ये दर्द सिर्फ अजीब समय पर काम करने वाले ही समझते हैं

वे लोग जो छुट्टी के दिन या ऑड आवर्स में काम करते हैं, उनका दर्द और परेशानी सिर्फ ऐसे समय में काम करने वाले ही समझ सकते हैं।

Rahul Sharma
Written by: Rahul SharmaPublished at: Jun 05, 2014

ऑड आवर्स में काम

ऑड आवर्स में काम
1/10

क्या आपने कभी सोचा है कि अगर आपको संडे के दिन दफ्तर में काम करना पड़े और आपके सारे साथी आपको पार्टी और आउटिंग के लिए फोन कर रहे हों तो आपके दिल पर क्या बीतेगी? जी हां ये ऐसा दर्द है जो सिर्फ अजीब समय पर काम करने वाले लोग ही समझ सकते हैं। तो चलिये जानते हैं कि क्या हैं ऑड आवर्स में काम करने के दर्द।  courtesy: © Thinkstock photos/ Getty Images

आज सिर्फ आप कर रहे हैं काम

आज सिर्फ आप कर रहे हैं काम
2/10

जब छुट्टी वाले दिन आप काम कर दफ्तर से बाहर निकलते हैं तो लगभग सभी पार्टी कर घर लौट चुके होते हैं और आपके साथ जाने के लिए कोई नहीं होता है। वाकई लगातार कई हफ्तों तक ऐसा होने पर आपको बहुत बुरा लगेगा। courtesy: © Thinkstock photos/ Getty Images

जब कोई वीकएंड वीश करे तो

जब कोई वीकएंड वीश करे तो
3/10

जब आप दफ्तर में काम करते समय फेसबुक या ट्विटर पर अपने दोस्तों को वीकएंड विश पोस्ट देखते हैं और उसके वीकएंड प्लान के बारे में रोचक तैयारी और उत्साह देखते हैं तो मन करता है कि तुरंत ही ऑफ लाइन हो जाएं।courtesy: © Thinkstock photos/ Getty Images

आई हेट फ्राइडे सोंग्स

आई हेट फ्राइडे सोंग्स
4/10

वीक ऑफ के दिनों काम करने वाले लोगों को जब कभी कोई फ्राइडे मस्ति या वाकऑफ पार्टी गीत सुनाई देता है तो वे अन्य लोगों से उलट रोने जैसा महसूस करते हैं। क्योंकि ये दिन केवल और लोगों के लिए ही मजेदार होता है।  courtesy: © Thinkstock photos/ Getty Images

रात को शोपिंग

रात को शोपिंग
5/10

ऑड आवर्स और दिनों में काम करने वाले लोग जब रात को 2 बजे ग्रोसरी का समान लनें 24 घंटे खुलने वाले स्टोर में जाते हैं तो उनका दर्द वो ही समझ सकते हैं। courtesy: © Thinkstock photos/ Getty Images

आंखों के नीचे काले घेरे

आंखों के नीचे काले घेरे
6/10

अक्सर सामान्य साइकिल से हटकर काम करने वाले लोगों को तनाव और नींद पूरी ना हो पाने की शिकायद होती है, जिस कारण अनकी आंखों के नीचे काले घेरे भी बन जाते हैं। ये काले घेरे समस्या को और ज्यादा बढ़ा देते हैं। courtesy: © Thinkstock photos/ Getty Images

बार-बार वीकएंड बधाइयां

बार-बार वीकएंड बधाइयां
7/10

वाकई जब आपको शनिवार और रविवार काम करना होता है और आपके सहकर्मी या कोई अन्य इंसान आपको शुक्रवार के दिन जाते हुए बार-बार खुश होकर वीकएंड विश करता है तो तन-बदन में आग सी लग जाती है।   courtesy: © Thinkstock photos/ Getty Images

आपके पीछे की गॉसिप

आपके पीछे की गॉसिप
8/10

जब आप अन्य लोगों से उलट रात की शिफ्ट में या वीकऑफ में काम करते हैं तो आपके पीछे क्या गॉसिप हुई हैं, इसका आपको कोई अंदाजा नहीं होता है। जो आपको बेहद परेशान करता है। courtesy: © Thinkstock photos/ Getty Images

उत्सव ना मना पाने का दुख

उत्सव ना मना पाने का दुख
9/10

ऑड आवर्स में काम करने से आप ना सिर्फ दफ्तर की पार्टियों में सम्मिलित हो पाते बल्कि घर में हो रहे उत्सवों और परिवार जनों की खुशी में भी शामिल नहीं हो पाते हैं। है ना ये बेहद दुखदायक?     courtesy: © Thinkstock photos/ Getty Images

जब लोग आपकी परेशानी नहीं समझते

जब लोग आपकी परेशानी नहीं समझते
10/10

जब आपके दोस्त आपको अपनी जन्मदिन की पार्टी में बुलाता है और आपके ना आ पाने के कारण को समझने को राजी नहीं होता तो आपको लगता है कि या तो आप उसके गाल पर एक तमाचा रख दें, या अपने बॉस के।  courtesy: © Thinkstock photos/ Getty Images

Disclaimer