सावधान, इन खाने की चीजों से हो सकता है सोरायसिस

कुछ आहार ऐसे भी हैं जिनके सेवन से सोरायसिस होने की संभावना बढ़ जाती है, इस स्लाइडशो में उन आहारों के बारे में जानते हैं।

Devendra Tiwari
Written by: Devendra Tiwari Published at: Sep 05, 2016

आहार और सोरायसिस

आहार और सोरायसिस
1/6

सोरायसिस एक प्रकार का त्वचा रोग है। हालांकि अभी तक इस बात की पुष्टि नहीं हुई है कि आहार और सोरायसिस के बीच में किसी प्रकार का संबंध है। लेकिन कुछ लोगों में यह शिकायत है कि जब भी वे कुछ अलग खाते या पीते हैं तब उनकी त्वचा पर सोरायसिस के लक्षण दिखाई देने लगते हैं। सोरायसिस के मरीज उन आहारों का सेवन करते हैं तब स्थिति और बदतर हो जाती है। इस स्लाइडशो में हम आपको बता रहे हैं कि किन आहारों के सेवन से सोरायसिस हो सकता है।

अल्कोहल के कारण

अल्कोहल के कारण
2/6

शराब के सेवन को किसी भी प्रकार से स्वास्य के लिए सही नहीं ठहराया जा सकता है। सोरायसिस के मरीजों को तो कतई शराब नहीं पीना चाहिए। दरअलस शराब के सेवन से त्वचा की रक्त वाहिकायें खुल जाती हैं। जब रक्त वाहिकायें सफेद रक्त कणिकायें और टी सेल्स मिलते हैं तब सोरायसिस होता है। और शराब के सेवन से इनके मिलने की प्रक्रिया आसान हो जाती है।

जंक फूड से

जंक फूड से
3/6

जंक फूड के अधिक सेवन से कई प्रकार की बीमारियां होती हैं और सोरायसिस भी इनमें से एक है। दरअसल जंक फूड में सैचुरेटेड और ट्रांस फैट के अलावा स्टार्च और शुगर भी होता है जो कि सोरायसिस का कारण बनता है। इसके अलावा जंक फूड में अधिक मात्रा में कैलोरी होती है जिससे वजन बढ़ता है। अगर किसी को सोरायसिस है और वह जंक फूड का सेवन करे तो स्थिति बदतर होने के साथ दिल की बीमारियां बढ़ने का खतरा भी अधिक रहता है।

डेयरी उत्पाद

डेयरी उत्पाद
4/6

शाकाहारियों के लिए डेयरी उत्पाद प्रोटीन और कैल्सियम का सबसे प्रमुख स्रोत है। लेकिन डेयरी उत्पाद खासकर गाय के दूध के अधिक सेवन से सोरायसिस हो सकता है। गाय के दूध में एरेकिडोनिक एसिड (arachidonic acid) होता है, जो कि सोरायसिस के लिए जिम्‍मेदार कारकों में से एक है।

ग्लूटेन युक्त आहार

ग्लूटेन युक्त आहार
5/6

ग्लूटेन एक प्रकार का प्रोटीन है जो कि गेहूं, जौ और राई में पाया जाता है। पुर्तगाल में हुए एक शोध में यह साबि‍त हुआ कि इनके सेवन से सोरायसिस होता है। इस शोध में सोरायसिस के मरीजों को इनसे दूर रखा गया है परिणाम सकारात्मक दिखा। इसलिए अगर इनके सेवन से आपकी त्वचा में बदलाव होता है तो इनके सेवन से बचें।

ये आहार भी हैं

ये आहार भी हैं
6/6

इनके अलावा रेड मीट के सेवन से भी सोरायसिस होता है। रेड मीट में पॉलीअनसैचुरेटेड फैट (polyunsaturated fat) होता है। इसके अलावा साइट्रस फूड जैसे – संतरा, नींबू, आदि से भी सोरायसिस हो सकता है। इसके अलावा कुछ तरह के सॉस और मसालों से भी यह त्वचा रोग हो सकता है, इनका ध्यान रखें। इसलिए जब भी कुछ खाने के बाद आपकी त्वचा में किसी प्रकार की समस्या दिखे तो एक बार त्वचा रोग विशेषज्ञ से उसके बारे में सलाह जरूर करें। Image Source : Getty

Disclaimer