है। एक बार इस प्रक्रिया में सिद्ध होने के बाद आप स्‍वयं ध्‍यान लगा सकते हैं। Image courtesy : Getty Images

कम समय से शुरूआत करें

कम समय से शुरूआत करें
7/12

ध्‍यान में सिद्ध होना बहुत लंबा चरण है। इसमें काफी समय लगता है। ध्‍यान की शुरुआत दस मिनट से करना सही रहता है। शुरुआत में ही अधिक समय ध्‍यान करने की कोशिश करने से आप ऊब भी सकते हैं। जैसे-जैसे आप इसमें सहज होते जाएं, आप ध्‍यान का समय बढ़ा सकते हैं। आप चाहें तो ध्‍यान से पहले कुछ छोटे-छोटे आसन भी कर सकते हैं। ऐसा करने से आपके शरीर में रक्‍त संचार सुचारू होता है और आप मानसिक व शारीरिक रूप से हल्‍का महसूस करते हैं। Image courtesy : Getty Images

खाली पेट ध्‍यान करें

खाली पेट ध्‍यान करें
8/12

पेट अगर अधिक भरा हो, तो ध्‍यान करना मुश्किल हो जाता है। भरे पेट पर ध्‍यान करने से आपको नींद आ सकती है। लेकिन, इसका अर्थ भूखे पेट ध्‍यान करना भी नहीं है। क्‍योंकि जब मस्तिष्‍क को ऊर्जा नहीं मिलेगी, तो वह आपको लगातार भोजन करने का संकेत देता रहेगा। ऐसे में जरूरी है कि आप थोड़ा बहुत, हल्‍का भोजन कर ही ध्‍यान करने बैठें। ध्‍यान से पहले आप एक फल ले सकते हैं। Image courtesy : Getty Images

अपेक्षाओं का प्रबंधन

अपेक्षाओं का प्रबंधन
9/12

नियमित ध्‍यान जीवन भर का कौशल है न कि जल्‍द होने वाला समाधान। ध्‍यान से कुछ लाभ तो आपको जल्‍द ही मिलने लगते हैं। आप स्‍वयं ही कुछ दिनों में स्‍वयं को मानसिक और शारीरिक रूप से अधिक सजग और सहज महसूस करने लगेंगे। आपकी स्‍मरण शक्ति बेहतर होने लगेगी। आप तनाव मुक्‍त होने लगेंगे। लेकिन, इसके अलावा कई ऐसे भी लाभ हैं, जिन्‍हें सामने आने में काफी वक्‍त लग सकता है। लेकिन, जब आपको इसके दीर्घकालिक लाभ के बारे में पता चलेगा, तो आप इसे छोड़ नहीं पाएंगे। Image courtesy : Getty Images

सौम्‍य मुस्‍कान के साथ करें

सौम्‍य मुस्‍कान के साथ करें
10/12

ध्‍यान को बोझ न समझें। मन यदि इसमें नहीं रमेगा, तो ध्‍यान करने का कोई फायदा नहीं। ध्‍यान करते समय चेहरे पर सौम्य मुस्कान लाएं। इससे आप अधिक आराम और शांति महसूस करेंगे। यह आपके ध्यान के अनुभव को बढ़ाता है। आप इसे आजमाकर देखें। ऐसा करने से न केवल आपके लिए ध्‍यान लगाना आसान होगा, बल्कि आपको इसके अधिक लाभ भी महसूस होंगे। साथ ही आपके लिए ध्‍यान रुचिकर हो जाएगा। Image courtesy : Getty Images

Disclaimer