पार्टनर को पीएमएस होने पर आपको करनी चाहिए ये चीज़ें

पीएमएस के दौरान महिला को कई समस्याओं से होकर गुज़रना पड़ता है, और ऐसे में आपका फर्ज बनता है कि आप उसकी देखभाल करें और कुछ बातों को खास खयाल रखें। उन बातों के बारे में यहां जानें।

Rahul Sharma
Written by: Rahul SharmaPublished at: Jun 07, 2016

पीएमएस और पार्टनर

पीएमएस और पार्टनर
1/5

पीएमएस (PMS) अर्थात प्रीमेंस्ट्रुअल सिंड्रोम महिलाओं के साथ होने वाली एक प्राकृतिक प्रक्रिया है जिससे हर महिला को गुजरना होता है। इस दौरान महिला को कई समस्याओं से रूबरू होना पड़ता है। ऐसे में आपका फर्ज बनता है कि आप उसकी देखभाल करें और कुछ बातों को खास खयाल रखें। पीरियड्स के दौरान आमतौर पर महिलाओं में चिड़चिड़ापन, तनाव, थकान, दर्द, मूड में परिर्वतन आदि लक्षण होते हैं। इस दौरान मूड में भी अजीव बदलाव होते हैं। इसलिए आज हम आपको कुछ ऐसे टिप्‍स दे रहे हैं, जो पीएमएस के दौरान आपको अपनी साथी का खयाल रखने में मदद करेंगे।  Images source : © Getty Images

उस स्थिति को समझें

उस स्थिति को समझें
2/5

एक बार उसकी जगह खुद को रख कर ये सोचें कि डायरिया या कोई पेट की संक्रमण होने पर मरोड़ से कैसे जान निकल जाती है। सोचिए महिलाएं तो हर महिने इस पीड़ा को सहती हैं। तो ध्यान रखें कि इस दौरान जब वह आपसे अपनी समस्‍या के बारे में बातें करे, तो उसे सुनिये और समझने की कोशिश कीजिये कि उसे कैसा महसूस हो रहा है। उसे दिलासा दीजिए कि वो जल्द ठीक हो जाएंगी और आप हमेशा उनके साथ हैं।  Images source : © Getty Images

काम में उसका हाथ बटांए

काम में उसका हाथ बटांए
3/5

पीएमएस के समय क्योंकि आपकी साथी पीड़ा में होती है, उसका काम काज में होथ बटाएं। रोज़मर्रा के काम जैसे, कपड़े धोना, बरतन साफ करना, खाना बनाना या साफ-सफाई आदि में उसकी पूरी मदद करें और हो सके तो इन दो से तीन दिनों के दौरान उसे रैस्ट दें। खुद से पहल करें, उसके आपसे कहने का इंतजार ना करें। इस समय उसे काम करने के मजबूर न करें और थोड़ा प्यार जताएं। Images source : © Getty Images

मूड स्विंग का सामना करने के लिए तैयार हो जाएं

 मूड स्विंग का सामना करने के लिए तैयार हो जाएं
4/5

उन्हें इस दौरान मूड स्विंग ज़रूर होंगे, वो चिड़चिड़ेपन का शिकार होंगी और आप पर गुस्सा भी करेंगी, लेकिन ध्यान रहे कि उनके पीरियड्स हो रहें हैं, जिसकी वजह से उनका मूड खराब है और वो झुंझला रही हैं। तो गुस्से का जवाब गुस्से में न देकर उनको शांत करें और सथिति ठीक होने का इंतज़ार करें। यह भी हो सकता है कि वो ऐसे में आपसे छोटी छोटी बातों पर झगड़ा या बहस करे। लेकिन आपको बस ये ध्यान रखना है कि यह एक छोटा सा पड़ाव है, जो केवल चंद  दिनों तक रहेगा और फिर पल गुजर जाएगा।Images source : © Getty Images

उनका ध्यान रखें

उनका ध्यान रखें
5/5

इस दौरान आपको उनके साथ धैर्य रखने की सख्त ज़रूरत होती है। हो सकता है कि आपकी पार्टनर इस दौरान बहुत बुरी बन जाती हो, लेकिन अगर आप उसके साथ धैर्य बनाए रखेंगे तो, पाएमएस गुज़र जाने पर वह आपको पहले जितना प्‍यार तथा सम्‍मान देगी। ध्यार रखें कि उसे इस दौरान ज्‍यादा गुस्‍सा ना दिलाएं पीरियड्स की वजह से उसका पहले से ही मूड खराब है और ऊपर से आप उससे और गुस्‍सा दिलाएंगे तो, ना ही आप चैन से जी पाएंगे और ना ही वो।

Disclaimer