वजन कम करने और ऊर्जा के लिए डिस्टाक्सीफेशन के तरीके

डिटॉक्स आहार योजनायें न केवल वजन कम करने में मदद करती हैं, बल्कि इनसे शरीर की अंदरूनी सफाई भी होती है।

Bharat Malhotra
Written by: Bharat MalhotraPublished at: May 15, 2014

डिटॉक्स डायट

डिटॉक्स डायट
1/11

डिटॉक्स यानी शरीर से विषैले पदार्थों को बाहर करने की प्रक्रिया। इसमें हमारे आहार की महती भूमिका होती है। हाल ही के कुछ बरसों में डिटॉक्स डायट का चलन काफी बढ़ गया है। आजकल, कई नामी-गिरामी हस्तियां डायट प्लान का प्रचार प्रसार करती देखी जा सकती हैं। ये डिटॉक्स आहार योजनायें न केवल वजन कम करने में मदद करती हैं, बल्कि इनसे शरीर की अंदरूनी सफाई भी होती है। डायट प्लान को अपनाना आसान है, लेकिन इससे पहले उसके नफे-नुकसान और इसे अपनाने के सही तरीके के बारे में जानना भी बहुत जरूरी है। image courtesy : getty images

फल खायें

फल खायें
2/11

आपको पर्याप्त मात्रा में फलों का सेवन करना चाहिए। फल शरीर की सफाई के लिए बहुत जरूरी होते हैं। वे आपके शरीर विषैले पदार्थों को बाहर कर कोलन और लिम्फेटिक सिस्टम को सही प्रकार से काम करने में मदद करते हैं। जब आप वजन कम करने का प्रयास कर रहे हों, तो फलों से अच्छा आपका कोई दूसरा दोस्त नहीं हो सकता। image courtesy : getty images

सलाद से करें भोजन की शुरुआत

सलाद से करें भोजन की शुरुआत
3/11

अपने आहार की शुरुआत से पहले अच्छी खासी मात्रा में ग्रीन सलाद का सेवन करें। यह सलाद एंजाइम्स से भरपूर होता है, जो आपकी पाचन क्रिया को सही रखता है। और तो और, ये आपको जरूरी विटामिन, मिनरल, क्लोरफिल और कई अन्य फिटोकेमिकल्स मुहैया कराते हैं। image courtesy : getty images

हेल्थी स्नैकिंग

हेल्थी स्नैकिंग
4/11

अपने शरीर की रक्त शर्करा को स्थिर रखने के लिए आपको भोजन के बीच में हेल्थी स्नैक्स खाने चाहिए। रक्त शर्करा में आने वाला उतार चढ़ाव आपके शारीरिक ऊर्जा के स्तर को कम कर सकता है। इसके साथ ही इसका असर प्रतिरक्षा प्रणाली पर भी पड़ता है। इतना ही नहीं, इससे आपका वजन भी बढ़ सकता है। रक्त शर्करा को नियंत्रित रखने और ऊर्जा का स्तर बनाये रखने के लिए आपको पर्याप्त मात्रा में नट्स, साबुत अनाज का दलिया और स्मूथी आदि का सेवन करना चाहिए। image courtesy : getty images

पर्याप्त मात्रा में पानी पियें

पर्याप्त मात्रा में पानी पियें
5/11

सक्रिय जीवन जीना हो या फिर शरीर की अंदरूनी सफाई करनी हो, आपको पर्याप्त मात्रा में पानी पीना चाहिए। इतना ही नहीं, पर्याप्त मात्रा में पानी पीने से आपको वजन कम करने में भी आसानी होती है। वर्कआउट के दौरान आपके शरीर से काफी मात्रा में पसीना बाहर निकलता है, ऐसे में उसकी भरपाई करने के लिए आपको पानी की जरूरत तो होती ही है। image courtesy : getty images

मिठाई को करें ना

मिठाई को करें ना
6/11

शरीर को डिटॉक्सीफाई करने में लिवर की भूमिका सबसे अहम होती है। यदि आपके आहार में मीठे तत्व की मात्रा ज्यादा है, तो इसका असर लिवर की कार्यक्षमता पर पड़ता है। यदि आप डिटॉक्सीफिकेशन की प्रक्रिया से गुजर रहे हैं, तो चॉकलेट, कुकीज अथवा अन्य मीठे तत्वों से दूर रहें। इससे आपका लिवर अपनी पूरी क्षमता से शरीर की सफाई कर सकेगा। image courtesy : getty images

व्यायाम करें

व्यायाम करें
7/11

न केवल डिटॉक्सीफिकेशन बल्कि सक्रिय जीवन जीने के लिए आपको व्यायाम जरूर करना चाहिए। जब आप फिट होते हैं, तो आपके रक्त  से विषैले पदार्थों को साफ करने वाला लिम्फिक सिस्टम बेहतर काम करता है। डिटॉक्स के दौरान पैदल चलने जैसे कम प्रभावशाली व्यायाम जरूर करते रहें। image courtesy : getty images

स्किन ब्रश

स्किन ब्रश
8/11

जब आपकी त्वचा रूखी हो, तो उस पर नरम ब्रश से मसाज करना अच्छा रहता है। इससे शरीर के टॉक्सिन दूर होते हैं। ऐसे करने से आपका लिम्फेटिक सिस्टम बेहतर काम करता है और साथ ही शरीर की अन्य ग्रंथियों पर भी सकारात्मक प्रभाव पड़ता है। इससे डिटॉक्सीफिकेशन की प्रक्रिया को रफ्तार मिलती है। image courtesy : getty images

नींबू पानी पियें

नींबू पानी पियें
9/11

इसमें मौजूद विटामिन सी इसे कुदरती मूत्रवर्धक बनाता है। रोजाना तीस से चार गिलास नींबू पानी पीना आपके शरीर से विषैले पदार्थों को दूर कर शरीर की अंदरूनी सफाई में मदद करता है। इसके साथ ही नींबू पानी वजन घटाने में भी सहायक होता है। image courtesy : getty images

योजना बनायें

योजना बनायें
10/11

अपनी जरूरत के हिसाब से अपने डिटॉक्स प्लान में बदलाव करें। वजन कम करना एक छोटा लक्ष्य हो सकता है।  लेकिन वास्तविक और दीर्घकालिक लक्ष्य अपने स्वास्थ्य को बेहतर बनाना और सही वजन बनाये रखना ही होना चाहिए। यदि आप दोबारा पुरानी आदतों पर लौट जाते हैं, तो डिटॉक्सीफिकेशन का कोई फायदा नहीं। image courtesy : getty images

Disclaimer