करें ये अच्छे काम तो दिल को मिलेगा सुकून!

हम रोजाना बहुत से काम करते हैं, लेकिन ये वो काम होते हैं जिनके पीछे कोई न कोई स्वार्थी उद्देश्य या जरूरत होती है। लेकिन कुछ काम ऐसे भी होते हैं जो आप अपने दिल के सुकून के लिए कर सकते हैं।

Rahul Sharma
Written by: Rahul SharmaPublished at: Jan 16, 2015

खुशी बांटने से बढ़ती है

खुशी बांटने से बढ़ती है
1/8

हम रोजाना बहुत से काम करते हैं, लेकिन ये वो काम होते हैं जिनके पीछे कोई न कोई स्वार्थी उद्देश्य या जरूरत होती है। जैसे बेहतर करियर के लिए रोज ऑफिस का काम करना, अच्छे अंक प्राप्त करने के लिए पढ़ाई करना, किसी प्रतियोगिता में फर्स्ट आने के लिए जी-जान लगा देना, मनोरंजन के लिए फिल्म देखना, लेकिन क्या हम कोई काम दिल के सुकून के लिए भी करते हैं? आइये जानते हैं कि कौन से ऐसे 8 काम है जो आप अपने दिल के सुकून के लिए कर सकते हैं।Images courtesy: © Getty Images

किसी अजनबी की मदद करना

 किसी अजनबी की मदद करना
2/8

मदद तो आप अक्सर करते रहते होंगे, लेकिन किसकी? अपने परिवार के सदस्यों, सगे संबंधियों और दोस्तों की? जी नहीं। वो तो आपका फर्ज होता है। हम यहां बात कर रहे हैं किसी अजनबी की मदद करने की। फर्ज कीजिए, आपने कोई टैक्सी की और देखा कि उसमें किसी के कुछ जरूरी दस्तावेज गिर गए हैं। उन दस्तावेजों को उस अजनबी इंसान तक पहुंचाइये। उस इंसान के परेशान चेहरे पर अचानक वापस आती मुस्कुराहट को देखकर आपके दिल को जो सुकून मिलेगा, वो शब्दों से परे है!Images courtesy: © Getty Images

दोस्त के बुरे वक्त में उसका साथ देना

दोस्त के बुरे वक्त में उसका साथ देना
3/8

कई बार इंसान के ऊपर इतना बुरा वक्त बीतता है कि उसे तसल्ली और अपनेपन की बहुत जरूरत होती है। किसी ऐसे इंसान के साथ उसके बुरे वक्त में साथ खड़े होना आपके दिल को सुकून देगा। जैसे कि आपके दोस्त का डिवोर्स होना। इस दौरान आप उसके साथ खड़े रहें, और उसे इमोशनल सपोर्ट दें।Images courtesy: © Getty Images

माता-पिता की सेवा करना

माता-पिता की सेवा करना
4/8

ज़िंदगी की भागदौड़ में अक्सर हम उन लोगों को ऊपर ध्यान ही नहीं दे पाते जो हमें इस दुनिया में लेकर आएं। हमारे माता-पिता को हमसे प्यार और इज्जत के अलावा कुछ नहीं चाहिए होता। अपने माता-पिता की इस इच्छा को पूरा करके देखिये, आपके दिल को कितना सुकून मिलता है...Images courtesy: © Getty Images

अपनी से छोटों को इज्जत देना

अपनी से छोटों को इज्जत देना
5/8

चाहे उम्र में हो, हैसियत में या फिर ओहदे में, हम अक्सर अपने से छोटे लोगों को इज्जत देने की जरूरत नहीं समझते। उनकी मजबूरी होती है इसलिए वो आपका ये बर्ताव झेल लेते हैं। कभी ऐसे लोगों को इज्जत देकर देखिये, उनके काम को, उनकी उम्र को या फिर उनकी हैसियत को अनदेखा कर, उनकी शख्सियत को अहमियत देनी चाहिए। ऐसा करने से उनको जो खुशी मिलेगी वो तो है ही, आपके दिल को जो सुकून मिलेगा वो अलग।Images courtesy: © Getty Images

कहने की बजाय सुनना

कहने की बजाय सुनना
6/8

अपनी बातें बताना सबको अच्छा लगता है। लेकिन अगर सभी अपनी बातें बताने लग जाएंगे तो फिर सुनेगा कौन? कोशिश करें कि लोगों की बातों को तसल्ली से सुनें। जब आप लोगों को सुनेंगे तो वो बहुत अच्छा महसूस करेंगे। इस तरह से आप लोगों से करीबी भी बना सकते हैं। इसलिए दिल के सुकून के लिए, किसी शख्स की बातें सुनें।Images courtesy: © Getty Images

चैरिटी करना

चैरिटी करना
7/8

हर न्यू ईयर पर हम पार्टी में सैकड़ों-हजारों रुपये उड़ा देते हैं। क्यों न इस बार न्यू ईयर पार्टी या पिकनिक ऐसा हो कि कम खर्चे में ही अपने साथ-साथ दूसरे जरूरतमंदों के लिए भी कुछ खुशियां समेट ली जायें! क्या नए साल के एक दिन के कुछ घंटे भी हम मानवता की खातिर अपने समाज के वंचितों और शोषितों के लिए समर्पित नहीं कर सकते। करके देखें सुकून मिलता है। Images courtesy: © Getty Images

रक्त दान, महा दान

रक्त दान, महा दान
8/8

रक्त दान करना मानो किसी को जीवन प्रदान करना है। दुनिया में लोगों ने खुद की सहुलियत के हिसाब से अलग-अलग रूप रंगों और मडहबों तो बांट लिया, लेकिन एक चीज़ ऐसी है जिसे वो अलग नहीं कर पाए। और वो है खून का रंग। रक्त दान करने से न सिर्फ मानवता के सबसे बड़े धर्म होने की बात ज़ाहिर होती है बल्कि बेहद खुशी भी होती है।  Images courtesy: © Getty Images

Disclaimer