खुशहाल जिंदगी के लिए कुछ बदलाव हैं जरूरी

जिंदगी को खुशहाल और तनाव से बचाने के लिए जरूरी है कि इसमें कुछ बदलाव किये जायें, जीवन के हर पहलू को समझकर संतुष्‍ट रहना सीखें और सकारात्‍मक सोच को बनाये रखें।

Nachiketa Sharma
Written by: Nachiketa SharmaPublished at: Jul 07, 2014

जियें खुशहाल जिंदगी

जियें खुशहाल जिंदगी
1/8

कहते हैं कि जिंदगी तभी खुशहाल होगी जब आपके जीने का नजरिया सकारात्‍मक होगा। लोग यही सोचते हैं कि क्‍या जीवन का हर पल एक जैसा हो सकता है, बिलकुल भी नहीं। अगर आपकी जिंदगी में उथल-पुथल है तो अधिक घबराने की बजाय इसमें थोड़ा सा बदलाव लायें। बदलाव जिंदगी का सबसे अहम हिस्‍सा है, इसे स्‍वीकार करना ही बेहतर होगा। तो अपनी जिंदगी को खुशहाल बनाने के लिए कुछ बातों को स्‍वीकार करें और कुछ को अपनी जिंदगी से हटायें। image source - getty

संतुष्‍ट रहना सीखें

संतुष्‍ट रहना सीखें
2/8

अगर आप सही तरीके से और सच्‍चे दिल से मेहनत कर रहे हैं तो जा‍हिर सी बात है तरक्‍की भी करेंगे। लेकिन अपने निर्धारित गोल यानी संतुष्टि पाने के बाद अधिक लालसा न करें। परंतु वास्‍तविकता यह है कि तरक्‍की के साथ-साथ व्‍यक्ति की इच्‍छायें भी बढ़ने लगती हैं। लेकिन खुशहाल जीवन का सबसे बड़ा मंत्र यही है कि जो भी मिले उसमें खुद को संतुष्‍ट रखना सीखिये। हर बार अधिक पाने की लालसा बिलकुल भी न रखें। image source - getty

झूठ का सहारा न लें

झूठ का सहारा न लें
3/8

लोग मानते हैं कि इस समाज में सफल होने के लिए झूठ बोलना ही पड़ता है। झूठ का सहारा लेकर आप थोड़ा आगे बढ़ सकते हैं, लेकिन जैसे ही लोगों के सामने आपकी सच्‍चाई आयेगी लोगों का भरोसा आप पर से उठ जायेगा। इसके अलावा झूठ बोल-बोलकर आप स्वयं भी झूठे बन जाते हैं। झूठ बोलने से मन में हमेशा उलझन रहती है और यह तनाव का कारण भी बन सकता है। image source - getty

अधिक पैसे की लालसा न रखें

अधिक पैसे की लालसा न रखें
4/8

भले ही पैसे से सब कुछ खरीदा जा सकता हो, लेकिन इस पैसे से आप अपने लिए एक खुशहाल जिंदगी नहीं खरीद सकते हैं। इसलिए अधिक पैसे की लालच बिलकुल न रखें, कम में ही गुजारा करने की कोशिश कीजिए। इतना पैसा इकट्ठा कीजिए जिससे आपका गुजर-बसर हो सके और आपको सामान्‍य जरूरत की चीजों की कमी न हो। image source - getty

जीवन में संतुलन बनायें

जीवन में संतुलन बनायें
5/8

उलझनें और समस्‍यायें जिंदगी को पेचीदा बना देती हैं, इसमें संतुलन बनाये रखना बहुत जरूरी है। संतुलन बनाये रखने का सबसे आसान तरीका है निर्णय लेना सीखें। एक काम में फंसे हैं तो उसे निपटाने के बाद ही दूसरे काम में हा‍थ डालें, इससे आपकी उलझन कम होगी साथ ही आपका जीवन संतुलित होगा। इसके अलावा काम और परिवार के बीच भी संतुलन बनाये रखें। image source - getty

सुनने की आदत डालें

सुनने की आदत डालें
6/8

अपने विचारों और अपनी भावनाओं को आप लोगों के सामने रखते हैं, ये आपकी अच्‍छी आदत हो सकती है। लेकिन दूसरे लोगों की भावनाओं और उनके विचारों को सुनने की आदत भी डालें। हो सकता है आपके सामने वाला ऐसी बात कर जाये जिसमें आपकी सभी समस्‍याओं को हल हो। इसलिए वक्‍ता के साथ-साथ अच्‍छे स्रोता भी बनें। image source - getty

रिश्‍तों में विश्‍वास रखें

रिश्‍तों में विश्‍वास रखें
7/8

किसी भी रिश्‍ते की सबसे बड़ी खासियत या यूं कहें कि किसी भी रिश्‍ते की सबसे मजबूत दीवार विश्‍वास होता है। अगर आपके संबंधों में विश्‍वास है तो दरार पड़ने की संभावना न के बराबर होगी, लेकिन जैसे ही आपका विश्‍वास डगमगायेगा रिश्‍ते कमजोर होते जायेंगे। इसलिए विश्‍वास बनाये रखें। image source - getty

सकारात्‍मक सोच रखें

सकारात्‍मक सोच रखें
8/8

व्‍यक्ति के मन में हर तरह के विचार आते हैं। अब प्रश्न यह उठता है कि हम किस प्रकार से अपने मन में सिर्फ सकारात्मक सोच रखें। हर व्यक्ति  की जिंदगी में समस्याएं आती हैं। यहीं आकर अक्सर आदमी घबराकर सकारात्मक सोच से दूरी बना लेते हैं। वस्तुतः सकारात्मक सोच जिंदगी को कठिन परिस्थिति में भी सहज बना देती है। सकारात्‍मक सोच के लिए जरूरी है मन में दृढ़ संकलप रखें। image source - getty

Disclaimer