ये हैं बच्‍चों की भूख बढ़ाने वाले योगासन

बच्चे अक्सर खाने में काफी ना-नुकुर करते हैं। अगर आपका बच्चा भी खाने से दूर भागता है तो उन्हें ये तीन योगासन कराइए। ये योगासन बच्चों की भूख बढ़ाने में कारगर है।

Gayatree Verma
Written by: Gayatree Verma Published at: Aug 12, 2016

बच्चों में भूख

बच्चों में भूख
1/5

अनिता अपने पांच साल के रिशु से काफी पेरशान है। वो कुछ खाता ही नहीं। अनिता ने अपनी ये परेशानी अपने पारिवारिक डॉक्टर को बताई। डॉक्टर ने उसे टॉनिक देने के बजाय ये तीन योगासन करने की सलाह दी। बच्चों में खाना ना खाने की समस्या अक्सर होती है। अक्सर बच्चे खाना खाने में नखड़े करते हैं। इस कारण बच्चों का उचित विकास नहीं हो पाता। अगर आपका भी बच्चा खाने में नखड़ा करता है तो उनसे ये तीन योगासन करवाइए। ये तीन योगासन बच्चों की भूख बढ़ाने में काफी कारगर हैं।

बड़ों की भी बढ़ाए भूख

बड़ों की भी बढ़ाए भूख
2/5

अगर कोई बड़ा भी आपके घर में भूख-संबंधी समस्या से ग्रस्त है तो इन तीन योगासन में से कोई भी एक योगासन करके अपनी भूख बढ़ा सकता है। इन योगासनों को रोजाना 15 मिनट करें। साथ ही ये योगासन हेल्दी खाने और जंक फुड छोड़ने के लिए भी प्रेरित करते हैं। आइए इस स्लाइडशो में भूख सम्‍बंधी समस्‍याओं को दूर करने वाले योगा के बारे में विस्तार से जानें।

चिन्‍मय मुद्रा

चिन्‍मय मुद्रा
3/5

योगासन की शुरुआत सबसे आसान मुद्रा से करते हैं। ये है चिन्मय मुद्रा। चिन्मय मुद्रा सबसे आसान मुद्रा है और इसे काफी आसान तरीके से किया जा सकता है। यह मुद्रा शरीर में ऊर्जा का संचार करती है और पाचन तंत्र को दुरूस्‍त करती है जिससे बच्चों को भूख लगना शुरू हो जाती है। इसे ऐसे करें- सबसे पहले अपनी आंखों को बंद करके जमान पर आराम से सुखासन की स्थिति में बैठ जाएं।  अब अपने हाथों को जांघों पर रखें और हथेली को खोलें। अब अंगुठे और तर्जनी उंगुलियों को आपस में थोड़ा दबाव डालकर जोड़ें और बाकी की उंगुलियों को ज्ञान की मुद्रा में रखें।इस स्थिति में गहरी सांस लेते हुए दो से तीन मिनट तक रहें। इस प्रक्रिया को पांच बार दोहराएं।

तितली योगासन

तितली योगासन
4/5

इस योगासन को भूख बढ़ाने के लिए रामबाण इलाज माना जाता है। इसे करने से कब्ज की समस्या भी दूर हो जाती है और पाचन तंत्र सही तरीके से काम करता है। इसे करने से शरीर में लचीलापन भी आता है और शरीर फ्लेक्सिबल बनता है। इसे ऐसे करें- सबसे पहले जमीन पर दरी बिछाएं और उस पर बैठें। अपनी पीठ को पूरी तरह से सीधा रखें और पैरों को मोड़ लें। अब दोनों पैरों के तलवों को आपस में जोड़ें। अब अपने हाथों से पंजों को पकड़ें और पैरों को ऊपर-नीचे हिलाएं।

खरगोश आसन

खरगोश आसन
5/5

इस आसन को शशांक आसन या खरगोश आसन भी कहते हैं। यह आसन तनाव व चिंता दूर करने में मदद करता है और खाने के लिए मन को प्रेरित करता है। इससे पाचन तंत्र दुरूस्‍त होता है और पेट की आंतरिक समस्याएं व बीमारियां दूर होती हैं। इसे ऐसे करें- शशांक आसन करने के लिए जमीन पर दरी बिछाकर बच्चे को दरी पर घुटने पर बैठने के लिए कहें।  अब दोनों पैरों को घुटनों से मोड़कर पीछे की ओर हिप्स को नीचे रखें और एड़ियों पर बैठ जाएं। अब सांस लेते हुए दोनों हाथों को ऊपर करें। फिर धीरे-धीरे सांस छोड़ते हुए आगे की ओर झुकें और सर व हाथों को जमीन पर टिका दें। आसन की इस स्थिति में सांस को छोड़ कर रखें और कुछ समय तक ऐसे ही रहें। फिर सांस लेते हुए शरीर में लचक लाते हुए उठें और सामने की और हाथों को फैला कर रखेँ। इस स्थिति में ऐसे ही रहें।इस क्रिया को दोबारा करें। ऐसा चार से पांच बार अपने बच्चे से करवाएं और खुद भी करें।

Disclaimer